मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है

मुठ मारना एक अनैतिक सेक्स क्रिया है जिसको सामान्य भाषा में हस्तमैथुन के नाम से जाना जाता है जिन महिला का पुरुष का कोई सेक्स पार्टनर नहीं होता है, वे  सेक्स इच्छा को मिटाने के लिए लड़के हाथ में पकड़ कर तथा  लड़कियां उंगली डालकर सेक्स क्रिया करती है, जिसे हस्तमैथुन या मुठ मारना कहते हैं एक सीमित मात्रा में हस्तमैथुन करना से शरीर पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है किंतु सप्ताह में 3 से अधिक बार हस्तमैथुन करने से शारीरिक में कमजोरी हो जाती है जिसके कारण हमारे शरीर में थकान निंद्रा तथा उत्तेजना की कमी आ जाती है आज के इस लेख में हम आपको बताते चलें कि जिन लोगों की सोच होती है कि मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है? तो आपको हम बताते चलें कि सप्ताह में 3 बार हस्तमैथुन या मुठ मारने से कमजोरी नहीं आती है, लेकिन जो महिला या पुरुष सप्ताह में 12 से 13 बार हस्तमैथुन करते हैं, उनको कमजोरी निश्चित रूप से आ जाती है

मुठ कैसे मारते हैं?

मुठ कैसे मारते

मुठ मारने या हस्तमैथुन करने का मुख्य उद्देश्य शारीरिक सेक्स की इच्छा को मिटाना होता है पुरुष तथा महिलाओं में विभिन्न कारणों जैसे पोर्न वीडियो देखना तथा पोर्न फोटो या किसी प्रकार का उत्तेजित करने वाला मूवी देखने के कारण  महिला तथा पुरुषों में सेक्स की इच्छा जागृत हो जाती है जिसको पूर्ण करने के लिए महिला तथा पुरुष दोनों के पास यदि कोई सेक्स पार्टनर नहीं होता है, तो वह हस्तमैथुन का सहारा लेते हैं हस्तमैथुन करने के लिए पुरुष हाथ से, तकिए से, उत्तेजित लिंग पर घर्षण करके लिंग को स्खलित करते हैं वहीं महिलाएं किसी कोमल वस्तु जैसे उंगली,  मूली, गाजर या सेक्स टॉय का प्रयोग करके योनि को स्खलित कराती हैं जिससे जागृत हुई सेक्स इच्छा समाप्त हो जाती है, यह क्रिया मुठ मारना या हस्तमैथुन कहलाता है अर्थात बिना किसी पार्टनर के महिला तथा पुरुष का सेक्स करना हस्तमैथुन कहलाता है जिसे आम भाषा में मुठ मारना कहते हैं

मुठ मारने के कारण

मुठ मारने के कारण

महिला तथा पुरुष जब हस्तमैथुन करते हैं, तो इस का मुख्य कारण सेक्स क्रिया की उत्तेजना होती है यह सेक्स उत्तेजना मानसिक दशा तथा भौतिक कारणों के कारण हो सकती है कभी-कभी हम गलत संगत में पड़ कर भी ऐसे कार्य करने लगते हैं महिला तथा पुरुष दोनों ही मुठ मारते हैं जिसका मुख्य कारण बिना सेक्स पार्टनर के सेक्स इच्छा को तृप्त करना होता है हस्तमैथुन करने के लिए निम्नलिखित कारण हो सकते हैं

  • पोर्न वीडियो देखना है
  • सेक्स से संबंधित किताबें पढ़ना
  • पूर्व किसी सेक्स साथी के बारे में सोचना
  • एडल्ट फोटो देखना है
  • किसी सेक्सुअल महिला तथा पुरुष को देखना 
  • पेशाब को अधिक देर तक रोककर रखना
  • सेक्सुअल मानसिक स्थिति के कारण
  • सेक्स की इच्छा होने पर पार्टनर का ना होना
  • बहुत लंबे समय तक अपने पार्टनर से दूर रहना 

रोजाना हिलाने से क्या होता है

यदि आप दैनिक रूप से हिलाकर सेक्स की इच्छा को पूरा करते हैं यह आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है, किंतु यदि आप सीमित मात्रा में सप्ताह में दो से चार बार हिलाते, हस्तमैथुन करते हैं, तो आपको या आपके शरीर को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है जबकि से फायदा ही होता है कोई भी कार्य यदि आप अधिक मात्रा में करते हैं, तो वह आपके लिए नुकसानदायक होता है इसी प्रकार यदि आप हस्तमैथुन की क्रिया या दैनिक रूप से मुठ मारते हैं, तो वह आपके लिए नुकसानदायक होगा इससे आपको शारीरिक कमजोरी हो सकती है, तथा विभिन्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं

हिलाने से क्या होता

इसलिए हस्तमैथुन या मुठ मारना सीमित मात्रा में गलत नहीं है, किंतु ध्यान रहे कि यह क्रिया एक निश्चित समय अंतराल के पहले ना दोहराएं जिससे आपका शरीर में कमजोरी ना होने पाए शारीरिक कमजोरी होने के कारण विभिन्न प्रकार के रोगों के शिकार हो सकते हैं, जो भविष्य में आप के लिए चिंता का विषय है किंतु सीमित मात्रा में मुठ मारने से मानसिक तनाव दूर होता है तथा सेक्स इच्छा पूरी होती रहती है

हिलाने के फायदे और नुकसान

जैसा कि ऊपर बताया गया है, कि मुठ मारने के अर्थात हिलाने के फायदे तथा नुकसान दोनों यदि आप सीमित मात्रा में हस्तमैथुन करते हैं वह आपके लिए फायदेमंद है, किंतु इसी के विपरीत यदि आप दैनिक रूप से या दिन में दो से तीन बार हस्तमैथुन क्रिया करते हैं, यह आपके लिए नुकसानदायक हो सकती है इसके आप के शरीर पर  विपरीत प्रभाव पड़ सकते हैं जिसके कारण आपको विभिन्न प्रकार की शारीरिक समस्याएं हो सकती हैंआप शारीरिक तथा मानसिक रूप से कमजोर भी हो सकते हैं हिलाने अर्थात हस्तमैथुन करने के निम्नलिखित फायदे तथा नुकसान है

  • मुठ मारने से क्या नुकसान होता है?
  • मुठ मारने से क्या फायदे होते है?

मुठ मारने से क्या नुकसान होता है

ठ मारने से क्या नुकसान

हस्तमैथुन क्रिया के कुछ जानकारों का कहना है, कि हस्तमैथुन अर्थात मुठ मारने से शरीर पर कोई भी प्रभाव नहीं पड़ता है किंतु एक अध्ययन के दौरान पाया गया कि सीमित मात्रा में सेक्स अर्थात हस्तमैथुन करना तो सुरक्षित होता है किंतु यदि हस्तमैथुन क्रिया बहुत अधिक बार की जाती है तो  इससे हमारे शरीर पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ता है जिसके कारण हमारे शरीर के ऊपर नष्ट होती है, दैनिक रूप से अधिक ऊर्जा नष्ट होने के कारण हमारे शरीर की शारीरिक शक्ति कमजोर हो जाती है, और शारीरिक शक्ति के कमजोर हो जाने के कारण हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार के रोग तथा समस्याएं होने लगती हैं दैनिक रूप से मुठ मारने पर हमारे शरीर में निम्नलिखित समस्याएं होती हैं

  • शारीरिक कमजोरी हो जाना
  • वीर्य का पतला हो जाना
  • लिंग में पर्याप्त तनाव ना आना
  • शीघ्रपतन हो जाना
  • प्रजनन क्षमता कमजोर हो जाना
  • लिंग का पतला व छोटा रह जाना
  • शुक्राणुओं की कमी हो जाना

शारीरिक कमजोरी हो जाना

शारीरिक कमजोरी हो जाना

यदि हम दैनिक रूप से हस्तमैथुन करते हैं तो  हर बार सेक्स करने पर हमारे शरीर से 2 किलोमीटर दौड़ने जितनी उर्जा खर्च होती है, अर्थात एक बार सेक्स करने पर 2 किलोमीटर दौड़ने के बराबर ऊर्जा समाप्त होती है यदि हम  बार-बार यह क्रिया दोहराते हैं, तो हमारे शरीर से बहुत सारी ऊर्जा व्यर्थ होती है साथ ही साथ हमारा शरीर दैनिक रूप से निश्चित मात्रा में ही शुक्राणु अर्थात वीर्य का निर्माण करता है बार-बार वीर्य स्खलित करने के कारण भी हमारे शरीर से ऊर्जा खत्म होती है, अधिक मात्रा में शरीर से ऊर्जा तथा वीर्य में प्रोटीन का शरीर से उत्सर्जन होने के कारण हमारे शरीर में कमजोरी आ जाती है

