पेशाब में जलन की होम्योपैथिक दवा – कुछ घरेलू इलाज

कभी-कभी पेशाब करते समय मूत्र मार्ग में एक विशेष प्रकार की जलन का आभास होता है। मूत्र मार्ग में होने वाले इस जलन को डिसयूरिया कहा जाता है। मूत्र मार्ग में होने वाली यह जलन यूरेथ्रा में होती है। यूरेथ्रा मूत्राशय से मूत्र को बाहर निकालने वाली ट्यूब होती है, जिससे होकर मूत्र मूत्रमार्ग से बाहर निकलता है। पेशाब में जलन होना कोई बीमारी नहीं है, यह विभिन्न प्रकार की बीमारियों का एक लक्षण है जिसके कारण पेशाब करने में जलन होने लगती है मूत्र मार्ग में जलन किसी भी वर्ग के पुरुष या महिला में हो सकती है। आज हम आपको पेशाब में जलन की आयुर्वेदिक दवा तथा कुछ अन्य दवाओं की जानकारी देंगे जिनके प्रयोग से पेशाब में होने वाली जलन को ठीक किया जा सकता है।

Table of Contents

पेशाब में जलन क्यों होती है?

किसी भी पुरुष या महिला में पेशाब को बाहर निकालने के लिए मूत्र मार्ग से यूरेथ्रा नाम की एक नदी लगी होती है, जो मूत्राशय से मूत्र को बाहर निकालती है। यूरेथ्रा में किसी प्रकार की चोट लगने के कारण या किसी प्रकार के संक्रमण के कारण जब बैक्टीरिया काफी अधिक मात्रा में हो जाते हैं, तो पेशाब करते समय यूरेथ्रा में जलन होने लगती है। इसके कारण पेशाब करते समय पेशाब में जलन का आभास होता है। पेशाब में जलन होने के विभिन्न प्रकार के कारण व लक्षण हो सकते जो विभिन्न प्रकार की समस्या तथा बीमारियों पर निर्भर करते हैं।

पेशाब में जलन होने के कारण

जैसा कि बताया गया है कि पेशाब में जलन होना एक यह किसी प्रकार का रोग नहीं है बल्कि यह विभिन्न प्रकार के रोगों का एक प्रकार का लक्षण है, जिसमें पेशाब मार्ग में इंफेक्शन होने के कारण या किसी अन्य समस्या के कारण जलन तथा दर्द का आभास होता है। पेशाब में जलन होने के बहुत से कारण हो सकते हैं। इनमें से कुछ कारण निम्नलिखित हैं

  • यूरिन इन्फेक्शन होने के कारण।
  • शरीर में पानी की कमी (डिहाइड्रेशन) होने के कारण। 
  • पेशाब को अधिक देर रोककर रखने के कारण। 
  • बढ़ी हुई प्रोस्टेट ग्रंथि के कारण। 
  • लिवर समस्या होने के कारन। 
  • अल्सर हो जाने पर। 
  • मधुमेह होने पर। 
  • शुक्राणु या वीर्यकोष में संक्रमण के कारण। 
  • यौन संचारित रोग होने के कारण। 
  • तेज मिर्च मसालों का अत्यधिक सेवन करने के कारण। 
  • दूषित पानी पीने के कारण। 
  • चाय, कॉफी, अम्ल पदार्थ,शराब का अत्यधिक सेवन करने के कारण। 

पेशाब में जलन होने के लक्षण

पेशाब में  होने वाली जलन के कारण हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार समस्या का शिकार होने लगता है क्योंकि हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियां तथा समस्याएं उत्पन्न कर देते हैं। इससे हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार के कष्ट होने पेशाब में जलन होने के कारण हमारे शरीर में निम्नलिखित लक्षण दिखाई देने लगे इनको देखकर अनुमान लगाया जा सकता है कि पेशाब में जलन किन कारणों से हो रही है पेशाब में जलन होने के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं।

  • पेशाब करते वक्त पेशाब में जलन और दर्द की समस्या।
  • पेट मे दर्द होना। 
  • पेशाब में पीलापन होना। 
  • बुखार आना। 
  • पेशाब में बदबु का आना। 
  • पेशाब करने के लिए जोर लगाने की जरुरत पड़ना।
  • जी मचलाना।

