मोटा होने के लिए टेबलेट के नाम जिससे बनाएं अपने शारीर को मोटा और शक्तिशाली

आज के समय में बहुत अधिक लोग अपने दुबले पतले शरीर से परेशान है, क्योंकि वह हर कुछ करके थक चुके होते हैं। किंतु वह मोटे नहीं हो पाते हैं, दुबले पतले लोग वजन बढ़ाने के क्या कुछ नहीं करते हैं। वह विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक एलोपैथिक तथा घरेलू घरेलू उपायों को अपनाते हुए कसरत जिम तथा व्यायाम के साथ-साथ योगाभ्यास भी करते हैं, किंतु उनके शरीर का वजन नहीं बढ़ता है। इसका मुख्य कारण है कि आज के समय में जो भी खाद्य पदार्थ ग्रहण करते हैं, वह प्रदूषित होते हैं। प्रदूषित होने के कारण हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त नहीं हो पाते हैं, हम जिन पोषक तत्वों का प्रयोग करते हैं उनके भी पर्याप्त मात्रा में प्रदूषित होने कारण उनमें पोषक तत्व नहीं होते हैं। इनके प्रयोग से हमारे शरीर तथा पेट में चर्बी तो बढ़ जाती है किंतु हमारा शारीर हेल्दी और स्वस्थ नहीं हो पाता है। इन सबके लिए आज हम आपके लिए कुछ ऐसे तथा उपयोग के बारे में बताएंगे जिनका उपयोग करके अपने शरीर को प्राकृतिक रूप से हेल्थी तथा स्वस्थ बना व वजन बढ़ा सकते हैं जिससे आप मोटे दिखने लगेंगे।

मोटा होने के लिए टेबलेट नाम

हमारे शरीर की कमजोरी हमारे लिए बहुत बड़ी समस्या का कारण होती है। यदि हम शारीरिक रूप से कमजोर हो हमारा शारीरिक विकास के साथ-साथ मानसिक विकास नहीं कर पा रहा है जिसके कारण सामाजिक स्तर पर व्यक्ति का सम्मान नहीं हो पाता है, जिसके कारण हम विभिन्न प्रकार के समस्याओं का सामना करते हैं। शारीरिक विकास ना होने के कारण हमारा शरीर दुबला पतला रह जाता है साथ ही साथ विभिन्न प्रकार की बीमारियां भी हो जाती हैं। क्योंकि शारीरिक कमजोरी होने के कारण हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बहुत कम होती है। जिसके कारण हमारा शरीर रोगों से लड़ने के लिए पर्याप्त रूप से शक्तिशाली नहीं होता है अतः हमें शारीरिक रूप से मजबूत होना बहुत आवश्यक होता है। 

मोटा ना होने के कारण

मोटा ना होने के कारण

वजन ना बढ़ने का कारण सिर्फ मेटाबॉलिज्म का अच्छा होना नहीं होता है, कुछ व्यक्तियों में पाचन क्रिया अच्छी ना होने के कारण उनके शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त नहीं हो पाते हैं, जिनके कारण उनके शरीर का वजन नहीं बढ़ता है। शारीरिक वजन ना बढ़ने के आनेक कारण होते हैं, जिन कारणों से शरीर का वजन नहीं बढ़ता है और व्यक्ति मोटा नहीं हो पाता है मोटा ना होने के साथ-साथ उसका शारीरिक विकास भी नहीं हो पाता है। शारीरिक वजन ना बढ़ने के अन्य भी कुछ कारण होते हैं जो निम्नलिखित हैं

  • अनुवांशिकता के कारण।
  • पोषक तत्वों की कमी के कारण।
  • अधिक मात्रा में धूम्रपान करने के कारण।
  • अल्कोहल का अधिक प्रयोग करने के कारण।
  • मानसिक तनाव के कारण।
  • अधिक मात्रा में शारीरिक परिश्रम के कारण।
  • भूख ना लगने के कारण।
  •  डायबिटीज होने के कारण।
  •  कैंसर होने के कारण। 
  • किसी प्रकार का शारीरिक इन्फेक्शन होने के कारण।

