स्वप्नदोष की रामबाण दवा

स्वप्नदोष की समस्या से हैं परेशान – स्वप्नदोष की रामबाण दवा , जो है पूरी तरह से आयुर्वेदिक, सुरक्षित और असरदार

पुरुषों में रात को सोते समय बिना किसी सेक्स किया है इसमें हो जाना तो चलाता है स्वप्नदोष दो शब्दों से मिलकर बना है पहला शब्द है स्वप्न दूसरा दोष जिसका मतलब है कि रात को सोते समय सपने में किसी कारण से होने वाले विकास के कारण जिसमें पुरुष लिंग से वीर्यपात हो जाता है अर्थात मनुष्य के लिंग से वीर मामा जी अचेत अवस्था में ही निकल जाता और जब पुरुष सुबह उठता है तो वह अपने अंडर वियर में चिपचिपा का महसूस करता है और देखता है कि वह स्खलित हो गया है आज के इस लेख में हम आपको स्वप्नदोष की रामबाण दवा के साथ स्वप्नदोष के फायदे और नुकसान की जानकारी देंगे जिसके प्रयोग से आप अपने स्वास्थ्य को सुधार पाएंगे। 

स्वप्नदोष

स्वप्नदोष क्या है

स्वप्नदोष महिला या पुरुष किसी को भी हो सकता है, लेकिन आमतौर पर यह पुरुषों में ज्यादा देखा जाता है। स्वप्नदोष का मुख्य कारण सपने में सेक्शुअली एक्टिविटी से संबंध होता है। इसके अलावा आपके सोने की पोजीशन या कपड़ों की वजह से पेनिस इरेक्ट होने पर भी व्यक्ति के शरीर में उत्तेजना बढ़ती है और वीर्य स्खलित हो जाता है। लेकिन, यह जरूरी नहीं कि स्वप्नदोष के लिए आपका पेनिस इरेक्ट हो, यह बिना किसी उत्तेजना के भी हो सकता है। पुरुषों में आमतौर पर, स्वप्नदोष हफ्ते में कभी-कभी या किसी निश्चित स्थिति में हो सकता है। जिससे, नींद से उठने के बाद आपको अपने अंडरवियर या पजामे पर वेट पैच (Wet Patch) दिख सकता है। स्वप्नदोष के फायदे और नुकसान भी बहुत अधिक हैं।

नाइटफॉल के बारे में क्या कहते हैं डॉक्टर

डॉक्टर आपको कई निवारक उपायों के बारे में बताएँगे, जो नाइटफॉल की होने वाली घटनाओं को कम करने में मदद कर सकते हैं। कुछ निवारक उपायों में मसालेदार भोजन से बचना, उचित आहार और व्यायाम जैसे टहलना, बिस्तर पर जाने से पहले पेशाब करना, पोर्न से बचना, कब्ज से बचना, अच्छी किताबें पढ़ना और सोने से पहले सुखदायक संगीत सुनना शामिल हैं। जो लोग टेस्टोस्टेरोन दवाएं ले रहे हैं उन्हें रात में होने वाली परेशानी से बचने के लिए दवाएं लेना बंद कर देना चाहिए या इसकी डोज़ कम कर देनी चाहिए।

स्वप्नदोष के लक्षण

  • बेचैनी।
  • इमोशनल डिस्टर्बेंस।
  • पेशाब करने में कठिनाई।
  • रात में पसीना आना।
  • अनिद्रा।
  • कभी-कभी व्यक्ति को याददाश्त संबंधी समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।

आइये जाने स्वप्नदोष होने के कारण 

हमारा दिमाग दो भागों में काम करता है पहली स्थिति में हम जागते हुए जो कार्य करते हैं दिमाग उनको रीड करता रहता है और दूसरी स्थिति में यदि जाते हुए कोई कार्य करते हैं और उसके बाद सो जाते हैं तो शुद्ध अवस्था में थी हमारा दिमाग उसी तरह कार्य करता रहता है जिसके पश्चात जगी हुई अवस्था किए गए कार कौन शब्द अवस्था में दिमाग तो रहता है और उन्हें पूरा करता है यदि हम किसी के साथ संभोग करने की कल्पना करते हैं और कल्पना करते करते अब सो जाते हैं तो हमारा दिमाग उस कार्य को अपने आप आगे करता रहता है जिसके कारण स्वप्नदोष से बीमारियां होती हैं

स्वप्नदोष होने के कारण 

स्वपनदोष निम्नलिखित कारणों से होता है 

  • वासनायुक्त सोच या कल्पना
  • सम्भोग की चाहत
  • अत्याधिक हस्तमैथुन
  • गलत जीवनशैली