वीर्य का पतला हो जाना

वीर्य का पतला हो जाना

हमारे शरीर में शुक्राणुओं का निर्माण टेस्टिस में होता है, जो कि टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की सहायता से होता है टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का श्रावण हमारे शरीर में निश्चित मात्रा में होता है, जिसके कारण शुक्राणुओं का निर्माण भी एक निश्चित मात्रा में ही हो पाता है यदि हम दैनिक रूप से अधिक मात्रा में वीर्यपात करते हैं जिसमें शुक्राणु तथा प्रोटीन और अन्य पदार्थ होते हैं तो धीरे-धीरे हमारे वीर्य से शुक्राणु समाप्त हो जाते हैं केवल प्रोटीन तथा अन्य पदार्थ रह जाते हैं, जिसके कारण वीर्य पतला हो जाता है, तथा वीर्य का रंग सफेद से पानी की तरह हो जाता है वीर्य के पतले हो जाने के कारण विभिन्न प्रकार की समस्याएं होती हैं जिनमें शीघ्रपतन एक महत्वपूर्ण समस्या इस समस्या के कारण पुरुष अधिक देर तक सक्रिय नहीं रह पाता है, और अपनी महिला जीवनसाथी के संतुष्ट होने के पहले ही स्खलित हो जाता है वीर्य को गाढ़ा करने की दवा बहुत सारी उपलब्ध हैं और उनका प्रयोग करके पतले वीर्य की समस्या को ठीक किया जा सकता है यदि आप को मुठ मारने की वजह से वीर्य पतला हो गया है और आप पतले वीर्य की समस्या से परेशांन हैं तो इन दवाओ का सेवन कर सकते हैं।

लिंग में पर्याप्त तनाव ना आना

लिंग में पर्याप्त तनाव ना आना

दैनिक रूप से हस्तमैथुन की क्रिया अर्थात मुठ मारने से हमारे लिंग में अधिक घर्षण लगता है जिसके कारण हमारे लिंग की नसे कमजोर हो जाती हैं नसों के कमजोर हो जाने के कारण कुछ समय पश्चात लिंग में विभिन्न प्रकार की समस्याएं होने लगती हैं, जिसमें लिंग में तनाव ना आने की समस्या एक महत्वपूर्ण समस्या है लिंग की नसों में कमजोरी होने के कारण लिंग में पर्याप्त मात्रा में तनाव नहीं आता है तनाव ना होने से महिला साथी को सेक्स क्रिया के दौरान आनंद की प्राप्ति नहीं होती है आनंद की प्राप्ति करने के लिए बाजार में बहुत सारी लिंग में तनाव लाने वाली दवाईयां उपलब्ध हैं जिनका प्रयोग करते हुए लिंग में तनाव न आने की समस्या का इलाज किया जा सकता है। 

शीघ्रपतन हो जाना

शीघ्रपतन हो जाना

दैनिक रूप से अधिक मात्रा में हस्तमैथुन करने हमारा  वीर्य पतला हो जाता है जिस के कारणों का उल्लेख उपरोक्त किया गया है वीर्य पतला हो जाने के कारण उत्तेजना के कारण जब हम सेक्स क्रिया प्रारंभ करते हैं, तो 2 मिनट के अंदर ही हमारे लिंग से वीर्यपात हो जाता है, क्योंकि हमारे वीर्य में शुक्राणु ना होने के कारण वह बहुत पतला होता है जिसको हमारा शरीर रोक नहीं पाता है, और वह शीघ्र ही स्खलित हो जाता है वीर्य स्खलित होने पर लिंग शिथिल हो जाता है अर्थात लिंग से तनाव समाप्त हो जाता है जिसके कारण पुरुष सेक्स क्रिया नहीं कर पाता है और महिला साथी असंतुष्ट रह जाती है शीघ्रपतन होने के कारण महिला तथा पुरुष के आपसी रिश्ते खराब हो जाते हैं, क्योंकि महिला साथी सेक्स क्रिया में संतुष्टि चाहती है, और वह पुरुष द्वारा संतुष्ट नहीं हो पाती है। पुरुष तथा महिलाओं के आपसी रिश्ते बनाये रखने के लिए शीघ्रपतन की समस्या का इलाज जरुरी है जिसके लिए बाजार में बहुत सारी शीघ्रपतन की दवा उपलब्ध हैं।