मोटा ना होने के लक्षण

शरीर में कमजोरी के कारण विभिन्न प्रकार की समस्याएं हो जाती हैं। जिनके कारण हमारा शरीर कमजोर तथा बीमार हो जाता है, बीमार होने के साथ-साथ हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्याएं होने लगती है। शरीर में कमजोरी होने के कारण विभिन्न प्रकार की समस्याएं हो जाती हैं। यह समस्याएं निम्नलिखित हैं

  • शारीर में कमजोरी। 
  • थकान ।
  • बीमारियाँ।
  •  सिरदर्द।
  • झुनझुनी महसूस करना।
  • झटके या दौरे आना।
  • मांसपेशियों में कमजोरी।
  • पीठ दर्द।

जल्दी मोटा होने के उपाय

जल्दी मोटे होने के चक्कर में हम कई बार कुछ ऐसे पदार्थों का प्रयोग कर लेते हैं, जिनके प्रयोग से ठीक होने के बजाय हम और अधिक बीमार हो जानते हैं। ऐसे में हमें और अधिक समस्याएं होने लगती है, इन समस्याओं से बचने के लिए आज हम आपको मोटे होने की टेबलेट के बारे में बता रहे हैं। जिनकी जानकारी के पश्चात प्रयोग करने से आप अपने शरीर को प्राकृतिक तरीके से मोटा बना सकते हैं। इन टेबलेट का शरीर पर कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है, और इनसे आपके शरीर में प्राकृतिक रूप से मांसपेशियों का विकास होता है। जिससे आपके शरीर का वजन बढ़ने लगता है और आपका शरीर मोटा दिखने लगता है। शरीर मोटा दिखने के साथ-साथ यह दवाईया आपके शरीर की शक्ति को बढ़ाती हैं। जिससे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है। जिसके कारण हमारा शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से लड़ने में समर्थ होता है। शरीर को mota hone ki tablet निम्नलिखित हैं

  • जल्दी मोटा होने से आयुर्वेदिक टेबलेट
  • mote hone ki dava पतंजलि
  • मोटा होने की दवा अंग्रेजी

जल्दी मोटा होने से आयुर्वेदिक टेबलेट

लोग जल्दी मोटा होने के लिए विभिन्न प्रकार की दवाइयों का प्रयोग करते हैं, कुछ लोगों के लिए यह दवाइयां शारीरिक रूप से सही नहीं होती हैं, क्योंकि कुछ लोगों का शरीर विशेष प्रकार की दवाइयों को सहन नहीं कर पाता है, जिसके कारण व्यक्ति को समस्याएं होने लगती हैं। इन समस्याओं में एलर्जी, उल्टी तथा दस्त हो सकता है। इसके साथ-साथ अन्य समस्याएं भी होने लगती हैं, इसलिए हम आज आपको कुछ आयुर्वेदिक टेबलेट के बारे में बताएंगे जिनके प्रयोग से आप अपने शरीर को मोटा बना सकते हैं, और इन आयुर्वैदिक टैबलेट्स के शरीर पर कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होते हैं। इन दवाइयों का प्रयोग पूर्णता सुरक्षित होता है। यह दवाइयां निम्नलिखित हैं

  • Dr. Biswas Good Health Capsule
  • Paurush Jeevan Ayurvedic Capsule
  • Health Tone Weight Gain Tablet
  • Sun India Swasth Vardhak Dawa
  • Guduchi Ayurveda GAIN-IT टैबलेट
  • Nav Nirman DS Tablet 
  • वैद्यनाथ सफेद मुसली टेबलेट

Dr. Biswas Good Health Capsule

Dr. Biswas Good Health Capsule

डॉ बिस्वास गुड हेल्थ कैप्सूल पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक तत्वों से निर्मित कैप्सूल होते हैं, जिनका प्रयोग शरीर के मोटे ना होने की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है, जो व्यक्ति शारीरिक रूप से कमजोर होते हैं तथा उनका वजन बहुत कम होता है और वे विभिन्न प्रकार की दवाइयां खा कर परेशान हो चुके हैं उनके लिए डॉ बिस्वास गुड हेल्थ कैप्सूल बहुत ही अच्छा ऑप्शन है। जिसका प्रयोग करके कमजोर व्यक्ति शारीरिक वजन बढ़ा सकते हैं तथा शरीर में हुई कमजोरी को दूर कर सकते हैं। डॉ विश्वास गुड हेल्थ कैप्सूल शरीर में शक्ति का संचार करता है, जिससे शरीर का वजन बढ़ने लगता है और कुछ समय पश्चात शरीर के मोटे ना होने की समस्या समाप्त हो जाती है। जो व्यक्ति प्राकृतिक रूप से मोटा होना चाहते हैं उनको डॉ बिस्वास गुड हेल्थ कैप्सूल का प्रयोग दैनिक रूप से करना चाहिए।