वासनायुक्त सोच या कल्पना

यदिआप सोने से पहले किसी लड़की या अपने दूर रहने वाले जीवनसाथी के साथ सेक्स वासना की कल्पना करते हैं तो सोने के बाद हमारा दिमाग पूर्व में हुई सेक्स क्रियाओं की कल्पना और पुनरावृति करता है आप सोने के बाद सपने में मानसिक रूप से किसी महिला जिसके बारे में आपने सोने से पहले सोचा था के साथ सेक्स या अन्य सेक्सुअल क्रियाएं करता है व कुछ समय बाद लिंग स्खलित हो जाता है जिसे स्वप्नदोष कहते हैं।

सम्भोग की चाहत

पोर्न वीडियो देखना

यदि हम किसी महिला को देखते हैं और देखने के बाद हम उस पर मोहित  हो जाते हैं और उसके साथ विभिन्न प्रकार की सेक्सुअल क्रियाएं करने की मानसिक सोच बना लेते हैं  हमारा दिमाग सोते समय मानसिक सोच को वास्तविक समझ कर संभोग के लिए तैयार होता है या हम किसी महिला साथी के साथ सेक्स से संबंधित बातचीत करते हैं तो हमारा दिमाग की परिकल्पना करता है और सेक्स के लिए तैयार हो जाता है कभी-कभी सोते समय ऐसा प्रतीत होता है कि वास्तविक रूप में किसी के साथ सेक्स क्रिया कर रहे हैं जिससे स्खलन हो जाता इसे स्वप्नदोष सकते हैं।

अत्याधिक हस्तमैथुन

यदि कोई पुरुष अत्यधिक हस्तमैथुन करता है अर्थात जब आप नियमित रूप हस्तमैथुन करते हैं और एक हस्तमैथुन के बाद दूसरे हस्तमैथुन मैं गैप नहीं रहता है तो लिंग की नसों में कमजोरी आ जाती है लिंग की नसों में कमजोरी होने के कारण लिंग से वीर्य अपने आप स्खलित होने लगता है अत्यधिक हस्तमैथुन करने के कारण पुरुषों में अन्य शारीरिक कमजोरियां हो जाती हैं पुरुष शीघ्रपतन का शिकार हो जाते हैं और उनके लिंग में पर्याप्त तनाव नहीं आता है।

गलत जीवनशैली

यदि पुरुष गलत संगत में पड़ जाता है तो दैनिक जीवन में विभिन्न प्रकार के गलत कार्य करने लगता है जिसमें पोर्न वीडियो देखना, पुरुष-पुरुष के साथ अश्लील बातें करना, किसी महिला के साथ अश्लील बातें करना या अश्लील फोटो देखना आदि प्रकार के कार्य करने लगता है जिससे पुरुषों में स्वप्नदोष की समस्या शुरू हो जाती है। 

पोर्न वीडियो देखना

स्वप्नदोष के लक्षण (Nightfall Symptoms)

  • मध्य-किशोर अवस्था के दौरान वीर्य बनना और निकलना आरंभ हो सकता है और nocturnal emission या स्वप्न दोष के रूप में बाहर निकल सकता है।
  • इससे पता चलता है कि किशोर प्रजनन के लिए परिपक्व हो गया है।
  • यह सामान्य घटना है और इसके लिए किसी उपचार की आवश्यकता नहीं होती।
  • हालांकि अनेक किशोर इसके बारे में तनाव में होते हैं तथा उपचार के लिए चले जाते हैं जो उनके स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक हानिकारक हो सकता है।
  • हस्तमैथुन के बाद होने वाले स्वप्न दोष में रोगी बेहद कमजोरी महसूस करने लगता है।
  • रोगी का तनाव बढ़ता जाता है।
  • घबराहट, एकाग्रता की कमी, किसी भी कार्य में उत्साह न रहना, शिथिलता, स्नायु दुर्बलता, धातुक्षीणता, राह चलते-चलते अचानक आंखों के आगे अंधेरा छा जाना (कमजोरी) आदि के लक्षण रोगी में पाये जा सकते हैं।

स्वप्नदोष की रामबाण दवा और इलाज

स्वप्नदोष एक मानसिक बीमारी है जो मानव मस्तिष्क में होने वाली विभिन्न प्रकार की काल्पनिक क्रियाओं के कारण होती है यह काल्पनिक क्रियाएं  मस्तिष्क द्वारा वास्तविक रूप में कितने के कारण स्वप्नदोष तहसील समस्या बंद होती है इसमें मानव मस्तिष्क के द्वारा अनैच्छिक क्रिया को ऐच्छिक तरीके से किया जाता है जिसके परिणाम स्वरूप स्वप्नदोष हो जाता है स्वप्नदोष के इलाज के लिए निम्नलिखित विधियों का प्रयोग किया जा सकता

