पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

भोजन के पाचन में  पेट में गैस बनना एक आम बात है भोजन के पाचन क्रिया में विभिन्न प्रकार के पदार्थों का  जब पेट में  दोहन होता है तो समय सभी खाद्य पदार्थ आपस में मिलते हैं और पाचन क्रिया में सभी खाद्य पदार्थों का रस निकाला जाता है जिसके फलस्वरूप कुछ गैसे पेट में बनती है पेट में गैस बनना आम बात है लेकिन कई बार इसकी वजह से सीने में भी दर्द होने लगता है। गैस भयंकर तरीके से सिर में चढ़ जाती है और उल्टियां तक आने लगती है। इस समस्या से बचने के लिए आज हम आप को पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय बताएँगे। 

अगर आपको भी खतरनाक तरीके से गैस बनती है तो आप देसी दवाई की जगह घरेलू उपायों के जरिए इस बीमारी को जड़ से खत्म कर सकते हैं। दरअसल, गैस बनने से पेट फूलने लगता है और पाचन संबंधी दिक्कत पैदा हो जाती है। अगर आपको ज्यादा गैस बनती है तो इसे बिल्कुल भी हल्के में न लें क्योंकि इसकी वजह से आपको घातक पेट के रोग हो सकते हैं।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

पेट में गैस बनने के कारण

हमारे पेट का मुख्य कारण भोजन की पाचन क्रिया तथा पाचन क्रिया के फलस्वरूप निकले पोषक तत्वों का ट्रांसपोर्टेशन होता है यह पोषक तत्व हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं किन पोषक तत्व बनने के पहले शरीर हमारे द्वारा लिए गए भोजन को विभिन्न क्रियाओं द्वारा बचाता है यह अभिक्रियाएं विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों, हारमोंस, इंजॉइमस,  तथा विभिन्न प्रकार के रासायनिक तत्वों की उपस्थिति में होती हैं।

जिसके फलस्वरूप शरीर को संचालित करने के लिए पोषक तत्व अपशिष्ट पदार्थ, तथा कुछ गैसें बनती हैं यह कैसे समय-समय पर निकलती रहती हैं किंतु जब जैसे अधिक मात्रा में बनने लगती हैं तो यह शरीर के लिए हानिकारक हो जाता है। पेट में गैस बनने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं

  • अत्यधिक भोजन करना।
  • लंबे समय तक भूखे रहना।
  • भोजन के समय अधिक पानी पीना। 
  • तीखा या चटपटा भोजन करना।
  • ऐसे भोजन का सेवन जो पचने में कठि‍न हो।
  • ज्यादा फ़ास्ट फ़ूड का प्रयोग करना। 
  • भोजन ठीक तरह से चबाकर न खाने पर।
  • ज्यादा चिंता करना।
  • बहुत ज्यादा गर्म भोजन करना।
  • शराब पीना।
  • कुछ दवाओं के सेवन के कारण।
  • भोजन के बाद पर्याप्त आराम न लेना।
  • डेयरी प्रोडक्ट्स।
  • जल्दी-जल्दी खाना।  

पेट में अत्यधिक गैस बनने के लक्षण

जब पेट में अत्यधिक गैस बनने लगती है तो हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्याएं प्रारंभ हो जाती हैं। यह समस्या है हमारे पेट को और हमारे शरीर को बीमार बना देती हैं। इसके कारण हमें गैस की समस्या पर विशेष ध्यान देना चाहिए यदि आपको गैस हो गई है, तो उसके लक्षणों को जानकर अति शीघ्र किसी विशेष प्रकार की औषधि का प्रयोग करना चाहिए। पेट में गैस बनने के लक्षण निम्नलिखित हैं

  • भूख न लगना।
  • पेट में दर्द होना।
  • सांसों को बदबूदार होना।
  • पेट से निकलने वाली गैस का बदबूदार होना। 
  • पेट में सूजन रहना।
  • पेट में ऐंठन और हल्के-हल्के दर्द का आभास होना।
  • चुभन के साथ दर्द होना तथा कभी-कभी उल्टी होना।
  • सिर में दर्द रहना भी इसका एक मुख्य लक्षण हैं।
  • पूरे दिन आलस जैसा महसूस होता है।
  • उलटी, दस्त होना ।
  •  पेट में बदहज़मी होना। 
  • पेट फूलना।
  • पेट में एसिडिटी का होना। 

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

यदि हम अपने पेट को स्वस्थ बनाना चाहते हैं और पेट के साथ साथ हम चाहते हैं कि हमारा शरीर भी स्वस्थ और सुंदर रहे तो हमें अपने पेट की समस्त विकारों को जड़ से खत्म करने की जरूरत होती है। क्योंकि पेट की कमी के कारण हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार के रोग हो जाते हैं। यदि हमारा पेट स्वस्थ नहीं रहता है तो हमारे शरीर में रोगों की विभिन्न प्रकार की समस्याएं होने लगती है तो यदि अगर आप चाहते है, कि आपका शरीर स्वस्थ रहे इसके लिए आपको सबसे पहले अपने पेट को स्वस्थ रखना होगा, पेट को स्वस्थ रखने के निम्नलिखित उपाय हैं

  • पतंजलि गैस की रामबाण दवा 
  • आयुर्वेदिक दवा द्वारा gas ka ilaj
  • कुछ अंग्रेजी गैस की दवा
  • गैस की बीमारी को दूर करने के घरेलू विधि