Paurush Jeevan Ayurvedic Capsule

जैसा कि सभी को पता है कि आजकल के खाद्य पदार्थ तथा हमारा सहन सहन प्रदूषण के कारण परिवर्तित होता जा रहा है। प्रदूषण के कारण हमारे खाद्य पदार्थों से पोषक तत्वों में कमी आ गई है तथा हमारे द्वारा लिया गया भोजन भी प्रदूषित होता है, और उसमें भी पोषक तत्व नहीं पाए जाते हैं। जिसके कारण हमारा शरीर दिन प्रतिदिन कमजोर होता जा रहा है कमजोर शरीर को मजबूत बनाने के लिए आज हम आपको  पुरुष जीवन आयुर्वेदिक कैप्सूल के बारे में बताएंगे जो हमारे शरीर को पर्याप्त पोषण प्रदान करता है। जिससे हमारा शरीर प्राकृतिक रूप से पोषक तत्वों को प्राप्त करता है, और विकास में सहायक होता है।

Paurush Jeevan Ayurvedic Capsule

यदि हमारे शरीर का सामान्य रूप से विकास होता है, तो हमारा शरीर का वजन सामान्य रूप से बढ़ता रहता है। शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त ना होने के कारण शरीर का विकास रुक जाता है, जिसके कारण विभिन्न प्रकार की बीमारियां तथा समस्याएं होने लगती हैं पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए दैनिक रूप से पुरुष जीवन आयुर्वेदिक कैप्सूल का सेवन करना चाहिए। इससे हमारे शरीर का वजन बढ़ता है तथा हमारा शरीर मोटा होता है। 

Health Tone Weight Gain Tablet

हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त न होने के कारण हमारे शरीर का वजन नहीं बढ़ता है। हमारे शरीर के वजन ना बढ़ने के साथ-साथ हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण विभिन्न प्रकार की समस्याएं होती हैं। हमारा शरीर पर्याप्त रूप रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास नहीं होता है जिसके कारण हम विभिन्न प्रकार रोगों से ग्रसित होने लगते है। हमारे शरीर का वजन न बढ़ने के कारण हमारा शरीर मोटा नहीं होता, शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व मिल सके इसके लिए हमें हेल्थ टोन वेट गैन टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए।

Health Tone Weight Gain Tablet

इस टेबलेट के प्रयोग से हमारे शरीर तो पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त होते हैं, जिससे हमारा शरीर का वजन बढ़ने लगता है तथा वजन बढ़ने के साथ-साथ हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होने से हमारा शरीर की विभिन्न प्रकार के रोगों से लड़ने में समर्थ होता है, जिससे हमारे शरीर में किसी भी प्रकार के रोग नहीं होने पाते हैं। जिन व्यक्तियों का शरीर दुबला पतला तथा कमजोर होता है ऐसे व्यक्तियों को दैनिक रूप से हेल्थ टोन वेट गेन टैबलेट का प्रयोग करना चाहिए।

Sun India Swasth Vardhak Dawa

सन इंडिया स्वास्थ्य वर्धक दवा एक ऐसी दवा है जो शारीरिक शक्ति बढ़ाने के लिए प्रयोग की जाती है सन इंडिया  स्वास्थ्य वर्धक दवा के प्रयोग से शरीर में मांसपेशियों का निर्माण होता है, जिससे हमारे शरीर का वजन बढ़ने लगता है, और हमारा शरीर वजन बढ़ने के कारण मोटा दिखाई देने लगता है। आजकल के इस प्रदूषित वातावरण में शुद्ध खाद्य पदार्थों का  मिलन बड़ा ही मुश्किल हो गया है। शुद्ध खाद्य पदार्थों के ना होने के कारण हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं।