  • स्वप्नदोष की आयुर्वेदिक दवा
  • स्वप्नदोष का अंग्रेजी दवा
  • स्वप्नदोष का व्यायाम के माध्यम से इलाज

स्वप्नदोष की आयुर्वेदिक दवा

स्वप्नदोष का आयुर्वेदिक इलाज करने के लिए विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का उपयोग किया जाता है भारतीय आयुर्वेद विश्व का सबसे पुराना भारतीय आयुर्वेद का वर्णन भारतीय वेद और पुराणों में देखने को मिलता है भारतीय आयुर्वेद के पास था प्रकार के रोग की आयुर्वेदिक दवा उपलब्ध है भारतीय आयुर्वेद में विभिन्न प्रकार की संस्था में अपना बहुमूल्य योगदान देते हुए दवाओं का निर्माण किया है जिसमें पतंजलि वैद्यनाथ डाबर आदि हैं इंसानों द्वारा स्वप्नदोष के लिए विभिन्न प्रकार की दवाइयों का निर्माण किया गया है जिनका प्रयोग करके हम अपने जीवन से स्वप्नदोष से बीमारी को बाहर निकाल सकते हैं यह दवाइयां निम्नलिखित हैं

  • अश्वगंधा पाउडर या कैप्सूल
  • शतावरी चूर्ण
  • लाजवंती
  • ब्रह्मदंडी
  • कौंच बीज
  • गिलोय घनवटी (giloy ghanvati)
  • अलोवेरा स्वरस (Alovera juice)
  • आंवला स्वरस (Amla juice )
  • चंद्रप्रभा वटी (Chandraprabha Vati)
  • शिलाजीत

अश्वगंधा पाउडर या कैप्सूल

अश्वगंधा एक तरह से आयुर्वेदिक पौधा है जिसके पत्तों की जगह उसकी जड़ का इस्तेमाल किया जाता है. खाने में इसका स्वाद बेहद तीखा होता है लेकिन इसके अनगिनत फायदों के चलते बाज़ार में इसकी मांग दिनों दिन बढती नजर आ रही है बाजार में अश्वगंधा चूर्ण व टेबलेट दोनों उपलब्ध हैं अश्वगंधा औषधीय गुणों की खान है अश्वगंधा में अनेक प्रकार के औषधि गुण होते हैं जो शरीर की अनेक बीमारियों को नष्ट करते हैं अश्वगंधा का नियमित सेवन करने से शरीर में दुर्बलता समाप्त हो जाती है इसके दैनिक प्रयोग से स्वप्नदोष जैसी बीमारी ठीक हो सकती है स्वप्नदोष जैसी बीमारी को ठीक करने के साथ साथ पेनिस साईज बढ़ने की अच्छी दवा है अश्वगंधा का प्रयोग शारीरिक शक्ति को मजबूत बनाने में किया जाता है

अश्वगंधा

अश्वगंधा की प्रयोग विधि

  • शीघ्रपतन की समस्या में अश्वगंधा का प्रयोग चूर्ण के रूप में किया जाता है।
  •  अश्वगंधा चूर्ण को दूध के साथ लेने से स्वप्नदोष जैसी समस्या दूर होती है।
  •  अश्वगंधा के साथ शहद मिलाकर नियमित लेने से शारीरिक शक्ति मिलती है।
  • अश्वगंधा चूर्ण के अलावा अश्वगंधा चाय, अश्वगंधा कैप्सूल, भी पतंजलि आयुर्वेदा द्वारा बनाए जाते हैं, जिनका उपयोग करके  स्वप्नदोष जैसी समस्या में आराम मिल सकता है।

शतावरी चूर्ण

शतावरी एक आयुर्वेदिक औषधि (Ayurvedic Herb) है जो कई बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है।  इस जड़ी-बूटी का आकार बेल जैसा होता और पारम्परिक भारतीय चिकित्सा पद्धति में शतावरी (Shatavari) को काफी इस्तेमाल किया जाता है।शतावरी को खास बनाते हैं इसके पोषक तत्व। जी हां, शतावरी में फाइबर और कैल्शियम के अलावा विटामिन ए, विटामिन बी 6, विटामिन सी, विटामिन ई, प्रोटीन,विटामिन के, आयरन और फोलेट मिलता है।शतावरी चूर्ण में विभिन्न प्रकार के औषधीय गुण होने के कारण इसका प्रयोग विभिन्न प्रकार के सेक्स समस्याओं से निपटने के लिए किया जाता है। शतावरी चूर्ण का प्रयोग महिलाओं में होने वाले सफ़ेद पानी की समस्या की दवा के लिया भी किया जाता है