पेशाब में जलन होने की दवा तथा उपाय

पेशाब में जलन होने के कारण मूत्र मार्ग में बहुत अधिक दर्द होता है जो कभी-कभी असहनीय हो जाता है। पेशाब में जलन होने की समस्या को ठीक करने के लिए बाजार में विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक तथा एलोपैथिक दवाएं उपलब्ध है। इन दवाओं का प्रयोग करके मूत्र मार्ग में हो रही जलन को ठीक किया जा सकता है। दवाओं के साथ साथ दैनिक जीवन शैली को बदलकर पेशाब में जलन जैसी समस्याओं के साथ साथ अन्य समस्याओं को भी ठीक किया जा सकता है। मूत्र मार्ग में जलन को रोकने के लिए निम्नलिखित उपाय अपनाए जा सकते हैं। 

  • पेशाब में जलन की आयुर्वेदिक दवा
  • पेशाब में जलन की एलोपैथिक दवा
  • पेशाब में जलन की घरेलू दवा

यह भी जाने : यूरिक एसिड की रामबाण दवा पतंजलि | फैटी लिवर का आयुर्वेदिक इलाज

पेशाब में जलन की आयुर्वेदिक दवा

भारत में प्राचीन काल से ही विभिन्न प्रकार के रोगों का इलाज आयुर्वेदिक औषधियों द्वारा किया जाता रहा आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति भारत में  प्राचीन चिकित्सा पद्धति है। जिसका वर्णन भारतीय तथा पुराणों में भी मिलता है भारतीय चिकित्सा आयुर्वेदिक द्वारा सभी प्रकार के रोगों का इलाज किया जाता है। आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल करते हुए पेशाब में जलन की समस्या को ठीक किया जा सकता है। भारत में आयुर्वेद की दवाइयां पतंजलि आयुर्वेद आने दिव्य फार्मेसी की सहायता से बनाए हैं जो विभिन्न प्रकार के रोगों के लिए रामबाण औषधि हैं पेशाब में जलन की आयुर्वेदिक दवा निम्नलिखित है। 

  • पतंजलि दिव्य वंग भस्म
  • पतंजलि दिव्य श्वेत पर्पटी 
  • पतंजलि दिव्य अश्मरिहर क्वाथ
  • पतंजलि दिव्य त्रिवंग भस्म
  • पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ
  • पतंजलि दिव्य वृक्कदोष हर क्वाथ 

पतंजलि दिव्य वंग भस्म

वंग टिन को कहा जाता है वंग भस्म में आयुर्वेदिक धातु से तैयार की गई औषधी हैं। जिसमें पौधे खनिज और धातुए शामिल है और यह लंबे समय तक स्थिर रहती है, तथा कम खुराक में भी अच्छा असर दिखाती है।मूत्र संबंधी विकार को ठीक करने के लिए वंग भस्म का प्रयोग किया जाता है ऐसा मैं होने वाली जलन को ठीक करने के लिए वंग भस्म  का प्रयोग किया जाता है इसमें विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक गुण उपलब्ध होते हैं जिस से पेशाब संबंधी समस्याएं ठीक हो जाती हैं।

पतंजलि दिव्य वंग भस्म

पेशाब में जलन की आयुर्वेदिक दवा वंग भस्म के फायदे 

  • वंग भस्म के प्रयोग से पेशाब में होने वाली जलन को रोका जा सकता है।
  • मूत्र संबंधित अन्य विकारों को दूर करने के लिए वंग भस्म  का प्रयोग किया जाता है।
  • शीघ्रपतन तथा शीघ्रास्खलन की समस्या से बचने के लिए वंग भस्म का प्रयोग किया जाता हैं।
  • शरीर में खून की कमी तो पूरा करने के लिए वंग भस्म का प्रयोग किया जाता है।
  • स्त्रियों में होने वाले प्रदर रोग की समस्या को दूर करने के लिए वंग भस्म  का प्रयोग किया जाता है।  

पतंजलि दिव्य श्वेत पर्पटी

पतंजलि दिव्य श्वेत पर्पटी किसी भी मेडिकल स्टोर पर मिल जाने वाली एक आयुर्वेदिक औषधि है। जिसका प्रयोग मूत्र संबंधी विकार को ठीक करने के लिए किया जाता है श्वेत पर्पटी का प्रयोग पेशाब में होने वाली जलन को ठीक करने के लिए किया जाता है। श्वेत पर्पटी अमोनियम क्लोराइड फिटकरी तथा पोटेशियम नाइट्रेट आदि आयुर्वेदिक तत्व उपलब्ध होते हैं। श्वेत पर्पटी पेशाब में जलन के अलावा अन्य मूत्र संबंधी विकारों को ठीक करने में सहायक होती है यदि मूत्र मार्ग में किसी प्रकार का संक्रमण है उसके इलाज के लिए भी श्वेत पर्पटी का प्रयोग किया जाता है।

