पतंजलि में नामर्दी की दवा | ज्यादा देर तक करें संभोग

अगर हम नामर्दी और  स्तंभन दोष ऐसी समस्याओं की बात करें तो ऐसी समस्या पूरे विश्व में बहुत ही ज्यादा संख्या में देखने को मिल रही हैं। आपके लगातार गलत खानपान और असंतुलित जीवन शैली के कारण ही ऐसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं। शरीर में  पोषक तत्वों की कमी या फिर बचपन में की  कोई गलती के कारण आपके अंदर शारीरिक दुर्बलता जन्म ले लेती है जिस कारण आपको बहुत ही शर्मिंदगी और आत्मविश्वास की कमी का सामना करना पड़ता है।  हमारे शरीर में बहुत से ऐसे कारण होते हैं जिससे कि शरीर में नशे बहुत ही ज्यादा सकरी हो जाती हैं और शरीर के हर अंग तक पूर्ण रूप से रक्त का संचार नहीं होता है जिस कारण नामर्दी  और स्तंभन दोष  जैसी समस्या जन्म लेने लगती हैं आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्यूंकी पतंजलि में नामर्दी की दवा उपलब्ध है जिसका इस्तेमाल करके आप अपनी इस समस्या को दूर कर सकतें हैं| 

पतंजलि में नामर्दी की दवा

शरीर में मौजूद पतली नसों के कारण आपके लिंग में  पूर्ण रूप से रक्त का प्रवाह नहीं होता है जिस कारण आपके संभोग शक्ति में भी रुकावट पैदा होने लगती है और लिंग में रक्त का प्रवाह न होने के कारण  आपको इलेक्शन प्राप्त नहीं होता है जिससे आपके अंदर नामर्दी की समस्या उत्पन्न हो जाती है| बहुत ज्यादा लंबे समय से डायबिटीज या फिर हृदय संबंधी रोग से ग्रसित होने के कारण भी आपके अंदर ना तो जनता की समस्या जन्म ले सकती है| बहुत से पुरुषों के अंदर पित्त की थैली में कैंसर के उपचार के वक्त उनकी प्रोस्टेट ग्रंथि को बाहर निकाल दिया जाता है जिससे वह नपुसंकता के शिकार हो जाते हैं| बहुत ही ज्यादा क्षमता वाली दवाओं के लगातार सेवन से भी आपके अंदर  नपुसंकता जैसी समस्या ले लेती है। 

Table of Contents

पुरुषों में नामर्दी के प्रमुख कारण 

 बहुत से शोध और वैज्ञानिकों के द्वारा यह बताया गया है कि यह आपका शरीर है और इसमें किसी भी समस्या के लिए आप जिम्मेदार है और अगर आपके शरीर में किसी भी प्रकार की कोई समस्या जन्म ले रही है तो सबसे पहले आपको ही पता चलेगा और आपके शरीर में  किसी भी अंग में कोई कमी है इसमें  किसी भी प्रकार की शर्मिंदगी की कोई बात नहीं है इसके बारे में आप खुलकर बात कर सकते हैं  और इलाज करवा सकते हैं क्योंकि जब तक आप इसके बारे में किसी से खुल के बात नहीं करेंगे और इसके इलाज के बारे में परामर्श नहीं करेंगे तब तक यह  यह समस्या दूर नहीं होगी और आपके अंदर  दिन के दिन इस तरह की समस्या बढ़ती रहेगी| बहुत जरूरी है कि ऐसी समस्याओं के शुरुआती लक्षण इसका इलाज करवा लिया जाए नहीं तो ऐसी समस्याओं के पुराने हो जाने में इसके इलाज में बहुत समय लग सकता है या फिर हो सकता है कि इलाज संभव ही ना हो| पूरे विश्व में बहुत सारे पुरुष रहे हैं लेकिन ऐसी समस्या के लिए खुद जिम्मेदार हो सकते हैं।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

क्योंकि आपमें बहुत सी ऐसी खराब आदतें होती हैं  जिनके बराबर उपयोग के कारण ही ऐसी समस्या जन्म लेने लगती है| ऐसी समस्याओं के लिए बहुत से कारण जिम्मेदार होते हैं जिनके बारे में विस्तार से जानना भी बहुत आवश्यकता है क्योंकि जब तक आप अपने शरीर में जन्म ले रही समस्याओं के कारण के बारे में नहीं जानेंगे तब तक आप उसके सही इलाज तक भी नहीं पहुंच पाएंगे| नामर्दी और नपुसंकता का उपचार आयुर्वेद से भी किया जा सकता है| क्यूंकि आजकल बहुत सी ऐसी  आयुर्वेदिक और एलोपैथिक दवाएं उपलब्ध है| जिनका इस्तेमाल करके आप नामर्दी की समस्या से पूर्ण रूप से जा सकते हैं ।तो आइए ऐसे ही कुछ प्रमुख कारणों के बारे में जानते हैं जो कि  नामर्दी की समस्या को जन्म देने के लिए प्रमुख रूप से जिम्मेदार माने जाते हैं।

  • अत्यधिक हस्तमैथुन के कारण
  • अधिक संभोग करने के कारण 
  • लिंग पर लगी पुरानी चोट के कारण
  • नाजायज संबंध बनाने के कारण संक्रमण
  •  मधुमेह, हृदय रोग  या टीवी जैसे मर्ज से ग्रसित होने के कारण
  • अत्यधिक मोटापा होने के कारण 