शतावरी चूर्ण

 पतंजलि शतावर वटी की उपयोग विधि

  • 10 से 20 एमएल सतावर रस का उपयोग नियमित करना चाहिए
  • 50 से 100 एमएल काढ़ा का प्रयोग कर सकते हैं
  • शतावर चूर्ण का नियमित सेवन किया जा सकता है
  •  शतावरी के अधिक प्रभाव के लिए डॉक्टर से सलाह लें और डॉक्टर द्वारा दी गई सलाह के अनुसार ही दिव्य पतंजलि शतावरी का प्रयोग करें

स्वप्नदोष की सबसे अच्छी दवा लाजवंती

लाजवंती

पेड़ पौधों में कई तरह के औषधीय गुण होते हैं  जिस कारण उनके फूल, बीज, पत्ते, टहनियां और जड़ो को सदियों से आयुर्वेद में दवाई की तरह इस्तेमाल किया जाता आ रहा है। इन्हीं औषधीय पौधों में से एक लाजवंती (छुईमुई) भी है। लाजवंती को कई समस्याओं से निपटने के लिए आयुर्वेदिक दवाई के रूप में भी उपयोग किया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार लाजवंती का लाभ कई बीमारियों के इलाज में मिलता है जैसे की कुष्ठ रोग, योनी और गर्भाशय की बीमारियों को कम करने में, पेचिश, जलन, थकान, अस्थमा, ल्यूकोडर्मा, खून की बिमारियों के इलाज में इसका  उपयोग होता है लाजवंती की टैबलेट सुहाग पाउडर बाजार में उपलब्ध है जिनका उपयोग स्वप्नदोष ऐसी समस्या से निपटने के लिए किया जाता है यदि आप से लाजवंती का प्रयोग करते हैं निश्चित रूप से स्वप्नदोष से लाभ मिलेगा।

ब्रह्मदंडी

ब्रह्मदंडी

इसका पौधा लगभग 30 से 100 सेमी0 ऊचाँ तथा कण्टकों से युक्त होता है। इसके पुष्प शाखा के अग्र भाग पर लगे हुए गोल, खिलने पर कटोरी की आकृति के जैसे, बैंगनी, गुलाबी, नारंगी या भूरे रंग के तथा गंधयुक्त होते हैं। पुष्पों के चारों ओर बारीक एवं कोमल कांटे रहते हैं। क्षुप के मध्य भाग से एक लम्बी डंडी निकलती है, जिसके अग्रभाग पर घुंडी के आकार के लम्बे, गोल, चिकने तथा भूरे रंग के, कंटकयुक्त फल होते हैं। ब्रह्मदण्डी तिक्त, कटु, उष्ण, कफवातशामक, शोथ, वातव्याधिशामक, कफनिसारक, उत्तेजक, प्रतिविषकारक, वातानुलोमक, दुर्गंधरोधी, हृद्य, विरेचक, बलकारक, ज्वरघ्न, भेदक तथा कास नाशक होती है।ब्रह्मदंडी का नियमित प्रयोग करके स्वप्नदोष जैसी बीमारी से लाभ लिया जा सकता है यह स्वप्नदोष की सबसे अच्छी दवा है।

ब्रह्मदंडी की उपयोग विधि

12 ग्राम ब्रह्मदण्डी पञ्चाङ्ग, 6 ग्राम रसांजन तथा 6 ग्राम मिश्री को 120 मिली जल में घोलकर, वत्र से छानकर 10-15 मिली मात्रा में सेवन करने से दुसाध्य प्रदर में भी शीघ्र लाभ होता है।

कौंच बीज

कौंच के बीज

कौंच का बीज एक आयुर्वेदिक पौधा है जो कि भिन्न प्रकार की दवाइयों के बनाने में प्रयोग किया जाता है इसका प्रयोग विभिन्न प्रकार की औषधियां बनाने में किया जाता है यह औषधियां शरीर के विकारों को नष्ट करती हैं इसका प्रयोग पुरुष बांझपन मिटाने में भी किया जाता है कौंच के बीज के सेवन से स्वप्नदोष जैसी बीमारी को ठीक किया जा सकता है इसका नियमित सेवन करने से स्वप्नदोष की बीमारी को हमेशा के लिए ख़त्म किया जा सकता है।