Sun India Swasth Vardhak Dawa

पर्याप्त पोषक तत्व ना मिलने के कारण हमारा शरीर दुबला पतला और कमजोर रह जाता है जिसके कारण हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास नहीं हो पाता है। पर्याप्त मात्रा में रोग प्रतिरोधक क्षमता ना होने के कारण हमारा शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से ग्रसित हो जाता है। शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए हमें कुछ टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए जिनमें सन इंडिया स्वस्थ वर्धक दवा बहुत ही लाभदायक दवा है, जिससे शरीर को पर्याप्त पोषण प्राप्त होता है और हमारा शरीर स्वस्थ तथा मोटा होने लगता है।

Guduchi Ayurveda GAIN-IT टैबलेट 

 गुडुची आयुर्वेदा द्वारा बनाई गई गेन आईटी टैबलेट मुख्य रूप से शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए बनाई गई है, इसमें अश्वगंधा, शिलाजीत, गोखरू, कौंच, मेथी, शतावरी आदि आयुर्वेदिक पदार्थों से मिलाकर बनी होती है, जो हमारे शरीर को विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों की कमी को पूरा करते हैं। हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त होने के कारण हमारे शरीर का विकास होता रहता है। जिन व्यक्तियों में पोषक तत्वों की कमी के कारण उनके शारीरिक विकास नहीं हो पाता है, जिसके कारण हमको विभिन्न प्रकार की बीमारियां होती रहती हैं तथा उनके शरीर का वजन न बढ़ने के कारण वह कभी मोटे नहीं हो पाते हैं तथा उनके शरीर की शारीरिक शक्ति बहुत कमजोर होती है।

Guduchi Ayurveda GAIN-IT

इन सभी कमियों को पूरा करने के लिए गुडुची आयुर्वेदा द्वारा बनाई गई गेन आईटी टैबलेट का प्रयोग शरीर की शारीरिक शक्ति को दूर करने के लिए किया जाता है, जिससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता के विकास होने के कारण हमारा शरीर विभिन्न प्रकार से के रोगों से लड़ने में समर्थ होता है, जिससे हमारे शरीर में किसी भी प्रकार का रोग नहीं होने देते है।  शरीर के रोग मुक्त होने के कारण शरीर का विकास होता है, तथा वजन बढ़ता है, वजन बढ़ने के कारण हमारा शरीर मोटा दिखाई देता है।

Nav Nirman DS Tablet

Nav Nirman DS Tablet

Nav Nirman DS Tablet का प्रयोग शारीरिक मांस पेशियों के विकास के लिए किया जाता है। जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी के कारण शारीरिक मांस पेशियों का विकास नहीं हो पाता है। जिसके कारण शरीर दुबला पतला दिखाई देता है, शरीर के दुबले पतले होने के कारण हमारे शरीर का वजन बहुत कम होता है, और हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियां होती हैं जिससे हमें विभिन्न प्रकार के समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

Nav Nirman DS Tablet प्राकृतिक रूप से शरीर को पोषण प्रदान करते हैं, और हमारे शरीर की मांसपेशियों के विकास में सहायक होती हैं। मांसपेशियों के विकास के साथ-साथ हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है, जिससे हमारे शरीर का वजन बढ़ता है, और हमारा शरीर रोगमुक्त रहता है। जिन व्यक्तियों में मांसपेशियों का विकास के कारण शारीरिक विकास रुक जाता है, और उनको  विभिन्न प्रकार की समस्याएं होती हैं, उनको दैनिक रूप से Nav Nirman DS Tablet का प्रयोग करना चाहिए।

वैद्यनाथ सफेद मुसली टेबलेट

वैद्यनाथ सफेद मुसली टेबलेट

सफेद मूसली एक ऐसा आयुर्वेदिक पौधा होता है। जिसमें विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक औषधीय गुण पाए जाते हैं। जिनका प्रयोग प्राचीन काल से ही औषधि निर्माण में किया जा रहा है। सफेद मूसली प्रकृति में पाया जाने वाला एक पौधा होता है, जिससे सफेद मुसली की टेबलेट बनाई जाती है। जिसमें प्राकृतिक रूप से विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व उपलब्ध होते हैं, जो हमारे शरीर के विकास में सहायक होते हैं। जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी के कारण उनके शरीर का वजन नहीं बढ़ पाता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण विभिन्न प्रकार के रोग हो जाते हैं। उनको दैनिक रूप से वैद्यनाथ सफेद मुसली टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए, जिससे कमजोरी दूर होती है और शरीर का विकास होता है। 