प्रजनन क्षमता कमजोर हो जाना

प्रजनन क्षमता कमजोर हो जाना

यदि आप अधिक मात्रा में हस्तमैथुन का प्रयोग करते हैं या आप दैनिक रूप से अधिक मात्रा में मुठ मारते हैं, तो दैनिक रूप से शुक्राणुओं का नाश होता है जबकि हमारे टेस्टिस में शुक्राणु एक निश्चित मात्रा में ही बन पाते हैं जिसके कारण हमारे वीर्य में शुक्राणुओं की कमी हो जाती है या फिर जो शुक्राणु बनते हैं वे परिपक्व नहीं हो पाते हैं स्वस्थ शुक्राणु ना होने के कारण यदि आप किसी महिला जीवन साथी के साथ सेक्स क्रिया करते हैं तो वह गर्भधारण नहीं कर पाती है क्योंकि उस समय आप की प्रजनन क्षमता बहुत कम हो गई होती है अर्थात आपके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या ना होने के कारण महिला गर्भवती नहीं हो पाती है जिसे पुरुष बांझपन भी कहते हैं 

लिंग का पतला व छोटा रह जाना

लिंग का पतला व छोटा रह जाना

दैनिक रूप से हस्तमैथुन करने के कारण लिंग की नसों में कमजोरी आ जाती है, जिसके कारण लिंग का विकास नहीं हो पाता है, अर्थात यदि आप अधिक मात्रा में मुठ मारते हैं तो हाथ के रगड़ने के कारण लिंग की नसों में कमजोरी आ जाने के कारण लिंग का विकास पर्याप्त मात्रा में नहीं हो पाता है जिसके कारण वीर्य के बदले होने के साथ-साथ लिंग पतला छोटा रह जाता है, जो सेक्स करते समय योनि में पर्याप्त रूप से इच्छा नहीं पाता है इसके कारण महिला साथी को सेक्स संतुष्टि की प्राप्ति नहीं हो पाती और महिल पुरुष के बीच रिश्ते खाराब हो जाते हैंलिंग को मोटा और लम्बा बनाने के लिए बहुत सारी दवाईयां उपलब्ध हैं जिनका प्रयोग कर के लिंग का आकार बड़ा व मोटाकिया जा सकता है।  

शुक्राणुओं की कमी हो जाना

शुक्राणुओं की कमी हो जाना

दैनिक रूप से हस्थ मैथुन करने से दैनिक वीर्य पात होता है जिसके कारण वीर्य में शुक्राणुओ की कमी हो जाती है जिसके कारण वीर्य पतला हो जाता है और पुरुषों में प्रजाजन क्षमता भी कम हो जाती है और शुक्राणु की कमी के कारण शीघ्रपतन की समस्या भी होने लगती है। शीघ्रपतन से बचने के लिए बाजार में बहुत सारी शीघ्रपतन की दवाइयां उपलब्ध हैं जिनके प्रयोग से शुक्राणुओ की संख्या बढती है और होने वाली शीघ्रपतन की समस्या से बचा जा सकता है। 

हिलाने के फायदे या मुठ मारने के फायदे 

मुठ मारने के फायदे 

हिलाने के बहुत सारे फायदे होते हैं, सामान्य स्तर पर देखा जाए तो मुठ मारना एक अनैतिक क्रिया है यह एक आप्रकृतिक सेक्स होता है जिसका आनंद सिंगल व्यक्ति द्वारा लिया जाता है वह चाहे महिला हो चाहे पुरुष मुठ मारने के कुछ नुकसान तथा कुछ फायदे होते हैं यदि आप निश्चित समय अंतराल के पश्चात मुठ मारते हैं तो निश्चित रूप से इसके फायदे होते हैं किंतु इसके विपरीत यदि आप दैनिक रूप से या अधिक मात्रा में अपने शारीरिक शक्ति के अनुसार ना रहकर शरीर की सहनशक्ति से अधिक बार मुठ मारते हैं तो इसके आपको नुकसान होते हैं मुठ मारने के नुकसान की जानकारी उपरोक्त दी गई है अब हम आपको कुछ मत मारने से होने वाले फायदों की जानकारी देंगे जो निम्नलिखित में

  • यौन उत्तेजना को शांत करती है हस्तमैथुन क्रिया।
  • आपके संबंध शक्ति को मजबूत बनाता है।
  • तनाव करता है दूर।
  • नींद होती है बेहतर।
  • एकाग्रता बढ़ाने में होता है सहायक।
  • शारीरिक दर्द कम करने में हस्तमैथुन काम आता है।
  • सेक्स में सुधार।

मुठ मारने से आई कमजोरी का घरेलू औषधि बताइए

यदि आप अधिक मात्रा में मुठ मारते हैं या हस्तमैथुन करते हैं तो आपके शरीर में कुछ कमजोरियां हो जाती हैं इन कमजोरियों के कारण आपके शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्याएं शुरू हो जाती हैं इन समस्याओं में सर्वाधिक समस्याएं सेक्स से संबंधित समस्याएं होती हैं जो आपको शादी के बाद देखने को मिलाती है  ऐसे व्यक्तियों के लिए आज हम बचपन में की गई गलतियों के कारण हुई शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए जिससे सेक्स क्रिया सामान्य रूप से की जा सके और जीवन को सामान्य तरीके से चलाया जा सके उसके लिए कुछ घरेलू उपाय की जानकारी देंगे जिससे आप होने वाली कमजोर सेक्स की समस्या को दूर कर सकते हैं। यह निम्नलिखित हैं

  • ताजे फलों का सेवन करें।
  • पौष्टिक आहार ले।
  • दैनिक रूप से व्यायाम करें।
  • घूमने की आदत डालें। 
  • विटामिन सी का प्रयोग अधिक मात्रा में करें।
  • तनाव मुक्त रहें।
  • धूम्रपान तथा अल्कोहल का प्रयोग ना करें। 

निष्कर्ष

मुठ मारने के कारण हमारे शारीर में बहुत में बहुत सारी उर्जा का नाश होता है इससे हमारे शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती है। जिससे हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की कमजोरियां हो जाती है, तथा शरीर के कमजोर हो जाने के कारण हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार के रोग हो जाते हैं। इन रोगों में अधिकतर रोग सेक्स समस्याओं से संबंधित होते हैं, सामान्य स्थिति तथा निश्चित अंतराल के पश्चात मुठ मारना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। वहीं इसके विपरीत यदि इसके मरीज हो जाते हैं। आपको इसकी आदत हो जाती हैं, और हम अधिक मात्रा में हस्तमैथुन किया करते हैं, तो हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्या हो जाती है, जो लोग अक्सर ही हैं पूछते हुए पाए जाते हैं किमुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है? उनके लिए हमने उपरोक्त लेख में बताया है कि मुठ मारने से किस प्रकार की कमजोरी आती है और व्यक्ति और कौन-कौन से सेक्स संबंधित बीमारियां हो जाती है। 

FAQ

एक महीने में कितनी बार मुठ मारनी चाहिए?

मुठ मारने अर्थात हस्तमैथुन करने की कोई निश्चित संख्या उपलब्ध नहीं है कुछ लोग सप्ताह में तीन से चार बार इस क्रिया को करना स्वस्थ शरीर के लिए मांनते हैं किंतु कुछ लोग इसे अप्राकृतिक सेक्स मानते हैं मुठ मारने से शरीर की शक्ति का विनाश होता है अतः हम यह कह सकते हैं कि हम अपने शारीरिक शक्ति के अनुसार ही हस्तमैथुन क्रिया कर सकते हैं यदि आप शारीरिक क्षमता के अनुशार सेक्स क्रिया करते हैं तो कोई समस्या नहीं होती है लेकिन अधिक बार मुठ मारने के कारण शारीर में बहुत समस्याएं हो जाती हैं।

मुठ मारने से शरीर में क्या क्या कमजोरी आती है?

मुठ मारने से शारीर में बहुत अधिक समस्याएं हो जाती है जिसके कारण हमारे शारीर में कुछ शारीरिक कमजोरी हो जाना, वीर्य का पतला हो जाना, लिंग में पर्याप्त तनाव ना आना आदि समस्याएं हो जाती हैं उपरोक्त लेख में मुठ मारने से सम्बंधित सभी प्रकार की होने वाली समस्याएं होने लगती हैं जिसके अध्ययन के पश्चात आप शारीरिक कमजोरियों की जानकारी ले सकते हैं।

मुठ मारने से कौन सी कमी होती है?

हस्तमैथुन आपको अंधा या पागल नहीं बनाता है इसे करने से आपकी आंखों के नीचे काला नहीं पड़ता है और न ही ये आपके शारीरिक विकास को रोकता है, सच्चाई ये है कि इसे करने से आपके तनाव कम होते हैं, और शरीर में खुश करने वाले हार्मोन इंडॉरफिंस रिलीज होते हैं, साथ ही कुछ अधिक मात्रा में मुठ मारने की समस्या के कारण कुछ अधिक शारीरिक कमजोरियां हो जाती हैं, ये कमजोरियों की जानकारी उपरोक्त लेख में दी गयी है जिसके अध्ययन के पश्चात आप जान सकते हैं की मुठ मारने से क्या और कौन सी कमी होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.