patanjali-divya-swet-parpati

पतंजलि दिव्य श्वेत पर्पटी के फायदे

  • दिव्य श्वेत पर्पटी का प्रयोग पेशाब के जलन को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  •  गुर्दे की पथरी को ठीक करने के लिए  दिव्य श्वेत पर्पटी  का प्रयोग किया जाता है।
  •  मूत्र मार्ग के संक्रमण को ठीक करने के लिए  दिव्य श्वेत पर्पटी  का प्रयोग किया जाता है।
  •  सफेद पानी की समस्या को ठीक करने के लिए दिव्य श्वेत पर्पटी  का प्रयोग किया जाता है।

पतंजलि दिव्य अश्मरिहर क्वाथ

पेशाब में जलन होने की दवा दिव्य अश्मरीहर क्वाथ का प्रयोग मूत्र मार्ग में होने वाली जलन को ठीक करने के लिए किया जाता है। पेशाब में जलन के साथ-साथ दिव्य अश्मरीहर क्वाथ गुर्दे की पथरी को गलाने और उसे बाहर निकालने में भी यह औषधि सहायक हैं। यह औषधि पाषाणभेद, गोखुरू, पुनर्नवमूल, कुल्थी और वरुणाचाल के मिश्रण से बनाई गयी हैं। जिन लोगो को मूत्र सम्बंधित रोग हैं, उन रोगियों को नियमित रूप से इसका सेवन करने से राहत मिलती हैं।जिन व्यक्तियों में पेशाब में जलन होती है उनको दैनिक रूप से दिव्य अश्मरीहर क्वाथ  का प्रयोग करना चाहिए जिस से होने वाली समस्या जड़ से समाप्त हो जाती है।

पतंजलि दिव्य अश्मरिहर क्वाथ

दिव्य अश्मरीहर क्वाथ के फायदे

  • पेशाब में होने वाली जलन को दूर करने के लिए दिव्य अश्मरीहर क्वाथ  का प्रयोग किया जाता है।
  • मूत्र मार्ग में हुए इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए  दैनिक रूप से दिव्य अश्मरीहर क्वाथ  का प्रयोग किया जाना चाहिए।
  • गुर्दे की पथरी को ठीक करने के लिए दिव्य अश्मरीहर क्वाथ का प्रयोग किया जाता है।
  • मूत्र संबंधी अन्य विकारों को ठीक करने के लिए दिव्य अश्मरीहर क्वाथ  का प्रयोग किया जाता है।

पतंजलि दिव्य त्रिवंग भस्म

दिव्य त्रिवंग भस्म तीन प्रकार के धातुओं के मिश्रण से बढ़ाई जाती है यह भस्म तीन धातुओं सीसा (नाग), वंग एवं जस्ता के मिश्रण से बनाई जाती है किसी भी प्रकार की भस्म को बनाने के लिए पहले पदार्थों को उच्चतम कर जलाया जाता है। धातुओं के जलाने के बाद प्राप्त पदार्थ को भस्म कहा जाता है। दिव्य त्रिवंग भस्म  का प्रयोग मूत्र संबंधी बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है पेशाब में जलन होना की समस्या के लिए दिव्य त्रिवंग भस्म  बहुत ही लाभकारी औषधि है जिसका प्रयोग पेशाब की जलन को ठीक करने के लिए किया जाता है जिन व्यक्तियों में मूत्र संबंधी विकार होते हैं या पेशाब में जलन होती है। उनको दैनिक रूप से दिव्य त्रिवंग भस्म  का प्रयोग करना चाहिए इससे मूत्र मार्ग में होने वाली समस्याओं से राहत मिलती है दिव्य त्रिवंग भस्म का प्रयोग पेशाब में होने वाली जलन के अलावा गुर्दे की पथरी तथा अन्य समस्याओं में भी किया जाता है।

पतंजलि दिव्य त्रिवंग भस्म

दिव्य त्रिवंग भस्म  के फायदे

  • दिव्य त्रिवंग भस्म का प्रयोग पेशाब में जलन को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • गुर्दे की पथरी को ठीक करने के लिए दिव्य त्रिवंग भस्म  का प्रयोग किया जा सकता है।
  • यूरेथ्रा में होने वाले संक्रमण को दूर करने के लिए दिव्य त्रिवंग भस्म  का प्रयोग किया जा सकता है।
  •  यूरेथ्रा संबंधी अन्य विकारों को दूर करने के लिए दिव्य त्रिवंग भस्म  का प्रयोग करते हैं।
  • मधुमेह को रोकने के लिए दिव्य त्रिवंग भस्म  का प्रयोग करते हैं।
  •  शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए दिव्य त्रिवंग भस्म  का प्रयोग किया जाता है।

पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ

पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ का प्रयोग यूरिन इन्फेक्शन को दूर करने के लिए किया जाता है। पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ  का प्रयोग गुर्दे के विभिन्न प्रकार के समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है। पेशाब में होने वाली जलन को दूर करने के लिए पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ का प्रयोग किया जाता है इसके साथ साथ पीलिया हेपेटाइटिस बुखार पेशाब कम आना पेट सफा पेल्विक के दर्द में सर्वकल्प क्वाथ का प्रयोग किया जाता है। जिन व्यक्तियों में पेशाब मार्ग में जलन होती है उनको दैनिक रुप से पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ का प्रयोग करना चाहिए जिन व्यक्तियों में यूरेथ्रा में प्रॉब्लम होती है उनको दैनिक रूप से  यूरेथ्रा की समस्या को ठीक करने के लिए पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ  का प्रयोग करना चाहिए।

पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ

पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ के फायदे 

  • पेशाब मे जलन को ठीक करने के लिए पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ का प्रयोग करना चाहिए।
  • यूरेथ्रा में संक्रमण को दूर करने के लिए पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ का प्रयोग करना चाहिए।
  • गुर्दे की विभिन्न प्रकार की समस्याओं को ठीक करने के लिए पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ का प्रयोग करते हैं।
  • फैटी लीवर की समस्या को ठीक करने के लिए पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ  का प्रयोग करते हैं।
  • पतंजलि सर्वकल्प क्वाथ पाचन क्रिया को ठीक करने के लिए किया जाता है।

पतंजलि दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ

दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ का प्रयोग पेशाब में होने वाली जलन को दूर करने के लिए किया जाता है। दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ मूत्र मार्ग में होने वाले विभिन्न प्रकार के इंफेक्शन को ठीक कर के मूत्र मार्ग की समस्याओं से बचाता है। जिससे पेशाब में होने वाली जलन की समस्या ठीक हो जाती है। दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ पेशाब में होने वाली जलन के साथ-साथ गुर्दे की समस्याओं को भी ठीक करता है गुर्दे में होने वाली पथरी को यह ठीक कर देता है तथा गुर्दे में होने वाले अन्य समस्याओं के लिए भी दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ  का प्रयोग किया जाता है। गुर्दे में होने वाले जीवाणु संक्रमण तथा तथा पेट की जलन को ठीक करने के लिए भी दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ का प्रयोग किया जाता है।

पतंजलि दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ

पतंजलि दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ के फायदे

  • दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ का प्रयोग पेशाब में होने वाली जलन को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • मूत्र मार्ग में इन्फेक्शन को दूर करने के लिए दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ  का प्रयोग किया जाता है।
  • दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ  का प्रयोग गुर्दे की पथरी को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • पेट की पाचन संबंधी किरणों को ठीक करने के लिए दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ  का प्रयोग किया जाता है।
  • पेट में होने वाली जलन तथा गुर्दे में संक्रमण को रोकने के लिए दिव्य वृक्कदोषहर क्वाथ का प्रयोग किया जाता है।

पेशाब में जलन की एलोपैथिक दवा

पेशाब में जलन संबंधित समस्याओं को रोकने के लिए ऊपर कुछ आयुर्वेदिक दवाओं का वर्णन किया गया है व्यक्तियों में पेशाब मार्ग में जलन होती है यह दर्द रहता है उनको विभिन्न प्रकार की समस्याएं हो जाती है। पेशाब मार्ग में जलन यूरेथ्रा में इन्फेक्शन के कारण होती है जिससे मौत मार्ग में विभिन्न प्रकार के संक्रमण हो जाता है संक्रमण के कारण जब पेशाब यूरेथ्रा नली से होकर बाहर निकलता है एक विशेष प्रकार की जलन का अनुभव होता है। यह जलन बहुत ही कष्ट गायक होती है पेशाब में होने वाली जलन को दूर करने के लिए आज हम आपको कुछ पेशाब में जलन की मेडिसिन की जानकारी देंगे जिनके प्रयोग से पेशाब मार्ग में होने वाली जलन से छुटकारा पाया जा सकता है। यह दवाइयां निम्नलिखित हैं

  • एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट
  • Soliact 10mg Table 
  • हिमालय रेनाल्का
  • अल्कसोल
  • Norflox 400 
  • युरिटोन सिरप 
  • neeri