मोटा होने की दवा पतंजलि

पतंजलि आयुर्वेदा ने दिव्य फार्मेसी की सहायता से विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण किया है। यह दवाइयां पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक तथा असरदार होती है। पतंजलि आयुर्वेद द्वारा शारीरिक शक्ति प्रदान करने वाली विभिन्न प्रकार की दवाओं का निर्माण किया गया है। जिनके द्वारा शरीर को स्वस्थ तथा मजबूत बनाया जा सकता है, तथा दुबले पतले शरीर को मोटा बनाकर उसमें वजन बढ़ाया जा सकता है। अतः हम आज आपको कुछ आयुर्वेदिक पतंजलि की दवाओं की जानकारी देंगे जो निम्नलिखित हैं

  • पतंजलि दिव्य अश्वगंधा कैप्सूल
  • पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल
  • दिव्य शतावर वटी
  • दिव्य चंद्रप्रभा वटी 

पतंजलि दिव्य अश्वगंधा कैप्सूल

पतंजलि दिव्य अश्वगंधा कैप्सूल

अश्वगंधा प्रकृति में पाए जाने वाला एक ऐसा पौधा होता है, जो विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक औषधीय गुणों से युक्त होता है। अश्वगंधा के पौधों की जड़ों से घोड़े की पेशाब जैसी गंध आती है, जिसके कारण इसे अश्वगंधा के नाम से जाना जाता है। अश्वगंधा में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व उपलब्ध होते हैं, जो हमारे शरीर को पोषण देते हैं। जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी के कारण उनके शरीर का विकास नहीं हो पाता है, जिसके कारण उनके मांसपेशियां विकसित नहीं हो पाती हैं, और उनका शरीर कमजोर हो सकता है।

शरीर के कमजोर होने के कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास नहीं हो पाता है, जिसके कारण हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार के होते रहते हैं। इन रोगों के कारण हमारा शरीर कमजोर होता है, इन सभी कमजोरियों को पूरा करने के लिए अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग किया जाता है। जिसमें शरीर को पोषक तत्व प्रदान करने वाले विभिन्न प्रकार के तत्व उपलब्ध होते हैं, जो हमारे शरीर को पूर्ण पोषण प्रदान करते हैं। जिससे हमारा शरीर पर्याप्त रूप से विकास करता है और शरीर का वजन बढ़ने लगता है। शरीर के वजन बढ़ने के साथ-साथ हमारा शारीरिक रूप से मोटे होने लगते हैं।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल

कैप्सूल स्खलन की पतंजलि दवा का नाम

शारीरिक शक्ति को बढ़ाने के लिए शरीर को पर्याप्त पोषण मिलना आवश्यक होता है। शारीरिक रूप से कमजोर तथा दुबले पतले लोगों को शरीर को मोटा तगड़ा तथा स्वस्थ बनाने के लिए पर्याप्त पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। पदार्थ पोषक तत्व प्राप्त होने के कारण शरीर की मांसपेशियों का विकास नहीं हो पाता है। जिससे हमारा शरीर मोटा तगड़ा नहीं होता है, शरीर को मोटा तगड़ा बनाने के लिए पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का उपयोग शरीर की पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए किया जाता है। दैनिक रूप से पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का प्रयोग शरीर में शक्ति का संचार करता है।

जिससे हमारा शरीर कुछ समय बाद स्वस्थ होने लगता है, तथा शरीर की मांसपेशियों का विकास होने लगता है। जिससे हमारा शरीर मोटा होने लगता है और हमारे शरीर का वजन बढाने तथा मोटा करने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए। शारीरिक शक्ति का विकास होने के कारण शिलाजीत का प्रयोग शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए भी किया जाता है।