पतंजलि गैस की रामबाण दवा

पतंजलि आयुर्वेद भारतीय आयुर्वेद की बहुत बड़ी  औषधि निर्माता कंपनी है जो विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण करती है। यह आयुर्वेदिक दवाएं पतंजलि कंपनी द्वारा दिव्य फार्मेसी की सहायता से तैयार की जाती है इन दवाओं का निर्माण विभिन्न प्रकार के प्राचीन आयुर्विज्ञान के अध्ययन से किया जाता है इसलिए दवाओं का शरीर का कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है पतंजलि द्वारा पेट की गैस को ठीक करने के लिए निम्नलिखित दवाओं का निर्माण किया गया है।  

  • पतंजलि दिव्य गैस हर चूर्ण
  • पतंजलि पाचक हिंग गोली
  • दिव्य चित्रकादि वटी
  • दिव्य अर्शकल्प वटी
  • पतंजलि दिव्य चूर्ण
  • पतंजलि आंवला स्वरस
  • पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण
  • पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण
  • पतंजलि दिव्य पाचक शोधित हरड़

पतंजलि दिव्य गैस हर चूर्ण

पतंजलि दिव्य गैस हरण चूर्ण का निर्माण पतंजलि आयुर्वेद द्वारा फार्मेसी की सहायता से किया गया है  इसमें पेट को ठीक करने वाले निम्नलिखित तत्व जैसे हरण आंवला काली मिर्च जीरा काला नमक आंवला सर आज आयुर्वेदिक पदार्थ को मिक्स करके बनाया जाता है, जो कि पेट के विभिन्न प्रकार की समस्याओं के लिए लाभदायक होता है पेट की गैस को जड़ से खत्म कर देता है। जिन लड़कियों में गैस की समस्या रहती है उनको पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय दैनिक रूप से पतंजलि दिव्य गैस हरण चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।

पतंजलि दिव्य गैस हर चूर्ण

पतंजलि दिव्य गैस हरण चूर्ण के फायदे 
  • पतंजलि गैस हरण चूर्ण पेट से गैस की समस्या को जड़ से खत्म करता है।
  • पतंजलि गैस हरण चूर्ण पेट की कब्ज को दूर करता है।
  • पतंजलि गैस हरण चूर्ण शरीर में भूख ना लगने के कारण कमजोरी को दूर करता है तथा भूख को बढ़ाता है।
  • पेट की विभिन्न समस्याओं जैसे एसिडिटी,  पेट दर्द,  अपच  आदि को दूर करता है।
  • फैटी लीवर को ठीक करता है इससे पाचन क्रिया सही ढंग से होती है।
  •  पेट के सभी विकारों को धूल करने के लिए पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।

पतंजलि पाचक हिंग गोली

पतंजलि पाचक हिंगोली पेट के लिए बहुत ही कारगर औषधि यह खाने में चटपटी और स्वादिष्ट लगती है, साथ ही साथ बैठ के विभिन्न प्रकार की बीमारियों को भी दूर करती है पाचक हिंदी में काला नमक हलाल आंवला आज विभिन्न प्रकार केआयुर्वेदिक तत्वों का मिश्रण होता है, जो हमारे शरीर से पेट की गैस की समस्या को जड़ से समाप्त कर देता है पाचक हिंगोली की डिब्बी में छोटी-छोटी काले रंग की गोलियां होती हैं। जिनका प्रयोग मुंह में रखकर चूसने के लिए किया जाता है यह पेड़ के लिए बहुत ही फायदेमंद होती हैं।

पतंजलि पाचक हिंग गोली

दिव्य पतंजलि पाचक हिंगोली के फायदे
  • पतंजलि पाचक हिंगोली को चूसने से पेटसे गैस की समस्या जड़ से  समाप्त हो जाती है।
  • पतंजलि पाचक हिंगोली  पेट से कब्ज को दूर करती हैं।
  • पेट से अपच को दूर करने के लिए पतंजलि पाचक हिंगोली को चूसना चाहिए।
  • हिंगोली के दैनिक प्रयोग से पेट में होने वाली समस्याएं समाप्त हो जाती है।
  • पतंजलि पाचक हिंगोली को चूसने से लार अधिक मात्रा में बनती है  जिससे पाचन क्रिया बहुत अच्छी होती है।

दिव्य चित्रकादि वटी

दिव्य चित्रकादि वटी का प्रयोग पेट की गैस को समाप्त करने के लिए किया जाता है। यह पेट की समस्या के लिए रामबाण औषधि है यह पेट की गैस को जड़ से समाप्त कर देती है। चित्रकादि वटी एक तरह का गोली होता है जो शरीर का पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए सेवन किया जाता है। चित्रकादि वटी  मूल रुप से पेट संबंधी तरह-तरह के आम बीमारियों से राहत दिलाने में मदद करती है।

यह आयुर्वेदिक औषधि गैस बनने और पेट फूलने जैसे समस्याओं के लिए उपचार के रुप में सेवन किया जाता है जिन व्यक्तियों में गैस से संबंधित पेट की अन्य समस्याएं होती हैं उनको दैनिक रूप से चित्रकारी वटी का प्रयोग करना चाहिए।

दिव्य चित्रकादि वटी

दिव्य चित्रकादि वटी के उपयोग व फायदे
  • दिव्य चित्रकादि वटी का प्रयोग पेट से गैस की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • पेट में आंतों की सूजन के लिए पतंजलि दिव्य चित्रकादि वटी का प्रयोग किया जाता है।
  • पेट में अपच तथा एसिडिटी को दूर करने के लिए दिव्य चित्रकादि वटी बहुत ही कारगर औषधि हैं।
  • पेट में जलन,  पेट की आंतों में सूजन,  लीवर में समस्या, पेट दर्द आदि समस्याओं में असरदार दवा है।
  •  दिव्य चित्रकादि वटी  पेट से गैस हो जाती है तथा भूख को बढ़ाती है।