Read Also : सर्दी जुकाम से हैं परेशान तो लीजिये ये दवा

एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट

एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट एक एंटीबायोटिक टैबलेट है। जिसका प्रयोग मूत्र मार्ग की समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है ऐसा माल में होने वाली जलन को ठीक करने के लिए एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट का प्रयोग किया जाता है एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट मूत्रमार्ग में संक्रमण का प्रभावी इलाज करता है। यह माइक्रोआर्गेनिज्म के विकास को रोककर संक्रमण का इलाज करता है। यह पेशाब और संक्रमण से संबंधित दर्द और परेशानी के लिए तुरंत या अनियंत्रित पेशाब को नियंत्रित करने के लिए इंटरनल मसल्स को आराम देता है एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट दवा से मिचली आना , उल्टी, पेट में दर्द , भूख न लगना, सिर दर्द, आदि जैसे कुछ साइड इफेक्ट हो सकते हैं पेशाब मार्ग में होने वाली जलन को ठीक करने के लिए इस टैबलेट का नियमित सेवन करना चाहिए।

teblet

एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट के फायदे

  • पेशाब में होने वाली जलन को दूर करने के लिए एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट का प्रयोग किया जाता है।
  • एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट का प्रयोग मूत्र मार्ग संक्रमण को रोकने के लिए किया जाता है।
  • गुर्दे की पथरी को दूर करने के लिए एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट क्या प्रयोग किया जाता है।
  • पेट के विभिन्न समस्याओं जैसे उल्टी पेट में दर्द भूख न लगना आज के लिए एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट का प्रयोग किया जाता है।
  • सर दर्द की समस्या को ठीक करने के लिए एज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट का प्रयोग किया जाता है।  

पेशाब में जलन की मेडिसिन Soliact 10mg Table 

Soliact 10 mg Table का प्रयोग मौत से संबंधित समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है। जिन व्यक्तियों में पेशाब मार्ग में जलन होती है उनके लिए Soliact 10 mg Table  एक रामबाण औषधि है जिसके प्रयोग से हिसाब मार्ग में होने वाली जलन ठीक हो जाती है। मूत्र संबंधी अन्य विकारों को ठीक करने के लिए इस टैबलेट का प्रयोग किया जाता है गुर्दे की पथरी तथा पेट की कुछ समस्याओं के लिए भी Soliact 10 mg Table  का प्रयोग करते हैं जिससे गुर्दे की पथरी व पेशाब में जलन की समस्या को जड़ से खत्म किया जा सकता है।

Soliact 10mg Table 

Soliact 10 mg Table के फायदे

  • Soliact 10 mg Table का प्रयोग पेशाब में जलन को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  •  यूरेथ्रा में संक्रमण को ठीक करने के लिए Soliact 10 mg Table का प्रयोग किया जाता है।
  •  गुर्दे के विभिन्न प्रकार की समस्याओं में Soliact 10 mg Table  का प्रयोग किया जाता है।
  • पेट में जलन तथा पाचन को ठीक करने के लिए भी Soliact 10 mg Table  का प्रयोग किया जाता है।

हिमालया रेनाल्का

पेशाब में जलन होने की दवा हिमालया कंपनी द्वारा बनाई जाने वाली रेनालका सिरप का प्रयोग संबंधी विकारों को ठीक करने के लिए किया जाता है। पेशाब में होने वाली जलन को दूर करने के लिए हिमालय रेनाल्का  का प्रयोग किया जाता है जिन व्यक्तियों में मौत संबंधी विकार जैसे मूत्र मार्ग में जलन होना दर्द होना आज समस्याएं होती हैं। हमको दैनिक रूप से  हिमालय रेनाल्का सिरप का प्रयोग करना चाहिए जिससे मूत्र मार्ग में होने वाले संक्रमण तथा जलन को ठीक किया जा सकता है। हिमालया रेनालका सिरप के द्वारा पेट की विभिन्न समस्याओं को भी ठीक किया जा सकता है इसका प्रयोग गुर्दे को चेक करने के लिए लिए भी किया जाता है।

हिमालय रेनाल्का

हिमालया रेनाल्का  सिरप के फायदे 

  • हिमालया रेनाल्का का प्रयोग ऐसा में होने वाली जलन को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • यूरोथ्रैठिस की समस्या को दूर करने के लिए हिमालय रेनाल्का  का प्रयोग किया जाता है।
  • मूत्रमार्ग के संक्रमण को रोकने के लिए हिमालय रेनाल्का  का प्रयोग करते हैं।
  • गुर्दे की विविध प्रकार की समस्याओं को ठीक करने के लिए हिमालय रेनाल्का  का प्रयोग किया जाता है।