अत्यधिक हस्तमैथुन के कारण

बचपन में युवा अवस्था में बहुत से युवाओं में  जब हार्मोन परिवर्तन होने लगते हैं तो उनके अंदर यौन सुख पाने की चेष्टा बढ़ने लगती है जिस कारण वह यौन सुख को पाने के लिए बहुत से ऐसे  तरीकों का उपयोग करने लगते हैं  जिसमें से बहुत से तरीके उनके लिए नुकसानदायक भी हो सकते हैं। उसी में से अत्यधिक हस्तमैथुन भी एक कारण है पुरुषों में नपुसंकता के लिए जिम्मेदार हैं| इसीलिए बचपन में आपको ऐसी किसी भी गलती को बार-बार नहीं दूर होना चाहिए जिससे कि आपको अपनी युवावस्था में उसका खामियाजा भुगतना पड़े।

अधिक संभोग करने के कारण

बहुत से पुरुषों में देखा जाता है कि उनके अंदर संभोग को  लेकर बहुत ही ज्यादा जिज्ञासा या चेष्टा रहती है जिस कारण वह अपने महिला साथी के साथ बहुत ज्यादा संभोग करने के इच्छुक रहते हैं या फिर बहुत ज्यादा संभोग करते हैं जो कि उनके अंदर नामर्दी जैसी समस्या को जन्म देने के लिए एक प्रमुख कारण है ऐसी समस्या से बचने के लिए आपको अपने अंदर जागृत हो रहे चरम सुख  की चेष्टा को विराम देना पड़ेगा नहीं तो  आप नामर्दी  जैसी समस्या से ग्रसित हो जाएंगे और इसका सीधा प्रभाव आपकी जिंदगी पर पड़ेगा।

लिंग पर लगी पुरानी चोट के कारण

पुरुषों में संभोग करने के लिए  लिंग का स्वस्थ रहना बहुत ही आवश्यक है लेकिन बहुत से पुरुषों में किसी पुरानी चोट या एक्सीडेंट के कारण उनके लिंग पर गहरा आघात पहुंचता है जिससे उनके लिंग  के तनने  मैं बहुत ही समस्या होती है जिस कारण वह संभोग नहीं कर पाते हैं और  ऐसे ही कारण नपुसंकता को जन्म देते हैं|

नाजायज संबंध बनाने के कारण संक्रमण

पुरुष अपने अंदर जागृत हो रही तीव्र संभोग इच्छा को शांत करने के लिए बहुत से ऐसे तरीकों का इस्तेमाल करते हैं जो कि उनके लिए बहुत ही  ज्यादा नुकसान पहुंचाने वाले होते हैं जिससे कि वह बिल्कुल भी अनजान होते हैं या फिर उनको जानकारी होते हुए भी अपनी चर्मसुख की  चेष्टा के कारण वे उसे नजरअंदाज कर देते हैं उसी में से एक  तरीका है कि पुरुष अपनी संभोग इच्छा को शांत करने के लिए वेश्यालय बजाना स्टार्ट कर देते हैं जहां पर उन्हें बहुत से संक्रमण का खतरा रहता है जिससे  उनके अंदर नामर्दी की समस्या ले सकती है। 

मधुमेह, हृदय रोग  या टीवी जैसे मर्ज से ग्रसित होने के कारण

अगर किसी भी व्यक्ति के अंदर मधुमेह हृदय रोग या टीवी जैसे मर्ज जन्म ले लेते हैं तो उनके अंदर  यौन समस्याएं भी आने लगती है क्योंकि ऐसे मरीजों के कारण ही पुरुषों  कि यौन ग्रंथियों पर बहुत ही गहरा असर पड़ता है जिस कारण वह पूर्ण रुप  से काम नहीं करती हैं और उनके अंदर नामर्द की समस्या आने लगती है इसलिए ऐसी समस्याओं से बचने के लिए आप आयुर्वेदिक दवा भी इस्तेमाल कर सकते हैं| 

 अत्यधिक मोटापा होने के कारण 

मोटापा आजकल बहुत से लोगों के अंदर एक बड़ी समस्या के रूप में सामने आ रही है यह आपके दैनिक खानपान और खाने-पीने के तरीकों पर निर्भर करता है इसीलिए आपको अत्यधिक मोटापा से बचना चाहिए नहीं तो बहुत ज्यादा मोटापा हो जाने से आपके अंदर हार्मोन इंबैलेंस होने लगते हैं जिससे कि नामर्द की और  स्तंभन दोष जैसी समस्याएं जन्म लेने लगती है| 

 पतंजलि में नामर्दी की दवा

पुरुषों में  नामर्दी की  समस्या बहुत ही विकट स्थिति है जिससे कि आजकल बहुत सारे पुरुष परेशान और चिंतित रहते हैं और वह अपनी इस समस्या को किसी से साझा नहीं कर पाते हैं जिस कारण उनका इस समस्या से निजात के लिए सही ढंग से इलाज भी नहीं हो पाता है या फिर वह किसी भी सही दवा का सेवन नहीं कर पाते हैं जिससे उनके अंदर यह समस्या दिन बढ़ती जाती है और आगे चलकर बड़ा रूप लेती है जिससे कि  उनके जीवन पर बहुत ही गंभीर असर पड़ने लगता है जो कि उनके लिए बिल्कुल भी सही नहीं है  नामर्दी की तरफ से तात्पर्य है कि यौन समस्याएं एवं समस्या में बहुत सारी ऐसी दिक्कतें आती हैं जोकि आपको बहुत ही सारी परेशानी में डाल सकती हैं।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