दिव्य शतावर वटी

शतावर प्रकृति में पाए जाने वाला एक पौधा होता है, जिसमें विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक औषधीय गुण पाए जाते हैं। औषधीय गुणों के कारण इसका प्रयोग औषध निर्माण में किया जाता है। दिव्य शतावर वटी का निर्माण में शतावर के जड़ों का प्रयोग किया जाता है। सतावर के जड़ें समूह में पाई जाती हैं जो विभिन्न आयुर्वेदिक तत्वों से भरपूर होती हैं। जिन व्यक्तियों में शारीरिक शोषण ना मिलने के कारण उनका शरीर दुबला पतला हो जाता है। जिसके कारण उनके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास नहीं हो पाता और उनका शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से ग्रसित हो जाता है। शरीर के रोगों से ग्रसित होने के कारण हमारे शरीर का विकास नहीं हो पाता है, जिससे हम दुबले पतले रह जाते है।

दिव्य शतावर वटी में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर शरीर के विभिन्न प्रकार के रोगों को दूर करती है। जिससे हमारे शरीर का विकास होता है और हमारा शरीर का वजन बढ़ने लगता है, वजन बढ़ने का कारण हमारा शरीर मोटा तगड़ा दिखाई देने लगता है। इस लिए दुबले पतले लोगों को दिव्य शतावर वटी का प्रयोग करना चाहिए।

दिव्य चंद्रप्रभा वटी 

दिव्य चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग शारीरिक शक्ति के विकास में किया जाता है जिन महिला तथा पुरुषों में शारीरिक कमजोरी के कारण विभिन्न प्रकार के रोग होने लगते हैं जिससे हमारे शरीर में कमजोरी होने लगती है। कमजोर होने के कारण हमारे शरीर की मांसपेशियां विकसित नहीं हो पाती हैं मांस पेशियों के पर्याप्त रूप में विकसित ना होने के कारण हमारा शरीर मोटा नहीं होने पाता है। शरीर मोटा ना होने के कारण हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास नहीं हो पाता जिससे हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार के रोग होने लगते हैं। जिससे हमारे शरीर को विभिन्न प्रकार की समस्या हो जाती हैं। इन समस्याओं से बचने के लिए दैनिक रूप से चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग करना चाहिए जो हमारे शरीर में रक्त का संचार करती है। जिससे हमारे शरीर की कमजोरी दूर होती है और हमारे शरीर की मांसपेशियों का विकास होने लगता है जिससे हमारा शरीर मोटा तगड़ा दिखाई देने लगता है। 

दिव्य चंद्रप्रभा वटी 

चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग महिलाओं के अन्य विभिन्न प्रकार की समस्याओं के लिए किया जाता है। चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग दर्द निवारक के रूप में लिख दिया जाता है। दर्द से राहत दिलाने में भी चंद्रप्रभा वटी फायदेमंद है। यूरिक एसिड कम करने के गुण के कारण जोड़ों के दर्द, गठिया वात के दर्द, जोड़ों के सूजन आदि को यह कम और समाप्त करती है। इसके सेवन से स्त्रियों में मासिक धर्म की अनियमितताएं भी ठीक होती हैं और उसके कारण होने वाले पेड़ू के दर्द, कमर दर्द आदि में आराम मिलता है।

मोटा होने की दवा अंग्रेजी

शरीर को मोटा करने के लिए हम विभिन्न प्रकार के तरीके अपनाते हैं जिससे हम अपने शरीर का विकास करने की कोशिश करते हैं। विभिन्न प्रकार के तरीकों में आयुर्वेदिक दवाइयों का प्रयोग दैनिक रूप से व्यायाम तथा कुछ प्रकार के घरेलू उपायों का प्रयोग करके शरीर को स्वस्थ तथा मोटा बनाने की कोशिश करते हैं। आयुर्वेदिक दवाइयां घरेलू नुस्खों द्वारा शरीर को मोटा तथा स्वस्थ होने में बहुत समय लगता है। कई बार समय इतना ज्यादा लग जाता है कि हम बोर होने लगते हैं और दवाइयां तथा परहेज बंद कर देते हैं। इन सब से बचने के लिए तथा शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कुछ अंग्रेजी दवाइयां बाजार में उपलब्ध है जिनका प्रयोग करते हुए हम अपने शरीर की कमजोरी को दूर कर सकते हैं। तथा शरीर को स्वस्थ तथा मजबूत बना सकते हैं, यह दवाइयां निम्नलिखित हैं