दिव्य अर्शकल्प वटी

दिव्य अर्शकल्प वटी का प्रयोग पेट से गैस की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है अर्शकल्प वटी आयुर्वेदिक औषधि का प्रयोग पेट की समस्या को ठीक करने के लिए किया जाता है अर्शकल्प वटी बवासीर और फिस्टुला के लिए एक सिद्ध औषधि है। यह हर्बल अर्क के संयोजन से बनाया गया है जो सूजन को ठीक करने और दर्द और परेशानी को शांत करने की क्षमता रखता है। दिव्य अर्शकल्प वटी का प्रयोग गैस से पीड़ित व्यक्तियों को दैनिक रूप से करना चाहिए।

दिव्य अर्शकल्प वटी

दिव्य अर्शकल्प वटी का उपयोग तथा फायदे
  • दिव्य अर्शकल्प वटी का प्रयोग पेट से गैस की समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए किया जाता है।
  • दिव्य अर्शकल्प वटी शरीर में भूख ना लगने की समस्या को दूर करती है और शरीर की कमजोरी को दूर करती है।
  • पेट में किसी भी प्रकार की सूजन के लिए दिव्य अर्शकल्प वटी का प्रयोग करना चाहिए।
  • पेट के विभिन्न प्रकार के विकास जैसे गैस बदहजमी अपच एसिडिटी आज को समाप्त करने के लिए दैनिक रूप से दिव्य अर्शकल्प वटी का प्रयोग करना चाहिए।
  • लीवर की किसी भी समस्या के लिए दैनिक रूप से दिव्य अर्शकल्प वटी का प्रयोग करना चाहिए।

गैस की रामबाण दवा पतंजलि दिव्य चूर्ण

पतंजलि दिव्य चूर्ण पतंजलि आयुर्वेद द्वारा बनाया गया आयुर्वेदिक चूर्ण है, जो पेट की विभिन्न समस्याओं को जड़ से खत्म करता है। पतंजलि दिव्य चूर्ण पेट की गैस को समाप्त करने के लिए एक रामबाण औषधि है इसमें मुख्य रूप से काला नमक हींग अजवाइन  हरड़ आंवला विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक तत्व मिले होते हैं जोकि पेट की सभी समस्याओं को दूर करते हैं।

पतंजलि दिव्य चूर्ण

पतंजलि दिव्य चूर्ण के प्रयोग तथा फायदे
  • पतंजलि दिव्य चूर्ण का प्रयोग किस की समस्या को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • पतंजलि दिव्य चूर्ण का प्रयोग पेट से कब्ज तथा अपच को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • पतंजलि दिव्य चूर्ण पेट की बदहजमी को दूर करता है।
  • लीवर के फंक्शन को ठीक करने के लिए पतंजलि दिव्य चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।
  • भूख ना लगने की समस्या को दूर करने के लिए नियमित रूप से पतंजलि दिव्य चूर्ण का सेवन करना चाहिए।

पतंजलि आंवला स्वरस

पतंजलि आंवला स्वरस  आंवला  के फलों द्वारातैयार किया गया एक जूस होता है जो प्राकृतिक रूप से तैयार किया जाता है, या प्राकृतिक रूप से शुद्ध आंवला के फलों द्वारा निकाला जाता है जिसका प्रयोग गैस तथा पेट की अन्य समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। पतंजलि आंवला स्वरस का सेवन दैनिक रूप से करने से पेट से गैस की समस्या जड़ से समाप्त हो जाती है तथा पेट की अन्य बीमारियों के लिए भी पतंजलि आंवला स्वरस  लाभदायक होता है।

पतंजलि आंवला स्वरस

पतंजलि आंवला स्वरस  के उपयोग तथा फायदे
  • पतंजलि आंवला स्वरस पेट से गैस की समस्या को जड़ से समाप्त कर देता है।
  • भूख ना लगने की समस्या को दूर करने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि आंवला स्वरस का प्रयोग करना चाहिए।
  • पेट में बदहजमी अपच तथा कब्ज आदि समस्याओं को दूर करने के लिए पतंजलि आंवला स्वरस का सेवन करना चाहिए।
  • पेट में सूजन तथा पेट दर्द के लिए आंवला स्वरस का प्रयोग दैनिक रूप से करना चाहिए।
  • फैटी लीवर की समस्या को दूर करने के लिए नियमित रूप से आमला का सेवन करना चाहती।
यह भी जानें - लिंग मोटा लम्बा कैप्सूल हिमालया – पेनिस साइज बढ़ाने की दवा Himalaya

पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण

पतंजलि आयुर्वेद द्वारा पेट के विभिन्न समस्याओं को दूर करने के लिए पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण का निर्माण किया गया जैतून पेट की प्रत्येक समस्या को जड़ से खत्म कर देता है, तथा पेट में जमा फैट भी हटा देता है पेट में हो रहे गैस की समस्या को दूर करने के लिए  पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण का प्रयोग दैनिक रूप से करना चाहिए। यह पेट में लीवर के फंक्शन को भी ठीक करता है जिससे हमारी पाचन क्रिया सुचारू रूप से संपन्न होती है।

पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण

पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण के उपयोग तथा फायदे
  • पेट से गैस की समस्या को ठीक करने के लिए पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण  का प्रयोग किया जाता है।
  • पेट में अपच कब्ज तथा एसिडिटी को दूर करने के लिए पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।
  • यदि आपको  पेट में लीवर से संबंधित कोई बीमारी है तो दैनिक रूप से आपको इस चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।
  • पेट में अत्यधिक दर्द बदहजमी तथा अन्य समस्याओं के लिए पतंजलि दिव्य उदरकल्प चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।

पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण

पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण मुख्य रूप से पेट की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए बताया गया है  इसमें मुख्य रूप से मेंथी, अदरक, कुटकी आज घटक मौजूद रहते हैं जो पेट की समस्याओं को दूर करते हैं पेट की सबसे बड़ी समस्या गैस की समस्या होती है। पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण गैस की समस्याओं को जड़ से समाप्त कर देता है जिससे हमारे पेट से अन्य प्रकार की सभी समस्याएं समाप्त हो जाती है।

पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण

 पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण के फायदे तथा उपयोग
  • पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण गैस की समस्या को जड़ से खत्म कर देता है।
  • पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण कब्ज, अपच, तथा एसिडिटी को दूर करता है।
  • पेट की आंतों में सूजन के लिए पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण  का प्रयोग करना चाहिए।
  • भूख ना लगने की समस्या को ठीक करने के लिए पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण का प्रयोग करने ग्रुप से करना चाहिए।
  • पेट में हो रही  विशेष प्रकार के दर्द तथा एंठन के लिए पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण का प्रयोग किया जा सकता है।
  • पतंजलि दिव्य वातारि चूर्ण का प्रयोग लीवर की यूरिक एसिड की दवा के लिए भी किया जाता है। 

पतंजलि दिव्य पाचक शोधित हरड़

पतंजलि दिव्य पाचक शोधित हरड़

शरीर की सभी बीमारियों का मूल कारण पेट की बीमारियां होती है अतः शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पेट की बीमारियों का समाप्त होना अति आवश्यक होता है। पेट के विभिन्न बीमारियों में गैस की बीमारी सबसे खतरनाक बीमारी होती जो जो शरीर के अन्य विभिन्न प्रकार की बीमारियों का कारण बनती है पाचक शोधित हरड़ त्रिदोष हारा है। 

यह आपको अपनी इच्छानुसार कुछ भी खाने और आसानी से पचाने में मदद करता है। यह पतंजलि प्राकृतिक स्वास्थ्य देखभाल में कई विकल्पों में से एक है और आपके दैनिक पाचन के लिए चुनने के लिए पाचन उत्पादों की सीमा होती है। पतंजलि पाचक शोधित  हरण पेट की गैस को जड़ से समाप्त करती है ।

पतंजलि दिव्य पाचक शोधित  हरण के फायदे 
  • पतंजलि पाचक शोधित हरड़ पेट से गैस की बीमारी को जड़ से समाप्त करती है।
  • पतंजलि पाचक शोधित हरड़ का प्रयोग पेट से गैस तथा बदहजमी अपच कब्ज आदि को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • भूख ना लगने की समस्या को दूर करने के लिए नियमित रूप से पतंजलि दिव्य पाचक शोधित हरण का प्रयोग करना चाहिए।
  • पेट में लीवर फंक्शन को ठीक करने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि पाचक शोधित हरड़ का प्रयोग किया जाता है।

आयुर्वेदिक दवा द्वारा gas ka ilaj

हमारे पेट में खाने की अनियमितता के कारण गैस की समस्या होने लगती है यदि हम कभी कभी ऐसे भोज्य पदार्थों का सेवन कर लेते हैं जो की पाचन क्रिया में बहुत अधिक समय लेते हैं या फिर हम बहुत अधिक मात्रा में भोज पदार्थों का सेवन कर लेते हैं। इस कारण हमें गैस की समस्या बढ़ जाती है हम सभी ने अपने जीवन में कभी न कभी पेट में सूजन या पेट में गैस महसूस की होगी। खाना खाने के बाद पेट में फंसी हुई गैस का अहसास काफी असहज होता है। पेट फूलना यानी गैस एक आम पाचन समस्या है, जो बस कुछ देर के लिए रहती है और कई बार अपने आप ठीक भी हो जाती है। गैस की समस्या तो ठीक करने के लिए आज हम आपको कुछ आयुर्वेदिक दवाओं की जानकारी देंगे  यह दवाइयां निम्नलिखित हैं।

  • Himalaya Gasex 
  • झंडू पंचारिष्ट
  • लिव-52 टेबलेट व सिरप 
  • हिमालय गैसेक्स सिरप 
  • त्रिफला चूर्ण
  • Amlapittari vati

Himalaya Gasex 

Himalaya Gasex का प्रयोग गैस की समस्या को ठीक करने के लिए किया जाता है जिन व्यक्तियों में दहेज ग्रुप से गैस की समस्या होती है उन को नियमित रूप से सुबह तथा शाम खाने के बाद Himalaya Gasex टैबलेट का प्रयोग करना चाहिए इससे पेट में गैस के साथ-साथ अन्य बीमारियां दूर हो जाती है।

Himalaya Gasex 

Himalaya Gasex के  फायदे 

  • पेट की गैस का तुरंत इलाज करने के लिए Himalaya Gasex  का प्रयोग किया जाता है। 
  • पेट में अपच बदहजमी गैस आज को दूर करने के लिए  नियमित रूप सेHimalaya Gasex  का प्रयोग किया जाता है।
  • भूख ना लगने की समस्या को दूर करने के लिए  Himalaya Gasex  का प्रयोग किया जाता।
  • पेट में आंतों की सूजन तथा नाभि में सूजन की समस्या को ठीक करने के लिए Himalaya Gasex  का प्रयोग किया जाता है।
  • लीवर को ठीक करने के लिए  दैनिक रूप सेHimalaya Gasex का प्रयोग करना चाहिए।

