बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज । लिंग ढीलेपन से पाएँ निजात 

बहुत सारे लोगों को संभोग शक्ति की कमी की वजह से उनको बहुत सारी दिक्कतों का सामना करनी पड़ती है। जिसके वजह से उनका  लिंग बहुत जल्दी ढीला पड़ जाता है और उनको अपनी महिला साथी के सामने शर्मिंदा होना पड़ता है जिससे कि उनके और उनके महिला साथी के बीच में तनाव और अनबन  की स्थिति हमेशा बनी रहती है जो कि स्वस्थ  रिश्ते के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है। इसीलिए आपको अपने अंदर ऐसी किसी भी समस्या को दूर करने के लिए या फिर बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज तुरंत करना चाहिए नहीं तो इसमें बहुत ज्यादा देर हो जाने से आगे और भी  समस्याएं बढ़ने लगती हैं।

इसीलिए आज हम आपको इस लेख के माध्यम से कुछ इलाज और आयुर्वेदिक दवाओं के बारे में विस्तार से बताएंगे जिनका इस्तेमाल करते हुए आप अपने संभोग शक्ति को बढ़ा सकते हैं और अपने लिंग के ढीलापन होने की समस्या को दूर कर सकते हैं। जिससे कि आप अपने महिला  साथी के साथ बहुत बेहतर और अच्छे ढंग से संभोग कर पाएंगे जिससे कि आपके और उनके बीच में एक अच्छा संबंध स्थापित होगा और आपका  रिश्ता और भी  प्रगाढ़ होगा जो कि  अच्छे यौन जीवन के लिए बहुत ही अच्छे संकेत माने जाते हैं।

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

Table of Contents

संभोग शक्ति के न बढ़ने और लिंग संबंधित समस्याओं के कारण 

संभोग शक्ति के ना  बढ़ने और  लिंग संबंधित समस्याओं कि बहुत से कारण हो सकते हैं। संभोग शक्ति के ना बढ़ने और लिंग संबंधित समस्याओं में बहुत सारी समस्याएं भी होती हैं जैसे कि लिंग का बहुत जल्दी ढीला  पड़ जाना, शीघ्र स्खलित हो जाना, कामेच्छा की जागृति ना होना, सेक्स करने से दूर भागना  या फिर बहुत ही कम मात्रा में वीर्य का बाहर आना ऐसी समस्याएं लिंग संबंधित समस्याओं में शुमार है जो कि पुरुषों के लिए बहुत ही भयावह समस्याओं में से एक है। 

बहुत सारे पुरुष ऐसी समस्याओं को छुपाते हैं क्योंकि वह इसे अपनी मर्दानगी से जोड़ कर देखते हैं जिन पुरुषों में ऐसी समस्या होती हैं उन्हें  नामर्द या नपुंसक भी लोग समझते हैं। उनके अंदर ऐसी समस्या bachpan ki galtiya करने की वजह से हो जाती है। इसीलिए ऐसे मर्ज के बारे में पुरुष किसी से  विचार-विमर्श भी नहीं कर पाते हैं और इस समस्या से बहुत ही गंभीर रूप से ग्रसित हो जाते हैं।

संभोग शक्ति के न बढ़ने और लिंग संबंधित समस्याओं के कारण 

उनको ऐसी समस्याओं के इलाज कराने में भी झिझक रहता है। लेकिन हम आपको बताना चाहेंगे कि समस्याओं को बिल्कुल भी नहीं छुपाना चाहिए क्योंकि ऐसी समस्या किसी के अंदर भी हो सकती है इसलिए इसका इलाज कराना चाहिए और जल्द से जल्द इस समस्या से निजात पाना चाहिए।  संभोग शक्ति की कमी और लिंग संबंधित समस्याओं के कई कारण हैं जिनको हम निम्नलिखित विस्तार से  समझने और जानने की कोशिश करते हैं।

  • रीढ़ की हड्डी की सर्जरी से तंत्रिकाओं को क्षति पहुनने के कारण। 
  • अवसाद, चिंता और अन्य मानसिक स्वास्थ्य के कारण।
  • हाई ब्लड प्रेशर या हृदय संबंधी रोग।
  • हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण रक्त वाहिकाओं में रुकावट (एथेरोस्क्लेरोसिस) आ जाने के कारण।
  • मधुमेह से ग्रसित होने के कारण। 
  • मोटापा होने के कारण। 
  • कुछ दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण।
  • तंबाकू उत्पादों, शराब या अन्य मादक पदार्थों के ज्यादा सेवन के कारण।
  • तनाव के कारण।
  • बढ़े हुए प्रोस्टेट ग्रंथि के कारण।
  • अत्यधिक हस्तमैथुन। 