ऐल्कैसोल ओरल

ऐल्कैसोल ओरल एक सिरप है जो पेशाब में होने वाली जलन को ठीक करती है तथा यूरेथ्रा में हुए इन्फेक्शन को ठीक कर के यह पेशाब संबंधी विभिन्न समस्याओं को जड़ से खत्म करती है ऐल्कैसोल ओरल सोल्यूशन एक दवा है जो गठिया और किडनी स्टोन के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है। यह शरीर में यूरिक एसिड का उत्पादन रोकता है और गठिया के अटैक को कम करता है तथा किडनी स्टोन की संभावनाओं की रोकथाम करता है जिन व्यक्तियों में मूत्र मार्ग संबंधी विकार होते हैं जिसमें पेशाब मार्ग में अत्यधिक जलन होना आज समस्याएं होती हैं। उनको दैनिक रूप से ऐल्कैसोल ओरल सिरप का प्रयोग करना चाहिए जिस से होने वाली समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।

ऐल्कैसोल ओरल

ऐल्कैसोल ओरल के फायदे

  • पेशाब में होने वाली जलन को रोकने के लिए ऐल्कैसोल ओरल सिरप का प्रयोग किया जाता है।
  •  पेशाब मार्ग में संक्रमण को खत्म करने के लिए ऐल्कैसोल ओरल  सिरप का प्रयोग किया जाता है।
  •  गुर्दे के विभिन्न प्रकार के समस्याओं आदि को समाप्त करने के लिएऐल्कैसोल ओरल  सिरप का प्रयोग करते हैं।
  • ऐल्कैसोल ओरल  सिरप का प्रयोग किडनी स्टोन को खत्म करने के लिए किया जाता है।
  • ऐल्कैसोल ओरल  सिरप का प्रयोग घटिया के दर्द को दूर करने के लिए किया जाता है।

Norflox 400

पेशाब में जलन की एलोपैथिक दवा नॉरफ्लोक्स 400 का प्रयोग पेशाब में जलन को दूर करने के लिए किया जाता है। पेशाब मार्ग में होने वाली जलन के साथ साथ अन्य मूत्र संबंधी विकारों को दूर करने के लिए नॉरफ्लोक्स 400  का प्रयोग किया जाता है। नॉरफ्लोक्स 400 एमजी टैबलेट (Norflox 400 MG Tablet) का उपयोग यूटीआई (मूत्र पथ के संक्रमण) के उपचार में किया जाता है। और यह दो कंपाउंड्स का संयोजन है, जिसका नाम है नॉरफ्लॉक्सासिन (एंटी-बैक्टीरियल) और लैक्टिक एसिड बेसिलस (प्रोबायोटिक)। यह एक प्रिस्क्रिप्शन दवा है और इसे चिकित्सकीय देखरेख में लिया जाना चाहिए। जिन व्यक्तियों में पेशाब मार्ग में जलन होती है यह दर्द होता है उनको दैनिक रूप से नॉरफ्लोक्स 400 टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए जिससे उनके पेशाब मार्ग में होने वाली समस्याएं समाप्त हो जाती हैं। 

Norflox 400

नॉरफ्लोक्स 400 के फायदे

  • नॉरफ्लोक्स 400 का प्रयोग पेशाब में होने वाली जलन को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • पेशाब में संक्रमण को रोकने के लिए नॉरफ्लोक्स 400  का प्रयोग किया जाता है।
  • जिन व्यक्तियों में गुर्दे की पथरी होती है उनको दैनिक रूप से नॉरफ्लोक्स 400 टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए।
  • गुर्दे की  अन्य समस्याओं के लिए नॉरफ्लोक्स 400  टेबलेट का प्रयोग किया जाना चाहिए।
  • पेट के विभिन्न समस्याओं जैसे पेट में दर्द पेट में जलन आदि को ठीक करने के लिए नियमित रूप से नॉरफ्लोक्स 400 टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए। 