झंडू पंचारिष्ट

झंडू पंचारिष्ट झंडू कंपनी द्वारा बनाया गया एक ऐसा उत्पाद जो पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक तथा यह पेट से गैस जैसे समस्या को जड़ से दूर करता है गैस की समस्या के साथ-साथ खेल की अन्य सभी समस्याओं के लिए झंडू पंचारिष्ट एक रामबाण औषधि है। इसका प्रयोग काफी समय प्राचीन समय से महिलाओं द्वारा अधिक मात्रा में किया जाता है यह महिलाओं में खून की कमी को पूरा करती है तथा शरीर में शारीरिक शक्ति को बढ़ाती है। पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए झंडू पंचारिष्ट का प्रयोग करना चाहिए।

झंडू पंचारिष्ट

झंडू पंचारिष्ट के उपयोग तथा फायदे
  • झंडू पंचारिष्ट के नियमित सेवन से पेट की गैस जैसी समस्या जड़ से समाप्त हो जाती है।
  • भूख ना लगने तथा शारीरिक कमजोरी को दूर करने की लिए झंडू पंचारिष्ट का प्रयोग करना चाहिए।
  • यदि आपके पेट में सूजन है या दर्द होता है तो नियमित रूप से झंडू पंचारिष्ट का प्रयोग करना चाहिए।
  • पेट की विभिन्न समस्याओं जैसे कब्ज अपच बदहजमी आदि को दूर करने के लिए झंडू पंचारिष्ट का नियमित सेवन करना चाहिए।

लिव-52 टेबलेट व सिरप

हिमालया कंपनी द्वारा निर्मित लिव-52 टेबलेट व सिरप का निर्माण विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक औषधियों के प्रयोग से किया गया है यह औषधियां पेट की समस्याओं को जड़ से खत्म कर देती है। जिन व्यक्तियों में गैस की समस्या दैनिक रूप से रहती है उनको नियमित लिव-52 टैबलेट वाह सिरप का प्रयोग करना चाहिए लिव-52 सिरप व टैबलेट गैस के साथ-साथ पेट की अन्य समस्याओं के लिए रामबाण औषधि है जो पेट के विभिन्न प्रकार के विकारों को दूर करती है।

लिव-52 टेबलेट व सिरप

 लिव-52 टेबलेट व सिरप के उपयोग तथा फायदे
  • लिव-52 टेबलेट का प्रयोग गैस जैसी समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए किया जाता है।
  • भूख ना लगना शरीर में कमजोरी होना आदि समस्याओं को दूर करने के लिए दैनिक रूप से लिव-52 सिरप तथा टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए।
  • पेट की आंतों की सूजन को ठीक करने के लिए लिव-52 सिरप तथा टेबलेट का नियमित सेवन करना चाहिए।
  • लिवर के फंक्शन को ठीक करने के लिए दैनिक रूप से लिव-52 सिरप व टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए।
  • यदि आपको गैस के साथ-साथ अपाचे एसिडिटी तथा बदहजमी है तो उसके लिए लिव-52 बहुत ही असरदार दवा है।

हिमालय गैसेक्स सिरप

हिमालय गैसेक्स सिरप का प्रयोग पेट की समस्याओं के लिए किया जाता है इसका मुख्य रूप से उपयोग पेट की गैस को दूर करने के लिए किया जाता है हिमालय कंपनी द्वारा बनाई गई हिमालय गैसेक्स  सिरप पेट की समस्याओं के लिए रामबाण औषधि है। जो मुख्यतः पाचन तंत्र के रोग, बदहजमी, पेट की gas ka ilaj के लिए उपयोग किया जाता है। इसके अलावा Himalaya Gasex Syrup का उपयोग पेट की  दूसरी समस्याओं के लिए भी किया जा सकता है।

हिमालय गैसेक्स सिरप

 

हिमालय गैसक्स  सिरप के फायदे 
  • पेट की गैस की समस्या को ठीक करने के लिए हिमालय गैसेक्स सिरप का प्रयोग किया जाना चाहिए।
  • हिमालय गैसेक्स सिरप का प्रयोग पाचन क्रिया को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • लीवर के फंक्शन को ठीक करने के लिए दैनिक रूप से  हिमालय गसेक्स सिरप का प्रयोग करना चाहिए।
  • फिर से बदहजमी  कब्ज तथा अपच को दूर करने के लिए  इस सिरप का प्रयोग कर सकते हैं।

त्रिफला चूर्ण

त्रिफला चूर्ण  प्रत्येक समस्या के लिए रामबाण औषधि जो कि विभिन्न प्रकार की औषधियों के मिश्रा से बनाई जाती है इसमें मुख्य रूप से हरण आंवला तथा बहेड़ा होते हैं, जिनमें प्राकृतिक रूप से पेट को ठीक करने के लिए विभिन्न प्रकार के गुण पाए जाते हैं जिससे पेट संबंधी समस्याएं ठीक हो जाती है। पेट से गैस को ठीक करने के लिए नियमित रूप से त्रिफला चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।

त्रिफला चूर्ण

 त्रिफला चूर्ण के प्रयोग तथा फायदे
  • त्रिफला चूर्ण के दैनिक प्रयोग से गैस की समस्या जड़ से समाप्त हो जाती है।
  •  त्रिफला चूर्ण पाचन क्रिया को मजबूत बनाता है।
  •  त्रिफला चूर्ण के दैनिक प्रयोग से एसिडिटी बदहजमी आदि नहीं होती है।
  • त्रिफला चूर्ण  लीवर में फैट की मात्रा को जमा नहीं होने देता है।
  •  त्रिफला चूर्ण लीवर के फंक्शन को ठीक करता तथा पाचन क्रिया को संतुलित करता है।