रीढ़ की हड्डी की सर्जरी से तंत्रिकाओं को क्षति पहुनने के कारण

कभी-कभी रीढ़ की हड्डी में चोट लग जाने से बहुत सारी दिक्कतें खड़ी हो जाती है। रीढ़ की हड्डी में चोट की सर्जरी होने से हमारे शरीर की तंत्रिकाओं पर बहुत गहरा असर पड़ता है। जो कि बहुत ही ज्यादा प्रभावित हो जाती हैं और इसी समस्या के चलते संभोग में कमी और लिंग के ढीलेपन की समस्या पुरुषों में हो सकती है। इसलिए  सर्जरी के बाद ऐसी किसी भी समस्या  के हो जाने की स्थिति में आपको तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श करके इसका तुरंत ही इलाज शुरू कर देना चाहिए जिससे कि आपको इस समय सबसे ज्यादा लंबे समय तक दिक्कत ना हो सके।

अवसाद, चिंता और अन्य मानसिक स्वास्थ्य के कारण

अवसाद चिंता और मानसिक स्वास्थ्य  ही हमारे शरीर में बहुत सारे बीमारियों को जन्म देने के लिए सबसे बड़े कारणों में से एक हैं क्योंकि हमारे मानसिक स्वास्थ्य से ही हमारे  शरीर  की बहुत सारी समस्याएं जुड़ी हुई हैं जो कि मानसिक स्वास्थ्य खराब होने या मानसिक तनाव की स्थिति में सीधे प्रभावित होती हैं। इसी तरह से जब आप किसी चिंता या अवसाद में रहते हैं तो  आपके अंदर मानसिक तनाव की स्थिति पैदा हो जाती है जो कि संभोग में कमी और लिंग संबंधी समस्याओं को जन्म देने लगती हैं। ऐसी किसी समस्या से ग्रसित होने पर सबसे पहले आपको अपने मानसिक तनाव को कम करना चाहिए।

हाई ब्लड प्रेशर या हृदय संबंधी रोग

जब किसी व्यक्ति के अंदर हृदय संबंधी रोग हो जाते हैं तो उसका ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा अनियंत्रित और अनिश्चित रहता है जिस कारण उसके अंदर रक्त संचार की बहुत सारी अनियमितताएं होने लगती हैं जिसकी वजह से पूरे शरीर में अच्छी तरह से रक्त का संचार नहीं होता और शरीर के हर अंगों तक रक्त सही से नहीं पहुंच पाता है जिस कारण लिंग सही से खड़ा नहीं हो पाता है और जल्दी ढीला पड़ जाता है जो कि लिंग संबंधित समस्याओं  के रूप में जाना जाता है। ऐसा बार-बार होने से आपके अंदर संभोग ना करने की भी इच्छा जागृत होने लगती है।

हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण रक्त वाहिकाओं में रुकावट (एथेरोस्क्लेरोसिस) आ जाने के कारण 

हमारे शरीर में बहुत ज्यादा कोलेस्ट्रॉल हो जाने  से कोलेस्ट्रोल हमारी नसों में परत दर पर जमने लगता है जिससे कि रक्त के संचार में दिक्कत होने लगती है और रक्त बहुत ही कठिनाई से आगे बढ़ पाता है जिससे कि 900 पर और  हृदय पर जोर पड़ता है। इस समस्या की वजह से रक्त का प्रवाह पूरे शरीर में हर अंग होता अच्छी तरह से नहीं हो पाता है जिससे कि सारे अंग सही से काम नहीं कर पाते हैं और ऐसी स्थिति में लिंग संबंधित समस्या और संभोग  कमी की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

मधुमेह से ग्रसित होने के कारण 

मधुमेह के रोगियों  को सबसे ज्यादा यौन समस्याओं  का सामना करना पड़ता है जिसमें सबसे प्रमुख समस्या संभोग की कमी और लिंग के सही से ना तनने  या फिर जल्दी ढीला पड़ जाने की समस्या सामने आती है जोकि मधुमेह के कारण उनके ब्लड में शुगर लेवल बढ़ जाता और रक्त का प्रवाह लिंग तक सही से नहीं हो पाता है जिससे उनका  लिंग सही समय पर तन नहीं पाता है या फिर संभोग  करते समय जल्दी ढीला पड़ जाता है। ऐसी स्थिति होने पर आपके अंदर संभोग समय की भी कमी होने लगती है।

मोटापा होने के कारण 

आपके शरीर में अत्यधिक मोटापा हो जाने के कारण भी टेस्टोस्टरॉन लेवल कम होने लगता है जोकि संभोग समय को बढ़ाने और लिंग को ज्यादा देर तक टाइट रखने में बहुत ही सहायक हार्मोन माना जाता है। मोटापा बढ़ने का सबसे बड़ा कारण होता है कि  व्यायाम न करना जिससे कि आपके शरीर की नसें भी कमजोर होने लगती है और इन्हीं सब कारणों से आपके शरीर में संभोग समय की कमी और लिंग के ढीलेपन की समस्या जन्म लेने लगती है।

कुछ दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण

बहुत से लोगों में यह देखा गया है कि उनके अंदर किसी अन्य मर्ज की दवा खाने के कारण उसके साइड इफेक्ट होने लगते हैं और इसी साइड इफेक्ट के रूप में यौन समस्याएं भी जन्म लेने लगती हैं। एवं समस्याओं में सबसे पहले संभोग समय की कमी या फिर संभोग में रुचि ना  रह जाना और लिंग  का जल्दी ढीला पड़ जाना ऐसी समस्याएं दवाओं के साइड इफेक्ट की वजह से भी हो सकती है।