अगर यौन समस्याओं की बात करें तो सबसे पहले संभोग समय की कमी की बात आती है इस समस्या में  पुरुषों को संभोग करते जल्दी संभोग की इच्छा खत्म हो जाती है जिससे कि वह ज्यादा देर तक संभोग नहीं कर पाते हैं। दूसरे नंबर  शीघ्र स्खलन की समस्या आती है जो कि पुरुषों के  अंदर लिंग के बहुत जल्दी ढीले पड़ जाने के कारण उत्पन्न होती है।  ऐसी समस्याओं से निजात के लिए ही पतंजलि बहुत सारी जड़ी बूटियों और आयुर्वेदिक वनस्पतियों के बारे में शोध करके  बहुत सी  ऐसी महत्वपूर्ण दवाओं का निर्माण कई वर्षों से कर रही है।  जिसके सेवन से बहुत सारे ऐसी समस्याओं से  पूर्ण रूप से निजात पा चुके हैं और  और लगातार ऐसी  समस्याओं से निजात पाने के लिए बहुत सारी पुरुष पतंजलि की दवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं। आपको ऐसे ही दवाओं के बारे में विस्तार से बताएंगे जो कि नामर्दी की  समस्या से निजात पाने के लिए बहुत ही कारगर और बढ़िया दबाव में से एक मानी जाती है। 

  • पतंजलि आश्वशीला कैप्सूल 
  • पतंजलि सुध संख बीज पाउडर 
  • पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल 
  • पतंजलि मकरध्वज रस 
  • पतंजलि साँगये पिष्टी 
  • पतंजलि अश्वगंधा चूर्ण 
  • पतंजलि त्रिफला चूर्ण 
  • पतंजलि त्रिवंग भस्म 
  • पतंजलि चंद्रप्रभा वटी 
  • पतंजलि दशमूल क्वाथ 

पतंजलि आश्वशीला कैप्सूल 

पुरुषों में कमजोरी और नपुसंकता के लिए पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल को जमाल किया जाता है। इस दवा के इस्तेमाल से पुरुषों में यौन समस्याएं खत्म हो जाती हैं।  यह दवा अश्वगंधा,शिलाजीत के मिश्रण से बनी हुई है|इस दवा के सेवन से शरीर में ऊर्जा बढ़ती है जिससे कि शरीर में नामर्दी की की दिक्कत दूर होती है। इस दवा के सेवन से पुरुषों  की मांसपेशियां मजबूत होती हैं और सहनशक्ति में सुधार आता है। इस दवा में मौजूद शिलाजीत एक ऐसी जड़ी बूटी है जोकि शरीर में स्फूर्ति बनाए रखने और तनाव को कम करने का काम करते हैं जिससे कि पुरुषों को संभोग के दौरान  नामर्दी का एहसास नहीं होता है। इस दवा को दूध के साथ सुबह शाम में ले सकते हैं।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि शंखपुष्पी चूर्ण 

पतंजलि में स्तंभन दोष की दवा के लिए प्रसिद्ध शंखपुष्पी चूर्ण पुरुषों में नामर्दी  की समस्या को भी दूर करने के लिए बनाई गई आयुर्वेदिक औषधि है। यह दवा कौंच के बीज और शुद्ध संघ से बनी हुई है जिसका कि आपके शरीर पर किसी भी प्रकार का साइड इफेक्ट नहीं पड़ता है। इस दवा के इस्तेमाल से आपके शरीर में गेहूं समस्याओं का खतना होता है और आपका वेट और गाढ़ा होता है आपके शरीर में कामेच्छा की प्रबल चेष्टा होती है। इस दवा को सुबह-शाम गर्म पानी के साथ एक एक चम्मच की मात्रा में लिया जा सकता है।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल 

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल पुरुषों में नामर्दी को खत्म करने के  लिए रामबाण दवा है जो कि किसी भी आयुर्वेदिक स्टोर से ली जा सकती है। यह दवा आंवला और शिलाजीत के मिश्रण से बनी हुई है। इस दवा मौजूद शिलाजीत मैं फोलिक एसिड और बस ऐसे खनिज होते हैं जो कि हमारी कोशिकाओं में शक्ति को बढ़ाने का काम करती हैं। जिससे की आपके शरीर में एक  नई ताजगी का संचार होता है और आपके नामर्द की के समस्या दूर होती है। इस दवा को दूध के साथ दिल में एक कैप्सूल लिया जा सकता है।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि मकरध्वज रस 

पतंजलि मकरध्वज  रस को शरीर में कामेच्छा की कमी और नामर्दी की समस्या के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस दवा के इस्तेमाल से आपके संभोग  करने का समय भी बढ़ जाता है। इस दवा को जायफल, लॉन्ग, काली मिर्च, एलोवेरा जैसी आयुर्वेदिक औषधियों के मिश्रण से तैयार किया गया है। इस रस में मौजूद एलोवेरा में बहुत से ऐसे एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो कि आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाने का काम करते हैं। इस दवा को आप 100 मिलीग्राम की मात्रा शहद के साथ मिलाकर ले सकते हैं।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि सांगेयशव पिष्टी