Amlapittari vati

Amlapittari vati श्री श्री आयुर्वैदिक कंपनी द्वारा निर्मित एक आयुर्वेदिक औषधि है जो की पेट के विभिन्न प्रकार की समस्याओं को दूर करने के लिए बनाई गई है या गैस जैसी समस्या को जड़ से समाप्त कर देती है Amlapittari vati  मैं गैस को जड़ से खत्म करने के आयुर्वेदिक गुण होते हैं। गैस के साथ साथ यह दवा अन्य प्रकार की पेट की समस्याओं को भी ठीक करती है जिन व्यक्तियों में पेड़ की अन्य समस्याओं के साथ-साथ गैस की समस्या होती है। उनको दैनिक रूप से Amlapittari vati  का प्रयोग करना चाहिए।

Amlapittari vati

पेट की गैस का तुरंत इलाज के लिए Amlapittari vati के उपयोग तथा फायदे
  • Amlapittari vati का प्रयोग गैस की समस्या को जड़ से समाप्त करने के लिए किया जाता है।
  • Amlapittari vati पेट की समस्याओं को ठीक करती है तथा वह को बढ़ाती है।
  • पेट में होने वाली अपच कब्ज तथा एसिडिटी को Amlapittari vati  जड़ से समाप्त करती है।
  • पाचन क्रिया को ठीक करने के लिए लीवर को ठीक करती है।
  • आंतों में सूजन के लिए दैनिक रूप से  Amlapittari vati  का प्रयोग किया जाना चाहिए।

कुछ अंग्रेजी gas ki dawa

गैस की बीमारी एक ऐसी बीमारी है जिसमें पेट की सभी समस्याएं उत्पन्न होने लगती है पेट की समस्याएं बढ़ जाने के कारण शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियां उत्पन्न हो जाती है जिससे हमारा शरीर कमजोर होने लगता है। अतः गैस को ठीक करना बहुत ही आवश्यक होता है गैस को ठीक करने के लिए कुछ अंग्रेजी दवाओं का वर्णन निम्नलिखित है।

  • नो गैस 150mg टैबलेट
  • Aciloc (एसिलोक)
  • zinetac 150
  • Gas – X (गैस – X)
  • Phazyme  (फ़ैज़ाइम)
  • Acidocid (एसिडोसिड)
  • Digene (डिजीन)

नो गैस 150mg टैबलेट

नो गैस 150mg टैबलेट

 नो गैस टेबलेट का प्रयोग गैस की समस्या को ठीक करने के लिए किया जाता है यह टेबलेट गैस की समस्या को कुछ ही समय में समाप्त कर देती है जिससे हमारे पेट में बनने वाली गैस की समस्या समाप्त हो जाती है तथा हमारा पेड़ गैस की समस्या से मुक्त हो जाता है गैस की समस्या के साथ-साथ नो गैस टेबलेट पेट की विभिन्न समस्याओं को भी ठीक करती है इससे कब्ज अपच बदहजमी एसिडिटी आदि समस्याओं को भी खत्म किया जा सकता है।

यह भी जानें - डालते ही गिर जाता है - शीघ्रपतन की समस्या दूर करने की रामबाण औषधियां

Aciloc (एसिलोक)

Aciloc (एसिलोक)

एसी लॉक एक ऐसी टॉर्च टेबलेट है जो पेट की गैस को कुछ ही क्षणों बाद बाहर कर देती है जो व्यक्ति गैस की समस्या से पीड़ित होते हैं उनको एसी लॉक टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए टेबलेट पेट में होने वाली एसिडिटी को जड़ से समाप्त कर देती है जिससे हमारे पेट में गैस की समस्या नहीं होती है गैस की समस्या को खत्म करने के साथ-साथ एसी लॉक टैबलेट अन्य समस्याओं से भी राहत दिलाती है गैस से पीड़ित व्यक्तियों को दैनिक रूप से ऐसी लॉक टैबलेट का प्रयोग करना चाहिए।

zinetac 150

zinetac 150

zinetac 150 टैबलेट  विभिन्न प्रकार के समस्याओं को जड़ से मिटाती है zinetac 150 पेट में होने वाली गैस को कुछ ही समय में ठीक कर देती है गैस की समस्या के लिए आज के समय में यह बहुत अच्छी दवा है जिसका प्रयोग बहुत अधिक मात्रा में किया जाता है जिन लोगों को गैस की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से खाना खाने के बाद zinetac 150 टैबलेट का प्रयोग करना चाहिए जिससे समस्या समाप्त हो जाएगी।

Gas – X (गैस – X)

Gas – X

Gas X  टैबलेट का प्रयोग पेट में बनी गैस को समाप्त करने के लिए किया जाता है हमारे गलत खान-पान के कारण हमारे शरीर में गैस की समस्या हो जाती है जिससे हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्याएं होने लगती हैं जैसे पेट में दर्द होने लगता है आंतों में सूजन आ जाती है आज को दूर करने के लिए Gas – X (गैस – X)  टैबलेट का प्रयोग गैस की समस्या के लिए किया जाता है यदि आपको भी गैस की समस्या है तो आप दैनिक रूप से Gas – X (गैस – X)  टैबलेट का प्रयोग कर सकते हैं।

Phazyme  (फ़ैज़ाइम)

Phazyme  (फ़ैज़ाइम)

Phazyme  टेबलेट्स का प्रयोग पेट के विभिन्न समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है Phazyme  (फ़ैज़ाइम) टेबलेट पेट के गैस के लिए बहुत ही अच्छी औषधि है इसका प्रयोग पेट की गैस को ठीक करने के लिए किया जाता है जिन व्यक्तियों में पेट की समस्या के कारण लीवर सही ढंग से कार्य नहीं करता है तथा पाचन क्रिया सही से नहीं होती है उनको दैनिक रूप Phazyme  (फ़ैज़ाइम)  टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए  जिससे वह पेट के विभिन्न समस्याओं से बचे रह सकते हैं।

Acidocid (एसिडोसिड)

Acidocid

पेट से एसिडिटी तथा गैस की समस्या को मिटाने के लिए Acidocid (एसिडोसिड)  टैबलेट का प्रयोग किया जाता है  यह टैबलेट पेट से गैस की समस्याओं को जड़ से खत्म कर देती है। पेट में गैस की समस्या के साथ-साथ कब्ज एसिडिटी तथा अपच को भी समाप्त कर देती है जो लोग फास्ट फूड या  तला भूना अधिक मात्रा में खाते हैं उनके पेट में गैस की समस्या हो जाती है। गैस की समस्या को दूर करने के लिए दैनिक रूप Acidocid (एसिडोसिड)  टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए। एसिडोसिड टैबलेट gas ka ilaj के लिए बहुत अच्छी दवा है।

Digene (डिजीन)

Digene (डिजीन)

Digene (डिजीन)  सामान्य रूप से गैस के लिए प्रयोग की जाने वाली टेबलेट है जो गैस की समस्या हो बहुत जल्दी ठीक कर देती है Digene (डिजीन)  टैबलेट  का प्रयोग सामान्य रूप से सभी लोगों को करते हुए देखा जाता है  गैस की समस्या के साथ-साथ यह बदहजमी तथा एसिडिटी को भी ठीक करती है बदहजमी के कारण होने वाली उल्टी को भी यह रोकती है इसलिए Digene (डिजीन)  के बारे में लगभग सभी जानते हैं यह गैस की समस्या को जड़ से समाप्त कर देती है।

गैस की बीमारी को दूर करने के घरेलू विधि

पेट में गैस बनना आम बात है लेकिन कई बार इसकी वजह से सीने में भी दर्द होने लगता है। गैस भयंकर तरीके से सिर में चढ़ जाती है और उल्टियां तक आने लगती है। अगर आपको भी खतरनाक तरीके से गैस बनती है तो आप देसी दवाई की जगह घरेलू उपायों के जरिए इस बीमारी को जड़ से खत्म कर सकते हैं। दरअसल, गैस बनने से पेट फूलने लगता है और पाचन संबंधी दिक्कत पैदा हो जाती है।

अगर आपको ज्यादा गैस बनती है तो इसे बिल्कुल भी हल्के में न लें क्योंकि इसकी वजह से आपको घातक पेट के रोग हो सकते हैं।इन सब समस्याओं से बचने के लिए आज हम आपको घर में उपलब्ध कुछ आयुर्वेदिक औषधि पदार्थों से गैस की समस्या को ठीक करने के जानकारी देंगे यह आयुर्वेदिक पदार्थ निम्नलिखित हैं।

  • मुनक्के का करें सेवन
  • अजवाइन
  • जीरा पानी 
  • हींग 
  • बैकिंग सोड़ा और नींबू

मुनक्के का करें सेवन

किशमिश

किशमिश को मुनक्का भी कहते हैं गैस की समस्या के लिए दैनिक रोज से मुनक्के का सेवन बहुत फायदेमंद होता है मुनक्के का सेवन करने के लिए शाम को सोते समय 10 से 12 मुनक्के साफ पानी में भिगो दें तथा सुबह उठकर खाली पेट मुनक्का का सेवन करें तथा बाद में जिस पानी में रखकर भीग रहे थे उसका सेवन करें इससे पेट में बनने वाले गैस हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी जो व्यक्ति गैस की समस्या से पीड़ित रहते हैं उनके लिए घर में उपलब्ध मुनक्का बहुत ही कारगर औषधि मुनक्के का दैनिक सेवन गैस की समस्या से छुटकारा दिला देगा।

अजवाइन

अजवाइन

अजवाइन का प्रयोग पेट के विभिन्न प्रकार के समस्याओं पर ठीक करने के लिए किया जाता है आज वाइन गैस के लिए घर में उपलब्ध एक रामबाण औषधि है आज वाइन का प्रयोग भारतीय लोगों में मसाले के रूप में किया जाता है या गैस की समस्या को ठीक करने के लिए रामबाण औषधि है ।अजवाइन के प्रयोग के लिए अजवाइन को शाम को सोते समय पानी में भिगो दें तथा सुबह खाली पेट अच्छे से चबाकर अजवाइन को खा ले बाद में अजवाइन का पानी पी ले जिससे गैस की समस्या हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी तथा पेट की बीमारियों की ठीक हो जाएगी।

जीरा पानी 

जीरा

जीरा हमारे पेट के लिए बहुत ही  रामबाण दवा है जीरे के प्रयोग से पेट की विभिन्न बीमारियों को ठीक किया जा सकता है  जीरे का पानी बनाने के लिए जीरे को घूम कर पानी में मिला लेते हैं तथा थोड़ा सा काला नमक डाल देते हैं यह पानी बहुत ही स्वादिष्ट हो जाता है तथा इसको पीने से गैस की समस्या भी ठीक हो जाती है। जीरे के पानी के दैनिक प्रयोग से पाचन क्रिया तीव्र हो जाती तथा हमारे पेट की बीमारियां समाप्त हो जाती है  गैस की समस्या से जूझ रहे व्यक्तियों को सुबह-सुबह दैनिक रूप से जीरा पानी का प्रयोग करना चाहिए।

पेट की गैस का तुरंत इलाज हींग

हींग

हमारे रसोई घर में प्रयोग की जाने वाली एक  बहुत ही महत्वपूर्ण पदार्थ जो पेट  के विभिन्न प्रकार की समस्याओं को जड़ से मिटा देती है हींग का प्रयोग दाल तथा सब्जी में तड़का के रूप में करना चाहिए  तथा एक पानी का भी प्रयोग किया जा सकता है हींग पानी बनाने के लिए हींग तथा काला या लाल  नमक को पानी में मिलाकर बनाया जाता है, या पानी गैस की समस्या को जड़ से समाप्त कर देता है तथा पेट की अन्य विकारों को दूर करता है। जिससे हमारी पाचन क्रिया अच्छी हो जाती है और हमारे पेट से गैस अपच एसिडिटी आदि समस्याएं समाप्त हो जाती है।

बैकिंग सोड़ा और नींबू

बैकिंग सोड़ा और नींबू

बेकिंग सोडा हमारी रसोई में मिलने वाला एक खाद्य पदार्थ होता है जिसका प्रयोग विभिन्न प्रकार की वस्तुओं के निर्माण में किया जाता है बेकिंग सोडा और नींबू को एक साथ पानी में मिलाकर पीने से गैस की समस्या जड़ से समाप्त हो जाती है जिन व्यक्तियों में गैस की समस्या होती है वह दैनिक रूप से बेकिंग सोडा और नींबू का प्रयोग पानी के साथ करते रहेंगे तो गैस की समस्या नहीं होगी।

यह भी जानें- स्वप्नदोष की रामबाण दवा

कुछ अन्य पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

  • सुबह सुबह पिएं गर्म पानी।
  • पानी में डालकर पिएं ये चीजें।
  • काला नमक भी दूर करेगा परेशानी।
  • आजमा सकते हैं ये योगासन।
  • चूर्ण बनाकर लें।
  • नीबू के रस में 1 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर सुबह के वक्त खाली पेट पिएं।
  • काली मिर्च का सेवन करने से हाजमे की समस्या दूर होती है।
  • आप दूध में काली मिर्च मिलाकर भी पी सकते हैं।
  • छाछ में काला नमक और अजवाइन मिलाकर पीने से भी गैस की समस्या में काफी लाभ मिलता है।
  • दालचीनी को पानी मे उबालकर, ठंडा कर लें और सुबह खाली पेट पिएं। इसमें शहद मिलाकर पिया जा सकता है।
  • लहसुन भी गैस की समस्या से निजात दिलाता है। लहसुन को जीरा, खड़ा धनिया के साथ उबालकर इसका काढ़ा पीने से काफी फादा मिलता है। इसे दिन में 2 बार पी सकते हैं।
  • दिनभर में दो से तीन बार इलायची का सेवन पाचन क्रिया में सहायक होता है और गैस की समस्या नहीं होने देता।

उपर्युक्त लेख में गैस की समस्या से पीड़ित व्यक्तियों को पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय की जानकारी दी गई है जिसके अध्ययन समय तथा दवाओं के प्रयोग से गैस से पीड़ित व्यक्ति अपने गैस की समस्या को जड़ से समाप्त कर सकते हैं ऊपर बताए गए अंग्रेजी दवाइयां का प्रयोग बेहतर रिजल्ट के लिए डॉक्टर से संपर्क करने के बात ही करना चाहिए तथा कुछ घरेलू दवाइयों का प्रयोग करके आप अपने घर पर ही गैस  की समस्या को ठीक कर सकते हैं लेख का आशय लोगों को जागरूक करना है यह लेख किसी डॉक्टर के द्वारा दिया गया परामर्श नहीं है अतः दवाओं के प्रयोग के पहले किसी डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लेनी चाहिए। 

लोगों द्वारा पूछे गए कुछ सवाल

बहुत ज्यादा गैस बनने पर क्या करें?

उपर्युक्त लेख में गैस की बीमारी से बचने के लिए विभिन्न प्रकार की दवाओं का वर्णन किया गया है उपर्युक्त के अध्ययन से आपको पता लग जाएगा कि कौन सी दवा गैस के लिए सबसे लाभकारी है अतः लेख के अध्ययन के बाद दवाओं के प्रयोग से गैस हो जड़ से खत्म किया जा सकता है आपके पेट में बहुत ज्यादा गैस बन रही है तो अपनी खान पान की वस्तुओं में बदलाव करें तथा उपर्युक्त लेख में बताइए दवाओं का प्रयोग करें। 

पेट की गैस को बाहर कैसे निकाले?

यदि आप पेट की गैस के मरीज हैं और आपके पेट में गैस बहुत अधिक मात्रा में बनती है आप पेट की गैस की समस्या से परेशान रहते हैं तो उपर्युक्त लेख में बताए गए जानकारी के अनुसार दवाओं का प्रयोग करके आप अपनी गैस की समस्या को हमेशा के लिए दूर कर सकते हैं उपर्युक्त में विभिन्न प्रकार की दवाओं का वर्णन किया गया है इसमें से आप आयुर्वेदिक अंग्रेजी तथा घरेलू विधियों को अपनाकर अपनी गैस की समस्या को ठीक कर सकते हैं। 

गैस का क्या कारण होता है?

गैस का मुख्य कारण आपके खाना पीना तथा रहन-सहन होता है आप किस प्रकार का खाना खाते हैं तथा आपके रहन-सहन में कौन से  दिनचर्या शामिल हैं इन सब के आधार पर ही आपके पेट में गैस की समस्या हो जाती है यदि आप अधिक फास्ट फूड तथा बाजार में बने वस्तुओं का सेवन खाने पीने में करते हैं तथा समय-समय पर व्यायाम तथा अन्य किया कल आप नहीं करते हैं इसकी वजह से आपके पेट में गैस की समस्या हो जाती है। पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय उपर्युक्त लेख में बताए गए हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.