तंबाकू उत्पादों, शराब या अन्य मादक पदार्थों के ज्यादा सेवन के कारण

बहुत ज्यादा तंबाकू और शराब का सेवन करने से भी आपके अंदर शारीरिक कमजोरी और मानसिक तनाव होने लगता है जो कि आपके अंदर यौन समस्याओं को जन्म देने लगता है। इन यौन समस्याओं में सबसे पहले संभोग समय की कमी और  लिंग के जल्दी देना पड़ने  और सही मात्रा वीर्य का उत्पादन ना होना। ऐसी समस्याएं अत्यधिक धूम्रपान और शराब सेवन के कारण भी हो सकती है।

तनाव के कारण 

आपके शरीर में तनाव कई प्रकार के हो सकते हैं शारीरिक और मानसिक तनाव इनमें से दो प्रमुख तनाव माने जाते हैं  जोकि आपके साथ बहुत ज्यादा थकावट के कारण भी हो सकते हैं। ऐसे तनाव की वजह से ही आपके शरीर में यौन समस्याएं उत्पन्न होने लगते हैं। आपके शरीर में  यौन समस्याओं को जन्म देने के लिए शारीरिक और मानसिक तनाव पूर्ण रूप से जिम्मेदार माने जाते हैं। इसीलिए एवं समस्याओं से निजात के लिए आपको सबसे पहले शारीरिक और मानसिक तनाव दोनों से छुटकारा पाना चाहिए।

बढ़े हुए प्रोस्टेट ग्रंथि के कारण

आपके अंदर बहुत  प्रोस्टेट ग्रंथि की बहुत ज्यादा बढ़ जाने के कारण अभी लिंग के खड़े ना होने की समस्या होने लगती है या फिर संभोग करते समय लिंग के जल्दी ढीला पड़ जाने और शीघ्र स्खलित हो  जाने की भी समस्या होने लगती है। प्रोस्टेट ग्रंथि बढ़ने के कारण आपके वीर्य की मात्रा में भी कमी आने लगती है। इसीलिए प्रोस्टेट ग्रंथि के बढ़ने की स्थिति में आपको सबसे पहले इसका जांच कराकर इसका इलाज शुरू कर देना चाहिए।

अत्यधिक हस्तमैथुन

अत्यधिक हस्तमैथुन करने की वजह से आपके अंदर वीर्य की  कमी और  लिंग के जल्दी ढीला पड़ने की समस्या हो सकती है। कई बार हमें bachpan ki galtiyan बहुत भारी पड़ने लगती हैं। क्योंकि बचपन में अधिकतर लोग संभोग चेष्टा के कारण हस्तमैथुन करना शुरू कर देते हैं। जो की शुरुआत में थोड़ा बहुत ही होता है लेकिन समय ज्यादा होने के तब तक इसका बहुत ज्यादा उपयोग करना आपके लिए घातक साबित हो सकता है क्योंकि बहुत ज्यादा हस्तमैथुन करने की वजह से आपके अंदर संभोग  समय की कमी की समस्या आ सकती है और लिंग के जल्दी ढीला पड़ने और  वीर्य की मात्रा में कमी की समस्या भी आ सकती है। 

लिंग संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए आयुर्वेदिक दवाएँ 

संभोग शक्ति को बढ़ाने के लिए और लिंग संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए आप आयुर्वेदिक दवाओं का भी इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि आयुर्वेद में बहुत सारे ऐसे प्राकृतिक औषधियां और जड़ी बूटियां उपलब्ध है जो कि आपके यौन शक्तियों को बढ़ाने और bachpan ki galtiyon ka ilaj करने के लिए बहुत ही लाभकारी और फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

बहुत से लोगों में संभोग शक्ति की कमी की वजह से बहुत जल्दी ही   शीघ्र स्खलित हो जाते हैं या फिर  लिंग के बहुत जल्दी ढीला पड़ जाने की वजह से ज्यादा देर तक संभोग  नहीं कर पाते हैं। जिससे कि उनके सामने बहुत ही शर्मिंदा करने वाली स्थिति पैदा होती है और उनको अपने होना पड़ता है। ज्यादातर लोगों में ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अब बहुत ज्यादा हस्तमैथुन या फिर संभोग करते हैं। इसीलिए ऐसी समस्याएं उनके अंदर जन्म लेने लगते हैं। संभोग के बारे में बहुत ज्यादा सोचना और  कल्पना  करने से उनको ऐसी समस्याओं से का सामना करना पड़ सकता है। इसीलिए हम उनकी इस समस्याओं को दूर करने के लिए हम कुछ प्रमुख आयुर्वेदिक दवाओं के बारे में बता रहे हैं जो कि आप को इस समस्या से जड़ से निजात दिला सकती है। 

  • मन्मथ रस 
  • काम सुधा योग 
  • पतंजलि अश्वाशीला 
  • पतंजलि शतावर चूर्ण 
  • पतंजलि सफेद मूसली 
  • पतंजलि गोक्षुरादि गूगगल 
  • पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल 
  • दिव्य शिलाजीत रसायन
  • दिव्य मूसली पाक
  • दिव्य अभ्रक भस्म 
  • दिव्य बादाम पाक 
  • दिव्य स्वर्ण भस्म