  • एक्यूमास वेट गेन कैप्सूल
  • गुड हैल्थ कैप्सूल
  • ड्रोनाबिनोल
  • सिप्रोहेप्टाडिन

एक्यूमास वेट गेन कैप्सूल

एक्यूमास वेट गेन कैप्सूल

एक्यूमास वेट गैन कैप्सूल का प्रयोग शरीर की कमजोरी को दूर करने के लिए प्रयोग किया जाता है। जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी के कारण शरीर की मांसपेशियों का विकास नहीं हो पाता है। जिसके कारण उनकी शारीरिक ग्रोथ नहीं हो पाती है शारीरिक ना होने के कारण उनका शरीर दुबला पतला दिखाई देता है, ऐसे व्यक्तियों में पोषक पदार्थों की कमी होती है जो शरीर को पर्याप्त पोषण नहीं प्रदान कर पाते हैं। इन पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए एक्यूमास वेट गैन कैप्सूल का प्रयोग किया जाता है। जिस में पर्याप्त मात्रा में शरीर को पोषण देने वाले तत्व उपलब्ध होते हैं, जो हमारे शरीर को पर्याप्त पोषण प्रदान करते हैं जिससे हमारे शरीर की मांसपेशियां विकसित होती हैं और हमारा शरीर का वजन बढ़ने लगता है। जिसके कारण हमारा शरीर मोटा तगड़ा दिखाई देने लगता है।

गुड हैल्थ कैप्सूल

गुड हैल्थ कैप्सूल

गुड हेल्थ कैप्सूल शरीर में मांसपेशियों के निर्माण में सहायक होता है जो भी दैनिक रूप से कसरत जिम द्वारा व्यायाम करते हैं शारीरिक शोषण ना मिलने के कारण उनकी मांसपेशियां विकसित नहीं हो पाती हैं। मांसपेशियों के विकास के लिए पर्याप्त पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है, पर्याप्त मात्रा में शरीर को पोषण देने के लिए गुड हेल्थ कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए।

जिससे हमारे शरीर की मांसपेशियों में विकास होगा, और हमारा शरीर का वजन बढ़ने लगेगा जिससे हमारा शरीर स्वस्थ तथा मोटा दिखाई देने लगेगा गुड हेल्थ कैप्सूल में उपस्थित पोषक तत्व शरीर में रक्त निर्माण में सहायक होते हैं। जिससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के कारण हमारा शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से लड़ने में सक्षम हो रहता है, और शरीर में किसी भी प्रकार की बीमारी नहीं होने पाती है, शरीर के स्वस्थ होने के कारण हमारे शरीर का विकास होने लगता है।

ड्रोनाबिनोल

ड्रोनाबिनोल

ड्रोनाबिनोल टेबलेट का प्रयोग शरीर में भूख की कमी को पूरा करने के लिए किया जाता है जिन व्यक्तियों में शरीर में विभिन्न प्रकार की कमियों के कारण भूख नहीं लगती है, भूख ना लगने के कारण हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त नहीं हो पाते हैं क्योंकि हम पर्याप्त मात्रा में खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करते हैं। जिससे हमारा शरीर कमजोर होने लगता है शरीर कमजोर होने के कारण हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी हो जाती है। जिससे हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार के रोग हो जाते हैं  शरीर की भूख बढ़ाने के लिए ड्रोनाबिनोल  टैबलेट का प्रयोग किया जाता है, जिससे हमारे शरीर में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त होते हैं पोषक तत्वों के पर्याप्त मात्रा में शरीर में पहुंचने के कारण हमारा शरीर स्वस्थ रहता है तथा शरीर का पूर्ण रूप से विकास होता है। पूर्ण रूप से विकास होने के कारण हमारा शरीर का वजन बढ़ने लगता है जिससे हमारा शरीर  मोटा तगड़ा दिखाई देने लगता है।