युरिटोन सिरप

युरिटोन सिरप का प्रयोग मूत्र संबंधी विकार को ठीक करने के लिए किया जाता है  मूत्र मार्ग में जलन होने तथा दर्द होने की समस्या को ठीक करने के लिए युरिटोन सिरप  का प्रयोग किया जाता है आमतौर पर, इसका उपयोग ब्रोंकाइटिस, मूत्र पथ के संक्रमण, कान, गले या नाक में विकसित होने वाले संक्रमण और सूजाक जैसे संक्रमणों के इलाज के लिए किया जाता है। यह बैक्टीरिया को आगे बढ़ने से नहीं बल्कि इन संक्रमणों का इलाज करता है। यह दवा टैबलेट और सिरप के रूप में भी उपलब्ध है  जिन व्यक्तियों में मूत्र मार्ग संबंधी विकार होते हैं तथा उनके मूत्र मार्ग में जलन या दर्द होता है उनको दैनिक रूप से युरिटोन सिरप तथा टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए इसके दैनिक प्रयोग से होने वाली मूत्र मार्ग की समस्या को ठीक किया जा सकता है।

युरिटोन सिरप

युरिटोन सिरप के फायदे

  • पेशाब में जलन होने की समस्या को ठीक करने के लिए युरिटोन सिरप तथा टेबलेट  का प्रयोग किया जाता है।
  • युरिटोन सिरप तथा टेबलेट  का प्रयोग यूरेथ्रा में हुए संक्रमण को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • किडनी संबंधी विकारों को दूर करने के लिए भी युरिटोन सिरप तथा टेबलेट का प्रयोग किया जाता है।
  • युरिटोन सिरप तथा टेबलेट का प्रयोग किडनी में होने वाले स्टोन को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • पेट में पाचन संबंधी तथा दर्द आर्य को ठीक करने के लिए युरिटोन सिरप तथा टेबलेट का प्रयोग करते हैं।

Neeri टेबलेट

Neeri टेबलेट का प्रयोग  पेशाब की जलन को रोकने के लिए किया जाता है नीरी टेबलेट मुख्य रूप से गुर्दे की पथरी को दूर करने के लिए बनाई गई है गुर्दे की पथरी को दूर करने के साथ-साथ मूत्र मार्ग में होने वाले संक्रमण को भी समाप्त करती है इसलिए इसका प्रयोग पेशाब मार्ग में होने वाली जलन को ठीक करने के लिए भी किया जाता है  जिन व्यक्तियों में पेशाब मार्ग में जलन होती है तथा मूत्र मार्ग में किसी भी प्रकार का संक्रमण होता है उनको दैनिक रूप से neeri टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए neeri टेबलेट तथा सिर्फ दोनों रूपों में उपलब्ध होती है जो की मौत संबंधी विकारों को बहुत अच्छी तरह से समाप्त कर देती है।

Neeri टेबलेट

Neeri के फायदे

  • Neeri का प्रयोग पेशाब मार्ग में होने वाली जलन को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • गुर्दे की पथरी को दूर करने के लिए neeri टेबलेट व सिरप का प्रयोग किया जाता है।
  • गुर्दे की बीमारियों को दूर करने के लिए neeri का प्रयोग किया जाता है।
  • शीघ्रपतन, शीघ्र स्खलन तथा सफेद पानी को रोकने के लिए neeri  टेबलेट तथा सिरप का प्रयोग किया जाता है।
  • कामेच्छा को बढ़ाने के लिए neeri  टेबलेट तथा सिरप का प्रयोग करते हैं।

पेशाब में जलन की घरेलू दवा

भारतीय घरों में प्रयोग किए जाने वाले खाद्य पदार्थों में औषधीय गुणों का भंडारण होता है। भारती घर्रों में बहुत सारे ऐसे मसाले तथा खाद्य पदार्थ प्रयोग किए जाते हैं जिनमें आयुर्वेदिक औषधि गुण होते हैं। औषधीय गुण होने के कारण इनका प्रयोग विभिन्न प्रकार की दवाओं के निर्माण में किया जाता है। जिन व्यक्तियों में पेशाब मार्ग में जलन की समस्या होती है उनको घर में उपस्थित कुछ खाद्य पदार्थों का प्रयोग करके पेशाब में मार्ग में होने वाले दर्द व जलन  को ठीक किया जा सकता है। उपर्युक्त बताए गए आयुर्वेदिक तथा एलोपैथिक दवाओं के साथ-साथ निम्नलिखित घरेलू विधियों द्वारा भी पेशाब मार्ग में होने वाली जलन को रोका जा सकता है यह खाद्य पदार्थ निम्नलिखित हैं।

  • पुनर्नवा का काढ़ा
  • मोती पिष्ठी
  • गिलोय के फायदे
  • चंदन का शरबत
  • खस का शरबत
  • धनिया पानी 
  • सिरका
  • बादाम और इलायची