मन्मथ रस 

बैद्यनाथ कंपनी द्वारा तैयार की गई मन्मथ रस दवा यौन समस्याओं के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है इस दवा के इस्तेमाल से आपके लिंग में ढीलापन की समस्या और संभोग शक्ति की कमी दूर हो जाती है। इस दवा  को जायफल, कपूर, शतावरी, बंग भस्म, अभ्रक भस्म जैसी प्राकृतिक औषधियों के मिश्रण से तैयार किया गया है। यह सभी दवाएं लिंग से संबंधित समस्याओं और संभोग शक्ति बढ़ाने के लिए बहुत ही कारगर प्राकृतिक औषधियां है।

इस दवा मौजूद अभ्रक भस्म एक ऐसी औषधि है जो कि आपके अंदर यौन इच्छा को बढ़ाने का काम करती है जिससे कि आपके अंदर बहुत ही ज्यादा उत्तेजना उत्पन्न होती है और आपकी  यौन इच्छा बढ़ने लगती है जिससे कि आपकी संभोग शक्ति बढ़ती है और लिंग काफी लंबे समय तक  तना  रहता है जिससे कि आप काफी लंबे समय तक संभोग कर पाने में सक्षम होते हैं। इस दवा को आप शहद के साथ दिन में दो बार ले सकते हैं। इस दवा के बेहतर परिणाम के लिए आपको कम से कम इस को 3 महीने तक इस्तेमाल करना चाहिए।

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज । लिंग ढीलेपन की समस्या से पाएँ निजात 

कामसुधा योग

कामसुधा योग एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो कि 21 प्राकृतिक औषधियों के मिश्रण से तैयार की गई है जो कि संभोग शक्ति को बढ़ाने और लिंग संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए बहुत ही कारगर और प्रभावशाली आयुर्वेदिक दवा है इस दवा के इस्तेमाल से आप काफी लंबे समय तक संभोग कर पाते हैं और आपका लिंग काफी लंबे समय तक बना रहता है।

जिससे कि  आपके संभोग समय के दौरान लिंक जल्दी भेजो नहीं पड़ता है। यह आपके शरीर में मानसिक और शारीरिक थकावट को कम करने का काम भी करती है जिससे कि आप संभोग के लिए पूरी तरह से तैयार  हो पाते हैं। इस दवा को आप खाना खाने से पहले सुबह और शाम में एक एक गोली ले लेनी चाहिए जिससे कि आपको संभोग और लिंग से संबंधित समस्याओं में निजात मिल सकता है।

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाजय

पतंजलि अश्वशिला

पतंजलि अश्वशिला अपने नाम से ही मशहूर है इसके सेवन से पुरुषों के अंदर अश्व जैसी शक्ति आ जाती है और संभोग करते समय काफी लंबे समय तक संभोग  कर पाने में पुरुष सक्षम होते हैं। पतंजलि अश्वशिला के सेवन से यौन संबंधित समस्याओं का भी खात्मा होता है। ज्यादातर पुरुषों में लिंग संबंधी समस्याओं को देखा जाता है। इस दवा को अश्वगंधा, शिलाजीत  जैसी बेहद उपयोगी  प्राकृतिक औषधियों के संयोजन से तैयार किया गया है।इस दवा में  मौजूद शिलाजीत एक ऐसी प्राकृतिक औषधि है जोकि यौन समस्याओं से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए बहुत ही प्रभावशाली औषधि मानी जाती है। इस दवा के इस्तेमाल से आपका लिंग पत्थर जैसा खड़ा रहेगा और लिंग ढीलेपन की समस्या दूर हो जाएगी। इस दवा को आप दूध के साथ सुबह-शाम एक-एक कैप्सूल ले सकते हैं जिससे कि आपकी संभोग शक्ति बहुत ही ज्यादा बढ़ जाएगी और लिंग से जुड़ी सभी समस्याएं दूर हो सकती हैं।

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

पतंजलि शतावर चूर्ण 

पतंजलि शतावर चूर्ण प्राकृतिक औषधी शतावर से बनी हुई दवा है। जो कि यौन संबंधित समस्याओं से निजात के लिए इस्तेमाल किया जाता है इस दवा के इस्तेमाल से आपके लिंग ढीलापन होने की समस्या दूर होती है और  वीर्य की मात्रा भी बढ़ती है। इस दवा के इस्तेमाल से आपके शरीर में रक्त का संचार हर अंगों तक होने लगता है जिससे कि आपके शरीर में बहुत ही तेज उत्तेजना होती है जिससे कि कामेच्छा प्रबल हो जाती है और आप काफी समय तक संभोग करने में सक्षम होते हैं।

पतंजलि शतावर चूर्ण बहुत सारे ऐसे एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं। जोकी नाइट फॉल की समस्या से निजात दिलाने का काम करतें है। यह दवा शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं जिससे के  शरीर की उत्तेजना बढ़ने के कारण लिंग तक  अच्छे से रक्त का संचार होता है और लिंग काफी देर तक तना रह पाने में सक्षम हो जाता है।इस दवा को आप आधा चम्मच की मात्रा में दूध में मिलाकर दिन में दो बार ले सकते हैं। 