सिप्रोहेप्टाडिन

सिप्रोहेप्टाडिन

सिप्रोहेप्टाडिन टेबलेट का प्रयोग शारीरिक शक्ति के विकास के लिए किया जाता है जिन व्यक्तियों में शारीरिक शक्ति के कारणों से मांसपेशियों का विकास नहीं हो पाता है जिसके कारण उनके शरीर का विकास नहीं हो पाता है और शरीर दुबला पतला दिखाई देने लगता है तथा शरीर में विभिन्न प्रकार की कमजोरियां हो जाती हैं। इन सभी कमजोरियों को दूर करने के लिए सिप्रोहेप्टाडिन  टेबलेट का प्रयोग किया जाता है जो हमारे शरीर में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्रदान करता है।

जिससे हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और हमारे शरीर की मांसपेशियां विकास करने लगती है रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के कारण हमारा शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से लड़ने में सक्षम होता है, और मांसपेशियों के विकास के कारण हमारा शरीर मोटा दिखाई देने लगता है। सिप्रोहेप्टाडिन हमारे शरीर में भूख ना लगने की कमी को भी पूरा करती है। अतः शरीर में कमजोरी को दूर करने के लिए सिप्रोहेप्टाडिन का प्रयोग किया जाता है। 

निष्कर्ष

हमारे शरीर को जब पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व नहीं प्राप्त होते हैं, तो हमारे शरीर कई मांसपेशियों का विकास रुक जाता है। मांसपेशियां पूर्ण रूप से विकसित ना होने के कारण हमारे शरीर दुबला पतला दिखाई देने लगता है, शरीर दुबला पतला दिखाई देने के साथ-साथ शरीर के शक्ति में विकास ना होने के कारण हमें विभिन्न प्रकार के रोग हो जाते हैं जिनसे हमें विभिन्न प्रकार की परेशानियां प्रारंभ हो जाती इन सभी परेशानियों से बचने के लिए शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व मिलना आवश्यकता है। खाद्य पदार्थों के अलावा शरीर की पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए हम कुछ न्यूट्रीशन का प्रयोग करते हैं, जिनके द्वारा शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा किया जाता है। उपरोक्त लेख में हमने ऐसे ही कुछ मोटा होने के लिए टेबलेट के नाम तथा जानकारी दी है, जिससे आपने दुबले पतले शरीर को स्वस्थ तथा मोटा बना सकते हैं।

FAQ

मोटे होने की सबसे अच्छी टेबलेट कौन सी है?

शरीर के पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की टैबलेट्स के नाम बताए गए हैं जिनका प्रयोग करते हुए आप अपने शरीर को मोटा बना सकते हैं शरीर को मोटा करने के लिए गुड हैल्थ कैप्सूल, पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल, वैद्यनाथ सफेद मुसली टेबलेट आदि टेबलेट का प्रयोग किया जा सकता है।

मोटा होने के लिए टेबलेट के नाम price क्या है?

मोटा होने के लिए टेबलेट के नाम उपरोक्त लेख में बताए गए हैं जिसमें विभिन्न प्रकार की कंपनियों के अलग-अलग टैबलेट्स तथा उनके बारे में बताया गया है टैबलेट प्राइस का निर्धारण उनके कंपनियों द्वारा किया जाता है। इसलिए अलग-अलग कंपनियों की टेबलेट के प्राइस अलग-अलग होते हैं आपको जिस भी कंपनी की टेबलेट की आवश्यकता हो किसी भी मेडिकल स्टोर पर उसके बारे में जानकारी मिल जाएगी जो हमसे आप उसे कह सकते मेडिकल स्टोर में आप तो price के बारे में बता दिया जाएगा।

mote hone ke liye kya khaye (मोटा होने के लिए क्या खाएं)?

मोटा होने के लिए हम ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं जिन से हमारे शरीर को पोषण प्रदान होता है और वह प्रोटीन युक्त होते हैं प्रोटीन हमारे शरीर की मांसपेशियों के विकास में सहायक होती है। इसलिए शरीर को मोटा करने के लिए अत्यधिक प्रोटीन युक्त पदार्थों का सेवन करना चाहिए साथ ही अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो हमारे शरीर की अन्य जरूरतों को पूरा करते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.