पतंजलि सांगेयशव पिष्टी को शारीरिक दुर्बलता को खत्म करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। या आपके शरीर की नसों की कमजोरी को भी दूर करने का काम करती है। इस दवा के नियमित सेवन से आपके शरीर में ताजगी बनी रहती है और  संभोग शक्ति बढ़ती है। जिससे कि आपके शरीर में नामर्दी की कमी नहीं रह जाती। इस दवा को बनाने के लिए सबसे पहले पेस्टी को शुद्ध किया जाता है फिर उसके बाद उसमें केवड़ा, गुलाब जल के साथ भिगोया जाता है| इसको बाहर निकाल कर पीसते हैं  उसी पीसी हुए पाउडर को सांगे पिष्टी के रूप में नामर्दी  से पीड़ित मरीजों को दिया जाता है।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि अश्वगंधा चूर्ण

पतंजलि अश्वगंधा चूर्ण को एवं समस्याओं से निजात के लिए रामबाण औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि इस दवा में बहुत से ऐसे पाए जाते हैं जो कि आपकी यौन समस्याओं को दूर करने और आपके अंदर ताकत को जागृत करने का काम करते हैं। अश्वगंधा का प्रयोग लिंग को पत्थर जैसा सख्त खड़ा करने का प्राचीन फार्मूला के रूप में भी किया जाता है आपके शरीर में इन समस्याओं को खत्म करने और नामर्दी की समस्या को दूर करने के लिए टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का लेवल वरना बहुत ही जरूरी रहता है जिसको हम लोग पुरुष हार्मोन के नाम से भी जानते हैं इस हार्मोन की सहायता से ही आपके अंदर शारीरिक दुर्बलता खत्म होती है पतंजलि अश्वगंधा चूर्ण को बढ़ाने का काम करता है। 

पतंजलि अश्वगंधा चूर्ण

पतंजलि त्रिफला चूर्ण

त्रिफला एक प्रकार के आयुर्वेदिक औषधि है पतंजलि त्रिफला चूर्ण की इसी अवधि के मिश्रण से बना हुआ है त्रिफला में बहुत से ऐसे गुण  और धातु पाए जाते हैं त्रिफला का प्रयोग बवासीर के लिए टेबलेट लिए के किया जाता है जिसके  नियमित सेवन से आपके अंदर शुक्राणुओं की कमी दूर होती है ना मर्दानगी की समस्या दूर होती है आपके अंदर जोश बढ़ाने का काम करता है और  इसके सेवन से आपके अंदर संभोग समय भी दोगुना हो जाता है। 

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि त्रिवंग भस्म

पतंजलि त्रिवंग भस्म पतंजलि द्वारा बनाई गई एक आयुर्वेदिक दवा है जो कि मुख्य रूप से पुरुषों में हो रही नपुसंकता और यौन समस्याओं के निजात के लिए इस्तेमाल की जाती है। इस दवा को हल्दी, यशद भस्म, बंग भस्म,  एलोवेरा जैसी प्राकृतिक औषधियों के मिश्रण से तैयार किया गया है।  इस दवा में पाई जाने वाली यशद भस्म आपके लिंग पर किसी पुरानी चोट लगने के कारण आपके अंदर रहे हो सकता हो खत्म करने का काम करते हैं क्योंकि यादव आपके किसी भी पुरानी चोट को ठीक करने का काम करती है।

पतंजलि में नामर्दी की दवा 

पतंजलि चंद्रप्रभा वटी

पतंजलि चंद्रप्रभा वटी ( पतंजलि नामर्दी दवा ) को पुरुषों में नपुसंकता के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। इस दवा को आमला कपूर नगर में प्रकार अदरक वाचा तेजपत्ता, चव्या ,गजब पिपली, अतीश,धनिया  जैसी आयुर्वेदिक औषधियों और खाद्य पदार्थों के मिश्रण से बनाया गया है इस दवा के इस्तेमाल से पुरुषों  मैं नपुसंकता की समस्या और यौन समस्याओं से संबंधित रोगों का नाश होता है।चन्द्रप्रभावटी का प्रयोग बिस्तर में लंबे समय तक के लिए सबसे अच्छा आयुर्वेदिक दवा के रूप में किया जाता है  इस दवा में पाए जाने वाले  नगरमुस्तका  मैं बहुत से  एंटीऑक्सीडेंट गुण है जो कि आपके मस्तिष्क के स्ट्रेस को कम करने का काम करती हैं और आपके सुखद एवं जीवन के लिए मस्तिष्क कम होना बहुत ही जरूरी होता है। 