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

पतंजलि सफेद मूसली

पतंजलि सफेद मूसली को यौन समस्याओं को दूर करने और लिंग की समस्या को खत्म करने के लिए बहुत ही शक्तिवर्धक जड़ी-बूटी मानी जाती है। पतंजलि सफेद मूसली भी सफेद मूसली की जड़ों से बनी हुई आयुर्वेदिक औषधि है। सफेद मूसली की जड़ों में बहुत ज्यादा मात्रा में कार्बोहाइड्रेट,प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं जो कि  शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए बहुत ही  लाभकारी होते हैं। आपके शरीर में शारीरिक और मानसिक  तनाव के कारण ही संभोग शक्ति की कमी और लिंग संबंधित समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं इसीलिए पतंजलि सफेद मूसली का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि पतंजलि सफेद मूसली शारीरिक और मानसिक तनाव को दूर करने का भी काम करती है। पतंजलि सफेद मूसली प्रोस्टेट की रामबाण दवा भी है। इस दवा को आप दूध में  आधा चम्मच मिलाकर खाना खाने के बाद ले सकते हैं जिससे कि आपके लिंग संबंधित समस्याओं का खात्मा हो सकता है। 

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

पतंजलि गोक्षुरादि गूगगल 

पतंजलि  गोक्षुरादि गूगगल पतंजलि द्वारा तैयार की गई आयुर्वेदिक दवा है। जो कि मुख्य रूप से लिंग संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। लिंग  संबंधित समस्याओं में जैसे लिंग का जल्दी ढीला पड़ जाना, शीघ्र स्खलन, लिंग का ना तनना जैसी समस्याएं सम्मिलित है। इन सभी समस्याओं को दूर करने के लिए आप इस दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस दवा को गोखरू, आंवला, हरीतकी,पिपली, बहेड़ा जैसी प्राकृतिक औषधियों के मिश्रण से तैयार किया गया है।

यह सभी औषधियां एवं संबंधित समस्याओं से निजात के लिए बहुत ही लाभकारी और  उपयोगी औषधियां मानी जाती हैं। इस दवा मौजूद बहेड़ा आपके शरीर में ऑक्सीजन को पर्याप्त मात्रा में पहुंचाने का काम करता है जिससे कि आपके शरीर में रक्त का संचार अच्छी तरीके से होता है और  शरीर के हर  अंगों तक रक्त पहुंच पता है जिससे कि सभी अंग पर्याप्त रूप से काम करते हैं और आपके लिंग संबंधित  समस्या दूर हो जाती है। इस दवा को आप गुनगुने पानी के साथ सुबह दोपहर शाम एक-एक टेबलेट ले सकते हैं। इस दवा के बेहतर  परिणाम के लिए इस दवा को लंबे समय तक इस्तेमाल करना चाहिए जिससे कि आपकी समस्या जड़ से खत्म हो जाए। 

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल  

पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल आपके शारीरिक और मानसिक थकान को दूर करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। यौन संबंधित समस्याएं शारीरिक और मानसिक तनाव से सीधे जुड़ी हुई हैं क्योंकि शारीरिक और मानसिक तनाव के कारण  ही संभोग शक्ति में कमी,शीघ्र स्खलन, लिंग का जल्दी न तनना और लिंग के ढीलेपन की समस्या हो जाती है। जिस को दूर करने के लिए आप अश्वगंधा कैप्सूल का इस्तेमाल कर सकते हैं।इस दवा  गुनगुने पानी के साथ दिन में दो बार ले सकते हैं।  

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

दिव्य शिलाजीत रसायन

दिव्य शिलाजीत रसायन को योन शक्ति बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस दवा के इस्तेमाल से ling संबंधित समस्या भी खत्म होने लगती है और आपको शीघ्रपतन जैसी समस्या से शीघ्र निजात मिल जाता है। दिव्य शिलाजीत रसायन में हरीतकी,शिलाजीत, भूमयालकी जैसी प्राकृतिक औषधियों के मिश्रण से तैयार किया गया है।इस दवा मौजूद शिलाजीत एक ऐसी प्राकृतिक औषधि है जो कि आपके शरीर में कामेच्छा को बढ़ाने का काम करती है और कामेच्छा बढ़ने से ही आपके शीघ्रपतन और लिंग के जल्दी ढीले पड़ जाने की समस्या से आपको निजात मिलता है। इस दवा को आप गुनगुने पानी के साथ दिन में दो बार ले सकते हैं जिससे कि आपको लिंग के  जल्दी दिला बनाने की  समस्या में जल्द निजात मिल सकता है।