पेशाब मार्ग में जलन होने पर निम्नलिखित  कुछ अन्य प्रकार की सावधानियां तथा दवाओं का सेवन किया जा सकता है जो निम्नलिखित हैं

  • पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।
  • नींबू पानी और पुदीना अर्क का सेवन करें।
  • फलों का जूस पिएं।
  • ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियों का सेवन करें।
  • नारियल पानी का सेवन करें।
  • अर्ध हलासन करे यह भी इस समस्या में फायदा पहुँचाता है।
  • योग से भी लाभ होगा इसके लिए वायु मुद्रा लगाकर प्राणायम करे।
  • चन्द्रप्रभा वटी का सेवन बार-बार पेशाब आने की दिक्कत दूर करती है।
  • अश्विनी मुद्रा करना भी लाभकारी है। इसे लेटकर किया जाये तो ज्यादा फायदा होगा।
  • बहुमूत्रान्त्रक रस जो एक प्रकार की गोली है इसके सेवन से फायदा होगा।
  • आमलकी रसायन का प्रयोग भी कर सकते है।

यह भी देखें : पथरी की देशी दवा | रामबाण देशी इलाज

निष्कर्ष

पेशाब मार्ग में होने वाली जलन से विभिन्न प्रकार की समस्याएं शरीर में होती हैं जैसे पेशाब मार्ग में संक्रमण होना यूरेथ्रा में दर्द होना तथा विभिन्न प्रकार की अन्य समस्याएं हो जाती हैं। इन समस्याओं से बचने के लिए आज  हमने आपको उपर्युक्त लेख में  कुछ पेशाब में जलन की आयुर्वेदिक दवा,एलोपैथिक दवा तथा कुछ घरेलू नुस्खा बताया है जिनका प्रयोग करके आप अपने पेशाब मार्ग में होने वाली जलन की समस्या को जड़ से समाप्त कर सकते हैं इन दवाओं का प्रयोग करने के लिए डॉक्टर की सलाह लेना बहुत ही आवश्यक होता है क्योंकि डॉक्टर आपके शरीर की संरचना के अनुसार आपको दवा तथा दवा की मात्रा का परामर्श देते हैं जिससे दवाइयां अतिशीघ्र फायदा करती है।

लोगों द्वारा पूछे गए कुछ प्रश्न

पेशाब के रास्ते में जलन हो तो क्या करें?

यदि आपको पेशाब के रास्ते में जलन होती है तो उससे बचने के लिए उपर्युक्त लेख में हम ने विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक एलोपैथिक दवा घरेलू दवाइयों का वर्णन किया है उपर्युक्त लेख के अध्ययन के अनुसार दवाओं का प्रयोग करके पेशाब के रास्ते में होने वाली जलन को ठीक किया जा सकता है। 

पेशाब में जलन की अंग्रेजी दवा क्या है?

पेशाब मार्ग में जलन को ठीक करने के लिए उपर्युक्त लेख में विभिन्न प्रकार की अंग्रेजी दवा का वर्णन किया गया हैएज़ोफ़्लॉक्स यूटीआई टैबलेट, Soliact 10mg Table, हिमालय रेनाल्का, अल्कसोलआदि मुख्य हैं जिनका प्रयोग करके पेशाब मार्ग में होने वाली जलन को ठीक किया जा सकता है इन दवाओं का प्रयोग किडनी संबंधी अन्य समस्याओं के लिए भी किया जा सकता है जिनका प्रयोग आप अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार कर सकते हैं। 

पेशाब की नली में जलन क्यों होती है?

पेशाब मार्ग में विभिन्न प्रकार के कारणों से जलन हो सकती है जिसमें हम पानी पीना पेशाब को अधिक देर तक रोक के रखना आज हो सकते हैं पेशाब करते समय दर्द और जलन होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि मूत्रमार्ग में संक्रमण (यूटीआई), किसी दवा के सेवन के कारण (जैसे कीमोथेरेपी की दवा), ओवरी में सिस्‍ट या गुर्दे में पथरी, योनि में संक्रमण, किसी केमिकल, यौन रूप से संक्रामित संक्रमण, पेल्विक हिस्‍से में रेडिएशन थेरेपी लेने, यूरीनरी कैथेटर। यदि आप के पेशाब मार्ग में जलन होती है उपर्युक्त लेख में पेशाब में जलन की आयुर्वेदिक दवा का वर्णन किया गया है उपर्युक्त लिख के अध्ययन से दवाओं का प्रयोग करते हुए पेशाब में होने वाली जलन को ठीक किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.