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि दशमूल क्वाथ 

पतंजलि दशमूल क्वाथ को मुख्य रूप से शरीर में हो रही इम्यूनिटी  की कमी को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है आपके शरीर में शारीरिक दुर्बलता और नपुसंकता के लिए मजबूत इम्यूनिटी का होना बहुत जरूरी है नहीं तो आपका शरीर बहुत ही ज्यादा कमजोर और दुर्बल रहेगा तो आपके अंदर बहुत सारी यौन समस्याएं जन्म ले सकती हैं इन समस्याओं से बचने के लिए आप पतंजलि  दशमूल क्वाथ का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस दवा को गोखरू, बेल, कंटकारी, शयोनका, अग्निमंथ,पीठवन, पाटला,गंभारि, बृहती जैसी आयुर्वेदिक औषधियों के मिश्रण से तैयार किया गया है। 

पतंजलि में नामर्दी की दवा

टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा patanjali

पुरुषों में अक्सर देखा गया कि  उनके अंदर संभोग समय की कमी की समस्या रहती है जो कि आजकल बहुत ही अधिक  संख्या में देखी जा सकती है। ऐसी समस्याओं से दूर रहना ही बहुत ही अच्छा रहता है लेकिन जाने अनजाने में बहुत से पुरुष की चपेट में आ जाते हैं जो कि उनके जीवन पर बहुत ही गहरा असर डालती है। संभोग समय की कमी की समस्या से आपके वैवाहिक जीवन पर पड़ता है जिससे कि आपके और आपके के बीच में मतभेद और लड़ाई झगड़े की स्थिति को पैदा करता है जो कि स्वस्थ सामाजिक और विवाहित जीवन के लिए बिल्कुल भी हितकारी नहीं है। ऐसी समस्याओं को खत्म करने के लिए आयुर्वेद में बहुत सारे अवसर और जड़ी बूटियां उपलब्ध है। 

जिनके इस्तेमाल से आप संभोग समय की कमी की समस्या को दूर कर सकते हैं संभोग समय की कमी ऐसी स्थिति है जो कि पुरुषों में ज्यादातर पाई जाती है जब भी कोई पुरुष अपनी महिला साथी के साथ संभोग करने लगता है तो बहुत जल्दी थक जाता है या फिर उसके लिंग में ढीलापन हो जाने के कारण संभोग नहीं कर पाता है या फिर उसके अंदर बहुत ही ज्यादा देर तक संभोग उत्तेजना नहीं रह पाती है जिस कारण वह ज्यादा देर तक संभोग नहीं कर पाता है ऐसी स्थिति को ही संभोग की कमी की समस्या या फिर टाइमिंग की कमी की समस्या कह सकते हैं। इसीलिए आज हम आपको नामर्दी की दवा पतंजलि  और टाइमिंग बढ़ाने की दवा के बारे में विस्तार से बताएंगे| जो कि  संभोग की कमी की समस्या को खत्म कर देगा और आपको एक नई ताजी का प्रदान  करेगा जिससे कि आप ज्यादा देर तक समय  व्यतीत कर पाएंगे जो कि आपके और आपके महिला साथी के बीच  के संबंध को प्रगाण करेगा| जिससे कि आपको बहुत ही अच्छे अनुभव का एहसास होगा।

  • पतंजलि दिव्य यौवनामृत वटी
  • पतंजलि यौवन गोल्ड कैप्सूल
  • पतंजलि कौंच बीज चूर्ण
  • पतंजलि गोक्षुरादी गुग्गुल  
  • पतंजलि सफेद मूसली 

पतंजलि दिव्य यौवनामृत वटी

पतंजलि यौनअमृत वटी को मुख्य रूप से शरीर में यौन शक्ति को बढ़ाने के लिए और संभोग समय को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस दवा  अकर्करा, अश्वगंधा जायफल, शतावरी, शिलाजीत, स्वर्ण भस्म, बंग भस्म के मिश्रण से बनाया गया है। इस दवा में मौजूद स्वर्ण भस्म कामेच्छा को बढ़ाने के लिए सबसे अच्छी दवा के रूप में  मानी जाती है यह आपके मस्तिष्क में काम करने वाले लोगों को आराम देने का काम करता है जिससे कि आपके मस्तिष्क का तनाव दूर होता है और शरीर में यौन समस्याओं को दूर करने के लिए मस्तिष्क का तनाव दूर होना बहुत ही जरूरी होता है। इस दवा को सुबह शाम में दूध के साथ लिया जा सकता है। इस दवा के बेहतर परिणाम के लिए आपको इसका  लंबा इलाज जारी रखना आवश्यक है।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि यौवन गोल्ड कैप्सूल 

पतंजलि युवान गोल्ड कैप्सूल एक प्रकार की आयुर्वेदिक दवा है जो कि आपके शरीर में  जॉन कमजोरी को खत्म करने और काम इच्छा शक्ति  को बढ़ाने और  नामर्दी को खत्म करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। इस दवा के इस्तेमाल से आपके शरीर में एक अलग प्रकार की ताजगी और अत्यंत शक्ति का एहसास होता है जो कि किसी भी बीमारी से लड़ने और संभोग समय को बढ़ाने के लिए बहुत ही जरूरी कारक है। इस दवा के इस्तेमाल से आपके शरीर पर किसी भी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। इस दवा को आप नियमित रूप से सुबह शाम एक एक चम्मच की मात्रा में ले सकते हैं।

पतंजलि यौवन गोल्ड कैप्सूल 

पतंजलि कौंच बीज चूर्ण

पतंजलि कौंच बीज पतंजलि द्वारा तैयार किया गया आयुर्वेदिक उत्पाद है। जिसे  शुक्राणु को बढ़ाने नामर्द को खत्म  करने  और  संभोग समय को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह दवा  कौंच के बीज को पीसकर बनाई जाती है। कौंच के बीज पुरुषों में कामेच्छा को बढ़ाने के लिए बहुत ही लाभकारी औषधि है। एक छोटे चम्मच की मात्रा में गुनगुने पानी के साथ सुबह शाम में ली जा सकती है|  इस दवा के बेहतर परिणाम के लिए आप कम से कम 3 महीने तक इसका इस्तेमाल करना आवश्यक है।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि गोक्षुरादी गुग्गुल

पतंजलि गोक्षुरादी गुगगल नामर्दानगी  की समस्या को दूर करने और वीर्य की मात्रा को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस दवा को गोखरू,आंवला,हरीतकी,पीपली और बहेड़ा के मिश्रण से बनाया गया है।पतंजलि गोक्षुरादि का क प्रयोग टाइमिंग बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा के काम आता है मौजूद बहेड़ा पुरुषों के शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने का काम करते हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली को भी ठीक करते हैं। जिससे कि पुरुषों के शरीर में नामर्दानगी की  समस्या नहीं रह जाती है।इस दवा को आप गुनगुने पानी के साथ सुबह दोपहर शाम ले सकते हैं। 

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पतंजलि सफेद मूसली

सफेद मूसली को हमेशा से ही आयुर्वेद में शक्तिवर्धक दवा के रूप में माना जाता है।  ज्यादातर सफेद मुसली के बीज को यौन समस्या को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। सफेद मूसली की जड़ों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम,पोटेशियम, मैग्नीशियम  अधिक मात्रा में पाई जाती है। जो कि शरीर में नामर्दी की समस्या को खत्म करने के लिए बहुत ही जरूरी तत्व होते हैं। इस दवा के इस्तेमाल से शरीर में शुक्राणुओं की कमी भी दूर होती है। इस दवा को आप 4 ग्राम  मूसली चूर्ण को शक्कर के साथ मिलाकर खा सकते हैं या फिर इस चूर्ण  को गाय के दूध के साथ भी लिया जा सकता है।

पतंजलि में नामर्दी की दवा

पुरुषों में नामर्दी की समस्या के लिए घरेलू उपचार 

पुरुषों में अक्सर नामर्दी की  समस्या टेस्टोरोन हार्मोन की कमी के कारण हो जाती है क्योंकि अंडकोष ओके कोशिकाओं के द्वारा बनी होती है। अगर ये कोशिकाएं  पूर्ण सक्रिय  नहीं होती है तो पुरुषों में अक्सर जॉन समस्या बनी रहती है। टेस्टोरोन हार्मोन की कमी के कारण ही कामेच्छा में कमी,  वीर्य की मात्रा में कमी जैसी एवं समस्त है अक्सर जन्म लेती है। इसीलिए पुरुषों के शरीर में  टेस्टोस्टेरोन की  उचित मात्रा को होना बहुत ही आवश्यक है।  पुरुषों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी को दूर करने के लिए बहुत मन से खाद्य पदार्थ और आयुर्वेदिक औषधियों का इस्तेमाल कर सकते हैं जिससे कि उनके अंदर ना मर्दानगी और एवं समस्याओं की समस्या दूर हो सकती है नहीं तो इसे नजरअंदाज करने पर यह समस्या दिन के दिन बढ़ती जाती है और आपको समय ज्यादा हो जाने के बाद बहुत ही ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

जिससे कि आपको बहुत सी ऐसी विपरीत स्थितियों का भी सामना करना पड़ सकता है जिसके बारे में आपने कभी सोचा नहीं होगा ऐसी समस्या होने की वजह से आपके और आपके महिला साथी के बीच में बहुत सारी ऐसी मतभेद और दिक्कतें आ सकती हैं जो कि आपके वैवाहिक संबंध को भी खतरे में डाल सकती हैं। पुरुषों में नामर्दी की समस्या के कारण ही उनकी महिला साथी उनसे संतुष्ट नहीं होती है और उनके अंदर आपके प्रति  आत्मविश्वास की कमी आने लगती है जो कि किसी भी स्वस्थ  यौन संबंध के लिए उचित नहीं है|इसलिए ऐसी समस्याओं को दूर करने के लिए आपके आसपास  बहुत सारी ऐसी आयुर्वेदिक औषधियां और घरेलू उपचार और खाद्य पदार्थ उपलब्ध रहते हैं जिनके इस्तेमाल से आप ऐसी समस्याओं को जड़ से खत्म कर सकते हैं। खाद्य पदार्थ और औषधियां हैं जिनके  गुणों के बारे में आपको ज्यादा पता नहीं होता है|इसलिए आपको हम कुछ ऐसी आयुर्वेदिक औषधियों और घरेलू उपचार के बारे में बताएंगे  आपको नामर्दी की समस्या से छुटकारा दिला सकते हैं|

  • लहसुन का सेवन
  •  प्याज का सेवन
  • रेड जिंसेंग का इस्तेमाल
  • अदरक का सेवन
  • बादाम का सेवन
  • गाजर का सेवन 
  • अनार का जूस का सेवन 
  • व्यायाम करना 
  • एल अर्जिनिन  का सेवन 

लहसुन का सेवन

लहसुन में एलिसिन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो कि हमारे शरीर में रक्त के प्रभाव को बेहतर करने के लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं। रक्त के  प्रवाह से ही शरीर में उत्तेजना उत्पन्न होती है जो कि नामर्दी की समस्या को खत्म करने और कामेच्छा को बढ़ाने का काम करती है। अगर आप नियमित रूप से लहसुन के तीन चार कलियां रोज ले रहे हैं तो यह आपको नामर्दी की समस्या से निजात दिला  सकता है। 

प्याज का सेवन

प्याज हमेशा से ही कामोत्तेजक गुण पाए जाने के लिए प्रसिद्ध है। जो कि आपके अंदर वीर्य के नुकसान को खत्म करने के लिए बहुत ही अच्छी घरेलू औषधि है| जिसके इस्तेमाल से आप अपने यौन संबंधित समस्याओं से निजात पा सकते हैं। प्याज को हल्की लो पहले रंग में पकाने के बाद इसको आप रोजाना शहद के साथ एक चम्मच खा सकते हैं। जिसके सेवन से आपके अंदर  कामेच्छा अत्यंत प्रबल हो जाएगी जोकि नामर्दी को खत्म करने के लिए बहुत ही जरूरी कारण है।

रेड जिंसेंग का इस्तेमाल

रेड जिन्सेंग  एक प्रकार की आयुर्वेदिक औषधि है जोकि पाइनॉक्स  नामक पौधे के जड़ से पाई जाती है। इस दवा को ज्यादातर पुरुषों में फर्टिलिटी की समस्या को दूर करने और नामर्दी को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है|इस जड़ी बूटी में जिंसिनोसाइड्स नामक केमिकल पाया जाता है जो कि शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा को बढ़ाता है  शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा बढ़ने से  आपके लिंग से रक्त प्रवाह होता है जैसे कि आपके अंदर  कामेच्छा बहुत ही ज्यादा  बढ़ जाती है। जोकि संभोग समय को भी बढ़ाती है|

अदरक का सेवन

अदरक में बहुत ही ज्यादा मात्रा में  न्यूट्रीशन और बायोटिक कंपाउंड पाए जाते हैं जो कि आपके शरीर  और दिमाग के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं| अदरक में बहुत से ऐसी मेडिकल क्वालिटी पाई जाती हैं जो कि बहुत से मर्ज को ठीक करने में  फायदेमंद होती हैं। अदरक में बहुत अच्छी मात्रा में विटामिन ए, विटामिन डी, आयरन, जिंक, और कैल्शियम पाया जाता है|जो कि आपके शरीर से शारीरिक और मानसिक तनाव को खत्म करने के लिए बहुत ही आवश्यक तत्वों में से एक हैं। अदरक के बराबर सेवन से आपके शरीर में ताजगी बनी रहती हैं जिससे कि आपके शरीर में कामेच्छा अत्यंत प्रबल हो जाती है।

बादाम का सेवन

 बादाम बहुत ही गर्म पूर्ति का खाद पदार्थ है  जो कि आपके शरीर में कामोद्दीपक के रूप में काम करता है। बदाम को यौन समस्याओं को खत्म करने के लिए हजारों सालों से इस्तेमाल किया जाता  रहा है। बदाम में बहुत ही प्रचुर मात्रा में विटामिन ई की मात्रा पाई जाती है जैसे कि शरीर में रक्त का प्रवाह बहुत ही अच्छी तरह से होता है जिससे कि आपके शरीर में उत्तेजना बढ़ती है और  लंबे समय तक संभोग करने के लिए तैयार हो जाता है। बदाम को आप रात में सोने से पहले गर्म दूध के साथ ले सकते हैं या फिर मुट्ठी भर  बादाम को पानी में भिगोकर रख दें और सुबह उठकर इसे खा सकते हैं।

गाजर का सेवन 

हमारे शरीर में  इरेक्टाइल डिस्फंक्शन को खत्म करने के लिए कैरोटीन का इस्तेमाल बहुत ही फायदेमंद हो सकता है  जोकि गाजर में बहुत ही प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। गाजर के नियमित सेवन से शरीर में एवं समस्याओं की कमी दूर होती है और आपके शरीर में भरपूर ताजगी बनी रहती है। गाजर को आप लहसुन के साथ मिलाकर इसे पी सकते हैं और इसके निकले हुए  इसके निकले हुए रस पी सकते हैं खत्म कर सकता है|

अनार का जूस का सेवन

 अनार में बहुत से ऐसे एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जबकि पुरुषों के शरीर में स्तंभन दोष को खत्म करने के लिए बहुत अच्छे खाद्य पदार्थ माना जाता है।  यह पूरे शरीर में रक्त संचालन को बेहतर करने और शारीरिक और मानसिक तनाव को खत्म करने के लिए जाना जाता है|  अनार में नाइट्रिक ऑक्साइड बहुत ही प्रचुर मात्रा में पाई जाती है जो कि आपके शरीर में रक्त संचरण को बार-बार बूस्ट करने का काम करता है इसलिए आपको जीवन के लिए रोजाना अनार का जूस का सेवन करना चाहिए।

व्यायाम करना 

नियमित व्यायाम करने से आपके शरीर की मांसपेशियों में एक बेहतर  खिंचाव आता है जोकि आपके अंदर और ब्लड सरकुलेशन को ठीक करने के लिए बहुत ही जरूरी होता है। नियमित व्यायाम करने से जॉन समस्याओं का खात्मा होता है जैसे कि इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, संभोग समय में कमी, लिंग का ढीलापन रह  जाना और नामर्दांगी | आप रोजाना 5 से 10  सेकंड अलग-अलग एक्सर्साइज़ करके व्यायाम व्यायाम कर सकते हैं। 

एल अर्जिनिन  का सेवन 

L-arginine एक प्रकार की  अमीनो एसिड है जो कि आपके शरीर में मैट्रिक ऑक्साइड की मात्रा को बढ़ाता है। जिससे आपके शरीर में बहुत ही अच्छी तरह से रक्त संचार होता है जो आपके लिंग की नसों में भी रक्त संचार करके उत्तेजना प्रदान करता है। जिससे कि आपके अंदर संभोग करने की प्रबल इच्छा जागृत होती है। l-arginine आपको  मांस, मछली, चिकन मटर और नट्स  जैसी खाद्य सामग्रियों में मिल सकता है। या फिर इसके लिए बहुत सी ऐसी दवाएं बाजार में उपलब्ध है जिसको आप किसी भी चिकित्सक से परामर्श करके ले सकते हैं। 

निष्कर्ष

पुरुषों में  नामर्दी या नपुसंकता की समस्या उनके बीच में बहुत ही बड़ी समस्या का कारण है। जिस कारण वह बहुत सारी ऐसी परिस्थितियों का सामना करते हैं| जिससे उन्हें बहुत  ही शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है| क्योंकि यह एक ऐसी समस्या है कि जिसे पुरुष बहुत ज्यादा  किसी से साझा  भी नहीं कर सकते हैं| जिस कारण उनके अंदर ऐसी समस्याएं बड़ी होने लगती हैं और उनका सही ढंग से इलाज भी नहीं हो पाता है इसीलिए आज हम इस लेख के माध्यम से ऐसी समस्याओं के बारे में विस्तार से  बताने की कोशिश कर रहे हैं| इस लेख में पुरुषों में नामर्दी या नपुसंकता की समस्या  को जन्म देने वाले प्रमुख कारणों के बारे में भी विस्तार से बताया गया है। 

जिन कारणों को जानकर आप उनके सही इलाज और सही दवाओं का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके इलाज के लिए बहुत सी ऐसी आयुर्वेदिक दवाएं हैं जिनका आप इस्तेमाल कर सकते हैं इस लेख के माध्यम से पतंजलि में नामर्दी की दवा के बारे में विस्तार से बताया गया है जिनका उपयोग करके आप अपनी नामर्दी की समस्या को बहुत ही आसानी से दूर कर सकते हैं। इस लेख में टाइमिंग बढ़ाने के  लिए भी आयुर्वेदिक दवाओं का विस्तार से उल्लेख किया गया है जिनके उपयोग से आपके अंदर संभोग समय दुगना हो सकता है| संभोग समय को दुगना करने के लिए और पुरुषों के अंदर  की नपुसंकता को खत्म करने के लिए बहुत से ऐसे घरेलू उपायों के बारे में भी बताया गया है जो कि आपके रोजमर्रा के जिंदगी में इस्तेमाल होते हैं ऐसे ही प्राकृतिक जड़ी बूटियों और  खाद्य पदार्थों का इस्तेमाल करके आप अपने अंदर जन्म ले रही नपुसंकता की समस्या को जड़ से खत्म कर सकते हैं। 

सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले प्रश्न और उनके उत्तर 

प्रश्न: 50 की उम्र के बाद जबरदस्त मर्दाना ताकत कैसे पाएं?

उत्तर-50 की उम्र के बाद जबरदस्त मर्दाना ताकत पाने के लिए आपको व्यायाम करना चाहिए, पौष्टिक आहारयुक्त भोजन करना चाहिए जैसे: बादाम,अनार का जूस,गाजर आदि। मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए आप पतंजलि की आयुर्वेदिक दवाओं का भी इस्तेमाल कर सकतें हैं। 

प्रश्न:क्या मर्दाना ताकत बढ़ाने की पतंजलि आयुर्वेद के पास कोई दवाई है?

उत्तर- मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए पतंजलि के पास बहुत सी आयुर्वेदिक दवाएँ उपलब्ध है। जैसे: पतंजलि दिव्य यौनामृत वटी,पतंजलि यौवन गोल्ड कैप्सूल,पतंजलि कौंच बीज चूर्ण,पतंजलि गोक्षुरादी गुग्गल,पतंजलि सफेद मूसली जैसी दवाओं का इस्तेमाल करके आप अपनी मर्दाना ताकत को बढ़ा सकतें हैं। 

प्रश्न:इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए सबसे सुरक्षित दवा कौन सी है?

उत्तर- इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए आप शिलाजीत कैप्सूल का सेवन कर सकतें हैं। क्यूंकी यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन की सबसे सुरक्षित दवा है। 

प्रश्न:मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए सबसे अधिक कौन सी दवाई खाई जाती है?

उत्तर- मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए अश्वगंधा सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली दवा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.