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

दिव्य मूसली पाक

दिव्य मूसली पाक पतंजलि द्वारा तैयार की गई आयुर्वेदिक दवा है जो कि पुरुषों की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने और संभोग शक्ति को बढ़ाने का काम करती है। इस दवा के इस्तेमाल से पुरुषों में शीघ्रपतन की समस्या खत्म हो जाती है और उनके लिंग की ढीले पड़ने की समस्या भी खत्म होने लगती है। इसीलिए मूसली पाक को योग से संबंधित समस्याओं में इस्तेमाल कर सकते हैं।

इस दवा को गोखरू, चित्रक, अकरकरा, अश्वगंधा, खरैटी, हरीतकी, जायफल,  बंग भस्म, तेज पत्र जैसी प्राकृतिक औषधियों के संयोजन से तैयार किया गया है।किस दवा में मौजूद गोखरू आपके शरीर में यौन इच्छा को बढ़ाने का काम करता है।इस दवा को आप 10 ग्राम की मात्रा में दूध में मिलाकर दिन में दो बार ले सकते हैं जिससे कि आपकी संभोग शक्ति की कमी और लिंग के ढीले पड़ने की समस्या दूर हो सकती है। 

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

दिव्य अभ्रक भस्म

 इस दवा को लिंग से संबंधित समस्या से निजात पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस दवा के इस्तेमाल से आप का वीर्य गाढ़ा होता है और आपके शीघ्र पतन की समस्या दूर होती है। जिससे आपके अंदर संभोग शक्ति की बढ़ोतरी होती है जो कि आपके स्वस्थ  यौन जीवन के लिए बहुत है लाभदायक साबित हो सकता है।अभ्रक भस्म आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाती है। जिससे कि आपका शरीर स्वस्थ रहता है और आपके शरीर में किसी भी प्रकार की यौन समस्या से लड़ने का काम करता है। इस दवा को आपखाना खाने के बाद एक छोटा चम्मच की मात्रा में शहद के साथ दिन में 2 बार ले सकते हैं। 

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

दिव्य बादाम पाक

इस दवा को ज्यादातर  मानसिक तनाव को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। आपके शरीर में यौन संबंधित समस्याओं के लिए सबसे बड़ा कारण मानसिक तनाव  होता है इसलिए जरूरी है कि सबसे पहले आपकी मानसिक तनाव को दूर किया जाए जिससे कि आपकी संभोग के प्रति रुचि और शक्ति दोनों बढ़ाई जा सके इसके इस्तेमाल से आपकी लिंग के ढीलापन होने की समस्या भी दूर होने लगती है। जो कि आपको संभोग करने के लिए जागृत करता है। इस दवा को जायफल, लॉन्ग, बादाम,केसर और सफेद मुसली के मिश्रण से तैयार किया गया है। इस दवा को आप गुनगुने पानी में 10 ग्राम की मात्रा मिलाकर दिन में दो बार ले सकते हैं।

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

दिव्य स्वर्ण भस्म

इस दवा को लिंग से संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए  इस्तेमाल किया जाता है। संभोग शक्ति बढ़ाने के लिए पतंजलि द्वारा तैयार की गई यह बहुत ही शक्तिशाली आयुर्वेदिक दवा है। जब कभी भी आप खोया महसूस होगी आपका लिंग बहुत जल्द ढीला पड़ जा रहा है या फिर आप शीघ्र स्खलन का शिकार हो जा रहे हैं तो आप इस दवा का इस्तेमाल बेझिझक कर सकते हैं। इस दवा मौजूद स्वर्ण भस्म में बहुत सारे ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो कि आपके वीर्य को बढ़ाने और लिंग को ज्यादा देर तक तना रखने में बहुत ही  महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस दवा को आप ढाई सौ ग्राम की मात्रा में गुनगुने पानी में अच्छी तरह से मिलाकर दिन में दो बार ले सकते हैं। इस दवा के बेहतर परिणाम के लिए कम से कम 3 हफ्ते तक इसका इस्तेमाल करना आवश्यक है।

बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज

लिंग ढीलापन दूर करने के घरेलू उपचार 

लिंग के  जल्दी ढीले पड़ने की समस्या बहुत से पुरुषों में देखी जा सकती है। आजकल इस समस्या से बहुत सारे पुरुष जूझ रहे हैं। वे ऐसी समस्याओं को किसी से साझा  भी नहीं कर पाते हैं और इसी वजह से ऐसी समस्याओं का सही इलाज भी नहीं हो पाता। लिंग संबंधित समस्याओं के लिए बहुत सारे इलाज और आयुर्वेदिक दवाएं उपलब्ध है। जिनका इस्तेमाल करके आप अपनी समस्या को दूर कर सकते हैं। लेकिन बहुत सारे मरीजों के अंदर किसी दूसरे मर्ज की दवा चलने के कारण ऐसी किसी समस्या की दवा नहीं खा सकते हैं।