गिलोय घनवटी (giloy ghanvati)

गिलोय

गिलोय घनवटी पद्धति में पाया जाने वाला एक पौधा होता है इसमें बहुत अधिक मात्रा में आयुर्वेदिक तत्व पाए जाते हैं गिलोय का प्रयोग विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक दवा बनाने में किया जाता है गिलोय का प्रमुख प्राचीन काल से ही आयुर्वेद में किया जा रहा है गिलोय का प्रयोग विभिन्न प्रकार की दवा बनाने में किया जाता है गिलोय में एंटीबायोटिक एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं इसके साथ-साथ इसमें शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने की क्षमता बहुत अधिक होती है गिलोय का प्रयोग नियमित रूप से करने पर स्वप्नदोष जैसी बीमारी को खत्म किया जा सकता है यदि आपको  स्वप्नदोष की बीमारी है इसके नियमित सेवन से आप स्वप्नदोष की बीमारी को खत्म कर सकते हैंपतंजलि आयुर्वेद द्वारा गिलोय की गोलियां उपलब्ध हैं जिनको गिलोय घनवटी कहते हैं

एलोवेरा स्वरस (Alovera juice)

एलोवेरा एक ऐसा होता है जिसमें बहुत अधिक मात्रा में हैं शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने वाले तत्व पाए जाते हैं एलोवेरा की तासीर ठंडी होने के कारण इसका प्रयोग पेट के सभी भाइयों ने किया जा सकता है एलोवेरा का प्रयोग एंटीबायोटिक एंटीसेप्टिक घोड़ों के होने के कारण सेक्स से संबंधित सभी बीमारियों में किया जाता है एलोवेरा का प्रयोग प्राचीन काल से आयुर्वेद में होता आ रहा है बाजार में विभिन्न प्रकार के एलोवेरा जूस उपलब्ध हैं एलोवेरा जूस के नियमित सेवन से स्वप्नदोष जैसे बीमारी को खत्म किया जा सकता है यदि आपको सब दोस्त की समस्या है तो एलोवेरा का नियमित सेवन करें इससे अति शीघ्र लाभ मिलेगा

एलोवेरा स्वरस

एलोवेरा की प्रयोग विधि

  •  गुदा के बाहर के मस्सों में एलोवेरा जेल लगाएं।
  • एलोवेरा जेल जलन और खुजली को शांत करता है।
  • एलोवेरा के 200-250 ग्राम गूदे को खाएं, इससे कब्ज नहीं होगी और मलत्यागने में आसानी होगी।
  • एलोवेरा जेल का गोदा पेट को ठंडक पहुंचाता जिस से कभी नहीं होता है और या और सिर में फायदा करता है।

आंवला स्वरस (Amla juice )

आंवला स्वरस

आंवला प्रकट में पाया जाने वाला एक ऐसा फल है जिसमें खट्टा एवं कसैला स्वाद होता है इसका प्रयोग बहुत अधिक मात्रा में आयुर्वेदिक दवाओं के निर्माण में किया जाता है प्रकृति में पाए जाने वाले सभी आयुर्वेद दिख तत्व लगभग आमला में पाए जाते हैं आंवला पेड़ से संबंधित सभी बीमारियों में प्रयुक्त किया जाता है आंवला का प्रयोग प्राचीन काल से ही सेक्स के संबंधित दवाओं में किया जाता है आंवला रस पेट के विकार हो खत्म करता है आंवले में अधिक मात्रा में शरीर की इम्यूनिटी शक्ति को बढ़ाने की क्षमता होती है इसलिए आंवला विभिन्न प्रकार के रोगों को खत्म करता है आंवले के नियमित सेवन से स्वप्नदोष से से बीमारी से आराम मिल सकता है यदि आप स्वप्नदोष जैसी बीमारी से पीड़ित हैं तो आंवले का नियमित सेवन करें जिससे आपको निश्चित रूप से लाभ मिलेगा

चंद्रप्रभा वटी (Chandraprabha Vati)

चंद्रप्रभा वटी शरीर से यूरिया और क्रिएटिनिन जैसे विषाक्त पदार्थों को खत्म करने को बढ़ावा देती है । यह किडनी के कार्य को बहाल करता है, और अतिरिक्त यूरिक एसिड को बाहर निकालने में मदद करता है। पतंजलि दिव्य चंद्रप्रभा वटी पतंजलि आयुर्वेदा का एक ऐसा उत्पाद है, जो विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्या व मूत्र विकार को दूर करता है। यदि आपके शरीर में कमजोरी है और आपका शरीर सेक्स क्रिया के लिए तैयार नहीं हो पाता है, तो आप पतंजलि की दिव्य चंद्रप्रभा वटी के नियमित सेवन से अपने शरीर के अंदर शक्ति स्फूर्ति व ताकत प्राप्त कर सकते हैं।यदि आप नियमित रूप से चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग करते हैं तो रखना दोस्ती ऐसी बीमारी से आराम मिलेगा तथा  शिघ्रपतन का  भी उपचार पतंजलि  दिव्य चंद्रप्रभा वटी द्वरा किया जा सकता है।

चंद्रप्रभा वटी

पतंजलि दिव्य चंद्रप्रभा वटी की प्रयोग विधि

  •  दिव्य चंद्रप्रभा वटी की गोलियां सुबह-शाम लेनी चाहिए।
  •  दिव्य चंद्रप्रभा वटी की एक गोली दूध के साथ सुबह शाम ले सकते हैं। 
  • दिव्य चंद्रप्रभा वटी का सेवन लगातार तीन महीने तक करने से शरीर की समस्त बीमारियां दूर हो जाती हैं। 
  • दिव्य चंद्रप्रभा वटी की  250 से 500 मिली डोज नियमित रूप से 3 महीने तक ली जा सकती है।
  • पतंजलि दिव्य चंद्रप्रभा वटी के अच्छे रिजल्ट के लिए इसके उपयोग के विधि को डॉक्टर की सलाह से भी ले सकते हैं उत्तम रिजल्ट के लिए डॉक्टर की परामर्श अवश्य लें।

शिलाजीत 

शिलाजीत एक ऐसा आयुर्वेदिक पदार्थ है जिसका प्राचीन काल से आयुर्वेद में प्रयोग किया जाता है शिलाजीत का नाम लेते ही लोग सेक्स से संबंधित दवाओं के बारे में सोचने लगते हैं। शिलाजीत एक ऐसा पदार्थ है जो शरीर को शक्ति प्रदान करता है। शिलाजीत में सेक्स समस्याओं से निपटने के लिए बहुत सारे गुण पाए जाते हैं। जिन पुरुषों के लिंग में पर्याप्त उत्थान नहीं आता या उनका लिंग ढीला रहता है, और वह सेक्स करते समय सेक्स जीवन का आनंद नहीं ले पाते हैं या वे अपने जीवन साथी को संतुष्ट नहीं कर पाते हैं और सेक्स के समय उन्हें बिस्तर में शर्मिंदगी महसूस होती है ऐसे लोगों को शिलाजीत का नियमित प्रयोग करना चाहिए। जो उनको सेक्स समस्याओं से बचाएगा, इन सभी परेशानियों के साथ-साथ च शिलाजीत अधिक देर सेक्स करने के लिया भी रामबाण दवा है  शिलाजीत के नियमित प्रयोग स्वप्नदोष की रामबाण दवा की तरह कार्य करता है। शिलाजीत एक ऐसा पदार्थ है जो शीघ्रपतन की समस्या से बचाता है।

शिलाजीत 

जाने शिलाजीत के उपयोग
  • एक से दो चम्मच शिलाजीत का प्रयोग नियमित रूप से कर सकते हैं।
  •  शिलाजीत को एक से दो चम्मच गर्म दूध के साथ लिया जा सकता है।
  •  शिलाजीत के नियमित प्रयोग को सुबह-शाम गर्म पानी या गर्म दूध के साथ करना चाहिए।
  • स्वप्नदोष को रोकने के लिए शिलाजीत का प्रयोग 75 दिनों तक लगातार किया जा सकता है।

स्वप्नदोष का अंग्रेजी दवा

आयुर्वेदिक दवाइयां स्वास्थ्य किए लगता है कि हम साइड इफेक्ट से बचाते हैं उपर्युक्त दी गई आयुर्वेदिक दवाइयां स्वपनदोष  को ठीक करने के लिए उपयुक्त दवाइयां हैं लेकिन यदि आप उपर्युक्त दी हुई सभी दवाइयों का सेवन कर चुके हैं आप और आपको स्वप्नदोष से राहत नहीं मिली है तो आप निम्नलिखित अंग्रेजी दवाइयों का भी प्रयोग कर सकते हैं किंतु अंग्रेजी दवाइयों के प्रयोग से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें डॉक्टर की परामर्श के अनुसार ही अंग्रेजी दवाइयों का प्रयोग करें जिससे आपको कोई भी साइड इफेक्ट ना हो और आप स्वस्थ रहते हुए स्वपनदोष जैसी बीमारी को खत्म करें आइए आज हम आपको बताएंगे स्वप्नदोष की टेबलेट जल का प्रयोग करके आप इस बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं

  • Alprazolam
  • Clonzapam
  • Nitrazapam
  • Chlorpromazine

स्वप्नदोष की टेबलेट Alprazolam

Alprazolam

Alprazolam दवा benzodiazepines  ग्रुप की एक दवा है जिसका प्रयोग दिमाग से एक्स्ट्रा एक्साइटमेंट खत्म करना होता है यदि इस दवा का प्रयोग हम नियमित रूप से करते हैं तो निश्चित रूप से ही स्वप्नदोष जैसी बीमारी से आराम मिल सकता है किंतु Alprazolam के प्रयोग के पहले अपने डॉक्टर से दवा के बारे में एवं उसके उपयोग इसकी जानकारी कर ले उसके बाद ही दवा का प्रयोग करें डॉक्टर आपको आपकी बीमारी के अनुसार दवा का उपयोग बताएंगे जिससे  आपको स्वप्नदोष जैसी बीमारी से शीघ्र राहत मिल जाएगी Alprazolam की टेबलेट स्वप्नदोष की रामबाण दवा है 

स्वप्नदोष की सबसे अच्छी दवा Clonzapam

Clonzapam

Clonzapam का प्रयोग स्वप्नदोष से पीड़ित व्यक्ति के लिए किया जाता है Clonzapam नियमित प्रयोग करने से स्वप्नदोष की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है किंतु Clonzapam दवा के एलोपैथिक गुणों को जानने के लिए सबसे पहले डॉक्टर से संपर्क करें डॉक्टर के बताया गए परामर्श के अनुसार इस दवा का सेवन शुरू करें डॉक्टर आपके रोग एवं आप की शारीरिक संरचना के अनुसार दवा के प्रयोग के बारे में बताएंगे और आप निश्चित रूप से स्वप्नदोष बीमारी से छुटकारा आ जाएंगे Clonzapam स्वप्नदोष का अंग्रेजी दवा अछि दवा है 

स्वप्नदोष का अंग्रेजी दवा Nitrazepam

Nitrazepam

Nitrazepam दवा का प्रयोग डॉक्टर मस्तिष्क के अनियंत्रित हो जाने पर करते हैं Nitrazepam दवा कुछ स्वप्नदोष पीड़ित रोगियों को दी गई जिससे हम को फायदा मिला अतः इस दवा का प्रयोग स्वप्नदोष  से पीड़ित व्यक्तियों में कर सकते हैं Nitrazepam दवा का प्रयोग से आप अपने डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें डॉक्टर द्वारा बताई गई विधि द्वारा ही इस दवा का प्रयोग करें जिससे बिना किसी साइड इफेक्ट आप स्वप्नदोष जैसी बीमारी को ठीक कर सकें और अपने जीवन का लाभ ले सकें डॉक्टर के बताया कि परामर्श के अनुसार यदि आप किस दवा का प्रयोग नियमित रूप से करेंगे तो निश्चित रूप से ही स्वप्नदोष से से बीमारी से लाभ मिलेगा 

Chlorpromazine

Chlorpromazine

Chlorpromazine स्वप्नदोष की रामबाण दवा है इस दवा का प्रयोग मानसिक बीमारी के लिए किया जाता है स्वप्नदोष एक प्रकार की मानसिक बीमारी है इसलिए इस दवा का प्रयोग डॉक्टर स्वप्नदोष के लिए भी करते हैं इस दवा के उपयोग के लिए आप अपने डॉक्टर से परामर्श लें डॉक्टर के बताए गए विधि व नियम के अनुसार दैनिक रूप से दवा का प्रयोग करें जिससे आप सबको जैसी बीमारी एक और आप आ सकते हैं यदि आपको शब्दों से से बीमारी है इस दवा का प्रयोग डॉक्टर की सलाह से करते हुए हैं यदि आप इसका नियमित सेवन करेंगे तो निश्चित रूप से स्वप्नदोष जैसी बीमारी से लाभ मिलेगा 

स्वप्नदोष के लिए योगासन

उपर्युक्त जी की विधियों द्वारा यदि अपने दोस्त का इलाज कराते हैं तो इलाज के साथ-साथ आम निम्नलिखित योग अभ्यास करके शरीर को स्वस्थ बना सकते हैं योगाभ्यास शरीर को स्वस्थ बना कर शरीर को लोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं जिससे शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से लड़कर शरीर को सुरक्षा प्रदान करता है अतः आपको यह स्वप्नदोष से समस्या है नियमित रूप से योग अभ्यास करना चाहिए।

नाईट फॉल के लिए योगासन एक अच्छा तरिका है। नाईट फॉल के लिए कुछ योगासन सही माने जाते हैं, जो कि आपके दिमाग को शांत रखने और जननांग में ब्लड फ्लो को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं। जो इस प्रकार निम्नलीखित हैं।

  • वज्रासन
  • धनुरासन
  • ध्यान और प्राणायम

इन बातों का रखें ध्यान कभी नहीं होगी सेक्स पावर में कमी

यदि आप दैनिक जीवन में स्वप्नदोष की समस्या से परेशान हैं तो निम्न बातों का ध्यान रखते हैं आप अपने अंदर सेक्स पावर की कमी से  बच सकते हैं  तो यदि आपको भी स्वप्नदोष की समस्या से बचना है तो यह काम कभी ना करें।

  • संतुलित आहार लें
  •  पोर्न वीडियो ना देखें
  •  हस्तमैथुन ना करें
  •  मानसिक संतुलन बनाए रखें
  •  शरीर को पर्याप्त आराम दें
  •  सेक्स करते समय एकाग्र रहे
  •  समय-समय पर डॉक्टर से सलाह लेते रहें

स्वप्नदोष भारतीय पुरुषों में एक आम बीमारी है किंतु इसके बढ़ जाने का कारण चिंताजनक होता है यदि कभी-कभी यह महीने में एक बार स्वप्नदोष हो जाता है प्रिया चिंता की कोई बात नहीं है किंतु अधिक होने पर तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए और इसका इलाज कराना चाहिए लेकिन यह बीमारी मुख्य रूप से नवयुवक पुरुषों में होती है सामाजिक तौर पर इस बीमारी के बारे में बात ना करने के कारण यह युवक डॉक्टर के पास ना जाकर झोलाछाप पहले हकीमो के पास इलाज के लिए जाते हैं जिससे उनको फायदा ना होकर विभिन्न प्रकार की परेशानियां होने लगती हैं इसलिए इस लेट में स्वप्नदोष की रामबाण दवा  का वर्णन किया गया है चीन का प्रयोग करके आप अपने स्वास्थ्य को सुरक्षित रख सकते हैं और सामाजिक तौर पर एक अच्छा जीवन व्यतीत कर सकते हैं। 

लोगों द्वारा पूछे गए कुछ प्रश्न

स्वप्नदोष क्यों होता है?

हमारा दिमाग दो भागों में काम करता है पहली स्थिति में हम जागते हुए जो कार्य करते हैं दिमाग उनको रीड करता रहता है और दूसरी स्थिति में यदि जाते हुए कोई कार्य करते हैं और उसके बाद सो जाते हैं तो शुद्ध अवस्था में थी हमारा दिमाग उसी तरह कार्य करता रहता है जिसके पश्चात जगी हुई अवस्था किए गए कार कौन शब्द अवस्था में दिमाग तो रहता है और उन्हें पूरा करता है इसके कुछ और भी कारण भी हो सकते हैं जैसे वासनायुक्त सोच या कल्पना, सम्भोग की चाहत, अत्याधिक हस्तमैथुन, गलत जीवनशैली आदि। 

स्वप्नदोष का आयुर्वेदिक इलाज क्या है?

स्वप्नदोष एक मानसिक बीमारी है जो मानव मस्तिष्क में होने वाली विभिन्न प्रकार की काल्पनिक क्रियाओं के कारण होती है स्वप्नदोष  के आयुर्वेदिक इलाज ऊपर दिए गए हैं जिनके अध्यन से आप स्वप्नदोष का इलाज कर सकते हैं इसके कुछ दवा दिए गए हैं जैसे शतावर चूर्ण, लाजवंती, कौंच बीज, आंवला स्वरस (Amla juice ), चंद्रप्रभा वटी (Chandraprabha Vati) आदि हैं

धात रोग क्या होता है धात कितने प्रकार के होते हैं?

स्वप्नदोष को ही धात रोग कहते हैं यह निम्नलिखित प्रकार सात के होते हैं – रस धातु, रक्त धातु, मांस धातु, मेद धातु, अस्थि धातु , मज्जा धातु, शुक्र धातु। धात रोग से बचने के लिए स्वप्नदोष की रामबाण दवा का प्रयोग करना चाहिए जो उपर्युक्त लेख में विस्तार पूर्वक बताया गया है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.