 जो कि उन्हें नुकसान पहुंचा सकती है इसीलिए ऐसे मरीजों के लिए हम कुछ घरेलू उपचारों और खाद्य पदार्थों के बारे में जानकारी साझा कर रहे हैं जिनका इस्तेमाल करके आप लिंग संबंधित समस्या,संभोग की कमी और वीर्य न बढ़ने की समस्या से निजात पा सकते हैं। तो आइए जानते है की कैसे इन घरेलू उपचारों का प्रयोग करके virya ki bharpai kaise kare? बहुत सारे ऐसे खाद्य पदार्थ और प्राकृतिक औषधियां हैं जो की इन समस्याओं को जड़ से खत्म कर सकती हैं लेकिन हमें उनके बारे में पता नहीं होता है और हम घरेलू उपचारों में उपयोग की हुई और प्राकृतिक औषधियों से  प्रतिदिन  रूबरू होते हैं। तो आइए आज हम ऐसे ही कुछ महत्वपूर्ण घरेलू उपचारों के बारे में आपको बताने की कोशिश कर रहे हैं। जिनसे आप  अपने यौन समस्याओं को दूर कर सकते हैं और इसको किसी  यौन समस्याओं से पीड़ित मरीज से भी साझा कर सकते हैं।

  • नियमित व्यायाम करना 
  • मानसिक और शारीरिक तनाव को दूर करें
  • विटामिन डी और कैल्शियम का सेवन
  • कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन
  • बरगद के फल का सेवन
  • गुड़हल का सेवन 
  • अखरोट का सेवन
  • मेथी के दाने का सेवन
  • काली उड़द दाल का सेवन

नियमित व्यायाम करना 

नियमित व्यायाम करने से  मांसपेशियों में खिंचाव आना शुरू हो जाता है  जिससे कि आप की नसें मजबूत होती है और रक्त का संचार पूरे शरीर में सही से हो पाता है। लिंग में पूरी तरह से रक्त के पहुंचने की वजह से ही लिंग के ढीलेपन की समस्या दूर होती है और वह  शीघ्र स्खलित नहीं होता है। नियमित व्यायाम करने से आपके अंदर टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की बढ़ोतरी होती है  जिससे कि आपके अंदर संभोग करने की प्रबल इच्छा भी बढ़ती है और संभोग समय में कमी की समस्या भी दूर हो जाती है।

मानसिक और शारीरिक तनाव को दूर करें

  यौन समस्या को दूर करने के लिए आपको सबसे पहले अपने मानसिक और शारीरिक तनाव को दूर करना चाहिए मानसिक और शारीरिक तनाव को दूर करने के लिए आप कुछ खाद्य पदार्थों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। मानसिक और शारीरिक तनाव को दूर करने के लिए आपको मेडिटेशन और ध्यान करना चाहिए जिससे कि आपके शरीर में नई ताजगी आती है और पूरे शरीर में रक्त का संचार अच्छी तरीके से हो जाता है जिससे की उत्तेजना उत्पन्न होती है और संभोग करने की प्रबल इच्छा जगती है जिससे संभोग समय की कमी  भी दूर हो जाती है।

विटामिन डी और कैल्शियम का सेवन

आपको अपने लिंग संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए विटामिन डी और कैल्शियम का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि इन विटामिनों में बहुत सारे ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो कि आपके शरीर में नई ताजगी और ऊर्जा का संचार करते हैं जिससे आपके शरीर में रक्त का संचार बहुत अच्छी तरीके से हो पाता है और आप की नसें मजबूत हो जाते हैं जिससे कि लिंग से संबंधित सभी समस्याएं दूर हो जाती हैं। नसों के अच्छी तरह से मजबूत होने से आपका  वीर्य भी सही से बाहर आता है जिस के रास्ते में कोई भी रूकावट नहीं होती है।

कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन

आप अपने संभोग समय की कमी को दूर करने और लिंग संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन करना चाहिए जैसे कि मसूर की दाल, ब्राउन राइस, केला, आलू, ओट्स  इन सभी खाद्य पदार्थों में कार्बोहाइड्रेट बहुत ही प्रचुर मात्रा में रहता है जो कि आपके शरीर में नई ऊर्जा का संचार करता है। हमारे शरीर में कार्बोहाइड्रेट का बढ़ना अत्यंत जरूरी इसलिए होता है क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है और पूरे शरीर में रक्त का संचार सही तरीके थे वह पता है। जिससे कि लिंग  काफी लंबे समय तक खड़ा रह पाता है और लिंग के ढीलेपन की समस्या भी दूर हो जाती है।

बरगद के फल का सेवन

बरगद के फल के सेवन से आपके शरीर में ब्लड प्रेशर नियंत्रित होता है जो कि आपके शरीर के हर अंग तक रक्त के प्रभाव को सही तरीके से पहुंचाने में मददगार होता है। शरीर के हर अंग तक रक्त से सही से प्रभाव होने की वजह से लिंग काफी लंबे समय तक खड़ा रहता और लिंग ढीलापन की पहुंच से दूर हो जाती है। रक्त संचार अच्छी तरह से होने की वजह से आपके शरीर में उत्तेजना आती है और  संभोग समय की कमी भी दूर हो जाती है।

गुड़हल का सेवन 

गुड़हल के फूल का सेवन आपके लिए बहुत ही लाभकारी साबित हो सकता है क्योंकि इसमें बहुत सारे ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कि आपके कोलेस्ट्रोल को कम करके आपके अंदर एक नई ऊर्जा का संचार करते हैं और आपकी सेक्स लाइफ को बहुत ही अच्छा और बेहतर बनाने का काम करता है। इसके सेवन से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है और कोलेस्ट्रॉल कम होने की वजह से रक्त पूरे शरीर में बहुत अच्छी तरीके से दौड़ता है जो कि लिंक संबंधित समस्याओं को दूर करने और संभोग  समय की कमी की समस्या को दूर करने के लिए बहुत ही अच्छे संकेत के रूप में माना  जाता है।

अखरोट का सेवन

अखरोट का सेवन आपके लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है क्योंकि इसमें बहुत सारे ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कि आप के ब्लड में शुगर लेवल को कम करता है और बॉडी से फैट कम करने का काम करता है। इसके सेवन से आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल बिल्कुल ही कम हो जाता है जो कि ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए बहुत ही लाभकारी होता है केलोस्ट्रोल कम हो जाने की वजह से आपके रक्त वाहिकाओं में रक्त का संचार बहुत अच्छी तरीके से होता है जिससे कि लिंग काफी लंबे समय तक खड़ा रहता है और लिंग के जल्दी ढीला पड़ने  की समस्या दूर हो जाती है। 

मेथी के दाने का सेवन

मेथी के दाने का सेवन आपके लिए बहुत ही लाभकारी साबित हो सकता है क्योंकि इसमें  डावसेजेनिन कंपाउंड पाया जाता है जो कि आपके शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन को  बढ़ाने का काम करता है। एस्ट्रोजन हार्मोन को शरीर में सेक्स हार्मोन के रूप में भी जाना जाता है। इस हार्मोन के बढ़ जाने की वजह से आपके शरीर में यौन समस्याएं दूर हो जाती हैं और कामेच्छा की प्रबल इच्छा होती है जिससे कि आप काफी लंबे समय तक संभोग कर पाते हैं और  शीघ्र स्खलित  भी नहीं होते हैं। 

काली उड़द दाल का सेवन

काली उड़द दाल में बहुत सारे ऐसे प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, विटामिन बी सिक्स, आयरन, फोलिक एसिड, जिन, और पोटेशियम पाया जाता है जो कि आपके शरीर में ऊर्जा को बढ़ाने का काम करता है और पूरे शरीर में रक्त  अच्छी तरह से रक्त का संचार करने में बहुत ही सहायक होता है जिससे कि आपके शरीर में लिंग से संबंधित समस्याएं दूर हो जाती हैं और नसों में मजबूती मिलती है जिससे कि संभोग समय की कमी की समस्या भी दूर हो जाती है और आप काफी लंबे समय तक संभोग करते पाते हैं। 

निष्कर्ष 

आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज के लिए बहुत सारे ऐसे आयुर्वेदिक  दवाओं और घरेलू उपचारों के बारे में बताएंगे जिसका उपयोग करके आप अपने बचपन की गलती  से आई कमजोरी को जड़ से खत्म कर सकते हैं। बचपन में की हुई गलती की वजह से आपके अंदर लिंग संबंधित समस्याएं और संभोग समय की कमी की समस्या हो जाती है। जो कि आप  इस लेख में बताए गए आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल करके उन समस्याओं को दूर कर सकते हैं।

बहुत सारे ऐसे मरीज होते हैं जो कि अन्य मरीजों की दवा भी खाते हैं जिसकी वजह से वह ऐसे आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं उनके लिए कुछ घरेलू उपचारों के बारे में भी बताया गया है जिसका उपयोग करके वह अपने यौन समस्याओं से निजात पा सकते हैं। इस लेख में बचपन में की हुई गलती से आई कमजोरी के मुख्य कारण भी बताए गए हैं जिन को जानने के बाद आप इस मर्ज के सही इलाज और  दवाओं तक पहुंच सकते हैं। इस लेख में बताई गई सारी दवाएं आयुर्वेदिक हैं जिनका आपके शरीर पर कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता है लेकिन आपके मर्ज के अनुसार इसके खुराक के लिए आप किसी चिकित्सक से भी परामर्श कर सकते हैं। 

FAQ

बचपन की गलती से आई कमजोरी को कैसे दूर किया जा सकता है? 

बचपन में की हुई गलती जैसे कि  अत्यधिक हस्तमैथुन और संभोग कल्पना करना इन गलतियों की वजह से आपके अंदर कमजोरी आ जाती है जिसको  की बहुत ही आसानी से दूर किया जा सकता है इसके लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है। बचपन की गलती से आई कमजोरी को दूर करने के लिए आपको अच्छी डाइट और कुछ आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल करना चाहिए जिससे कि आपकी यह समस्या खत्म हो जाती है।

बचपन की गलतियों को कैसे सुधारे?

बचपन की गलती को सुधारने के लिए आपको हस्तमैथुन कम करना चाहिए। जिससे आपके अंदर किसी भी प्रकार की कमजोरी न आ सके 

अंदरूनी कमजोरी कैसे दूर करें?

अंदरूनी कमजोरी को दूर करने के लिए आपको पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए। आप अंदरूनी कमजोरी को दूर करने के लिए आप शिलाजीत रसायन और पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल का इस्तेमाल भी कर सकतें हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *