असुरक्षित यौन सम्बंध की प्रेगनेंसी रोकने के लिए टेबलेट नाम जानें और करें सुरक्षित गर्भपात

जब बिना किसी प्लान के महिलाएं प्रेग्नेंट हो जाती हैं तो उनको प्रेगनेंसी को खत्म करने के लिए या प्रेग्नेंट होने से बचने के लिए विभिन्न प्रकार की दवाइयों का प्रयोग करती हैं यह दवाइयां गर्भनिरोधक या 1 month pregnancy rokne ki tablet के नाम से प्रचलित होती हैं इन दवाइयों के उपयोग से पहले महिलाओं को यह जानना बहुत जरूरी है कि गर्भनिरोधक तथा गर्भपात की दवाइयों में बहुत बड़ा अंतर होता है।

गर्भनिरोधक दवाइयां महिलाओं को गर्भवती होने से पहले खिलाया जाता है अर्थात गर्भनिरोधक गोलियां का प्रयोग महिलाएं गर्भ से बचने के लिए करती हैं और यदि गर्भनिरोधक दवाइयां गर्भधारण से पहले नहीं ली गई हैं तो फिर गर्भपात की दवाइयों की जरूरत पड़ती है क्योंकि यदि आप गर्भनिरोधक दवाइयां नहीं ले रही हैं और आप गर्भवती हो जाती हैं और यदि आपको अभी बच्चे की जरूरत नहीं है या फिर आप बच्चा पैदा करने की स्थिति में नहीं है तो उसके लिए गर्भपात की दवाइयों का प्रयोग किया जाता है गर्भधारण के बाद गर्भपात को अबॉर्शन कहते हैं।

कुछ महिलाएं अपने पति या अपने साथी के साथ सेक्स करती हैं और मैं गर्भवती हो जाती हैं किंतु किसी वजह से वह इस समय बच्चे को जन्म देना नहीं चाहती हैं इस स्थिति में उनको गर्भपात की जरूरत पड़ती है गर्भपात की जरूरत न पड़े इसके लिए वह गर्भधारण से बचना चाहती हैं गर्भधारण से बचने के लिए उनको कौन सी दवा का प्रयोग करना चाहिए इसके बारे में कई बार पता नहीं होता है कई बार तो ऐसा होता है कि महिलाएं गर्भनिरोधक दवाओं के स्थान पर गर्भपात की दवाइयों का प्रयोग कर लेती है या गर्भपात की दवाइयों के स्थान पर गर्भ निरोधक दवा प्रयोग कर  लेती हैं जिससे उनको विभिन्न प्रकार के समस्याओं का सामना करना पड़ता है समस्या से बचने के लिए आज के इस लेख में  अनचाहे गर्भ से बचने के लिए कुछ प्रेगनेंसी रोकने के लिए टेबलेट नाम बताए गए हैं जिनका प्रयोग करके आप गर्भधारण से बच सकते हैं।

प्रेगनेंसी रोकने

प्रेगनेंसी रोकने की दवा की जरूरत

यदि आप अपने पुरुष साथी के साथ दैनिक रूप से सेक्स क्रिया करती हैं और यह क्रिया लगातार पीरियड के टाइम पर भी तथा पीरियड के बाद जब गर्भधारण की संभावनाएं सबसे अधिक रहती हैं जारी रहती है तो इससे आप गर्भवती हो सकते हैं और यदि आप अभी बच्चे को जन्म देने के लिए समर्थ नहीं है तो आपको गर्भधारण से बचने की जरूरत होती है गर्भधारण से बचने के लिए महीने में गर्भधारण की संभावनायें अधिक रहती हैं तब या तो सेक्स क्रिया ना की जाए या फिर लगातार गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन करते रहना चाहिए जिससे आप गर्भधारण से बच सकती हैं दैनिक जीवन के साथ सेक्स क्रिया करते हुए गर्भ से बचने के लिए गर्भनिरोधक दवाओं का प्रयोग सुरक्षा की दृष्टि से किया जाता है गर्भपात से बचने के लिए आप दैनिक रूप से गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन कर सकते हैं जिससे आप गर्भधारण नहीं करेंगे तो गर्भपात से बची रहेंगी। यह निम्नलिखित दो प्रकार की होती हैं

  •  गर्भ से बचने के लिए गर्भनिरोधक गोलियां
  •  गर्भ को  खत्म करने के लिए गर्भपात गोलियां

प्रेगनेंसी रोकने के लिए टेबलेट नाम

अनचाहे गर्भ से बचने के लिए या कभी-कभी विषम परिस्थितियों में गर्भधारण से बचने के लिए गर्भनिरोधक दवाओं का प्रयोग किया जाता है इन दवाओं को प्रेग्नेंसी रोकने के लिए टेबलेट नाम से जाना जाता है  यह टैबलेट प्रकार के कुछ निश्चित तौर से मिलकर बनी होती है विशेष प्रकार के हारमोंस दवा में मिले होते हैं जो प्रेगनेंसी को है होने से रोकते हैं बाजार में विभिन्न प्रकार की garbh nirodhak tablets उपलब्ध है जिनका प्रयोग गर्भधारण से बचने के लिए करते हैं और आप प्रेग्नेंट होने से बच सकती हैं यह दवाइयां  दो प्रकार की होती हैं प्रेगनेंसी को रोकने के लिए गर्भनिरोधक दवाइयां कथा तथा दूसरी गर्भ को खत्म करने के लिए गर्भपात की गोलियां होती हैं इन दोनों प्रकार के रोगियों को अलग-अलग स्थित में खाया जाता है।

  • i-Pill
  • unwanted-72
  • लेवोनेल वन स्टेप 
  • माला डी टैबलेट (Mala D Tablet)

garbh nirodhak tablet name i-Pill

i-Pill

i-Pill   गर्भधारण से बचने के लिए प्रयोग की जाने वाली टेबलेट है इसे आपातकालीन गर्भ निरोधक टेबलेट के नाम से भी जानते हैं इसका प्रयोग असुरक्षित  योन संबंध के 72 घंटों के अंदर किया जाना चाहिए टैबलेट महिलाओं को संबंध बनाने के पहले आप असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटों के अंदर निश्चित रूप से ले लेना चाहिए यदि इसका प्रयोग 72 घंटों के अंदर नहीं किया जाता है तो गर्भधारण को रोकने की संभावना है बहुत कम हो जाती हैं महिलाओं को इस टैबलेट का प्रयोग एक मासिक धर्म के दौरान केवल एक बार करने की सलाह दी जाती है।

यह दवा किसी भी मेडिकल स्टोर से बिना डॉक्टर के  परामर्श के लिया जा सकता है i-Pill  यदि 72 घंटों के अंदर इसका प्रयोग नहीं किया जाता है और आप गर्भ धारण कर लेती हैं तो इस  टेबलेट का प्रभाव  गर्भधारण पर नहीं होता है  यदि आप इसे खाली लेती हैं तो बच्चे पर इसका असर नहीं होता i-Pill पुरुष स्पर्म को महिला की योनि में उपस्थित अंडाणुओं से  निषेचित होने से  रोकती है किसी परिस्थिति में निषेचन हो ही जाता है तो यह टैबलेट गर्भाशय  के गर्भाशय रस को इतना गाढ़ा बना देती है की  भ्रूण गर्भाशय से चिपक नहीं  पाता है जिससे गर्भ धारण नहीं होता है यह दवाइयां  गर्भनिरोधक के लिए  100% कारगर नहीं है 20% केस में इन दवाइयों  के प्रयोग के बाद भी गर्भधारण हो जाता है अतः जो महिलाएं असुरक्षित यौन संबंध के बाद  गर्भधारण से बचना चाहती हैं उनको डॉक्टर के परामर्श के अनुसार या टेबलेट में दी गई गाइडलाइन के अनुसार दवा का प्रयोग कर सकते हैं।

garbh nirodhak tablets unwanted-72

unwanted-72

unwanted-72 टैबलेट का प्रयोग अनचाहे गर्भ से बचने के लिए किया जाता है जो महिलाएं असुरक्षित यौन संबंध के बाद गर्भधारण के खतरे से बचना चाहती हैं वह महिलाएं unwanted-72  का प्रयोग करती हैं यह टैबलेट महिलाओं में जब गर्भधारण की संभावनाएं रहती है ऐसे समय में किए गए से गर्भधारण से बचने के लिए  करती है unwanted-72 का प्रयोग असुरक्षित यौन संबंध के 12 से 72 घंटों के अंदर सबसे सुरक्षित माना जाता है यदि आप  टैबलेट का प्रयोग सही समय पर करती हैं unwanted-72 टैबलेट महिलाओं को गर्भधारण से निश्चित ही बचा लेती है कभी-कभी ऐसा होता है इसे विषम परिस्थितियों में महिलाएं असुरक्षित यौन संबंध बना लेती हैं जिससे प्रेग्नेंट हो जाती हैं किंतु उनको उस समय बच्चे की आवश्यकता नहीं होती है।

ऐसी स्थिति में महिलाओं को असुरक्षित यौन संबंध बनाने के 72 घंटों के अंदर unwanted-72 टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए जो उनको असुरक्षित यौन संबंध होने के बाद भी अनचाहे प्रेगनेंसी से बचाता है अनवांटेड 72 अनचाहे प्रेगनेंसी के लिए एक असरदार दवा है जो बिना डॉक्टर के पर्चे के किसी भी मेडिकल स्टोर में आसानी से उपलब्ध है इसका प्रयोग दवा  के साथ मिलने वाले यूज़र गाइड मैं दिए गए निर्देश के अनुसार करना सुरक्षित रहता है या फिर आप इसके प्रयोग के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकती हैं।

लेवोनेल वन स्टेप 

लेवोनेल वन स्टेप 

लेवोनेल वन स्टेप टेबलेट का प्रयोग अनचाहे गर्भ से बचने के लिए किया जाता है इसका प्रयोग असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटा घंटों के अंदर करना सुरक्षित गर्भनिरोधक के रूप में माना जाता है  यदि आप इसका प्रयोग 72 घंटों के बाद करते हैं तो  यह गर्भधारण को रोकने के लिए सक्षम नहीं होती है लेवोनेल वन स्टेप टेबलेट का प्रयोग भारत इंग्लैंड आदि विभिन्न प्रकार के देशों में किया जा रहा है  जो महिलाएं किसी कारणवश किसी पुरुष के साथ असुरक्षित यौन संबंध बना देती है और उनको गर्भ धारण का डर रहता है  या फिर महिलाएं  गर्भधारण करना नहीं चाहती हैं तो उनके लिए गर्भधारण से बचने के लिए लेवोनेल वन स्टेप  टेबलेट बहुत ही असरकारक दवा है जिससे वे विभिन्न परिस्थितियों में होने वाले अनचाहे गर्भधारण से बच सकती हैं।

टेबलेट का प्रयोग एक मासिक धर्म के दौरान एक बार करना चाहिए अधिक दवाओं का प्रयोग करने से विभिन्न प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं जिससे आप कई परेशानियों का सामना कर सकती हैं अतः दवा के प्रयोग से पहले यूजर मैन्युअल गाइड पढ़ना चाहिए या फिर डॉक्टर के परामर्श के अनुसार ही दवा का प्रयोग करना चाहिए लेवोनेल वन स्टेप दवा अनचाहे गर्भ से बचने के लिए एक सुरक्षित और कारगर गर्भ निरोधक टेबलेट है।

garbhnirodhak tablet माला डी (Mala D Tablet)

Mala D

माला डी टैबलेट भारतीय महिलाओं  मैं  गर्भधारण से बचने के लिए एक सामान्य प्रचलित दवा है माला डी टैबलेट का प्रयोग महिलाएं असुरक्षित यौन संबंध स्थापित करने के बाद  गर्भधारण से बचने के लिए करती हैं यह दवा बिना डॉक्टर के पर्चे के किसी भी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध रहती है इसमें 28 टैबलेट होती हैं जो लाल तथा सफेद रंग की होती हैं सफेद रंग की टेबलेट में थिनिल एस्ट्राडियोल और लेवोनोर्जेस्ट्रेल के सक्रिय पदार्थ होते हैं तथा लाल रंग के टैबलेट में फेरस फ्यूमरेट पदार्थों से बनी होती है।

  जिसका प्रयोग पीरियड समाप्त होने के दिन से 28 दिनों तक किया जाता है यह टेबलेट शुक्राणुओं को अंडाणु से मिलने नहीं देती है क्योंकि या गर्भाशय के रस को एक गाढ़ा द्रव में बदल देती है जिससे  शुक्राणु  उस  गाढ़ा  द्रव को पार नहीं कर पाते हैं और अंडाणुओ के साथ उनका फर्टिलाइजेशन नहीं हो पाता है जिससे गर्भधारण की संभावना नहीं रहती है अतः जो महिलाएं दैनिक रूप से सेक्स करते हुए गर्भधारण करना नहीं चाहती हैं उनको माला डी टैबलेट  का प्रयोग दिए गए निर्देशों के अनुसार या फिर डॉक्टर की सलाह पर करना चाहिए।

गर्भ को  खत्म करने के लिए गर्भपात गोलियां

कई बार ऐसा होता है कि महिलाएं यौन संबंध बनाने के बाद  गर्भवती हो जाती है किंतु वह उस समय बच्चे को जन्म देना नहीं चाहती हैं या वो इस समय ऐसी स्थिति में नहीं है ऐसी स्थिति में  गर्भ का गर्भपात करवाना अति आवश्यक हो जाता है  इसके लिए बाजार में विभिन्न प्रकार की गर्भपात  टेबलेट उपलब्ध है किंतु इन दवाओं का प्रयोग करना बहुत अधिक जोखिम भरा होता है।

 जो महिलाएं इसका सेवन बिना डॉक्टर के परामर्श के करती है उनको विभिन्न परेशानियों का सामना करना पड़ता है कभी-कभी वह भविष्य में कभी भी गर्भधारण नहीं कर पाती इन सभी दुष्प्रभावों से बचने के लिए आज हम आपको गर्भ निरोधक टेबलेट नाम एंड प्राइस की जानकारी देते हैं जिनका प्रयोग करते हैं महिलाएं सुरक्षित गर्भपात कर सकती हैं लेकिन सुरक्षित गर्भपात के लिए महिलाएं किसी महिला डॉक्टर से सलाह अवश्य ले लें जिससे गर्भपात का उनके शरीर पर कोई विपरीत प्रभाव ना पड़े और वह सुरक्षित तरीके गर्भपात कर सकें।

  • अनवांटेड किट टेबलेट 
  • मिफेजेस्ट किट
  • साईटोंलॉग किट टेबलेट 
  • फाइब्रोइज 25MG टेबलेट 
  • सेफ अबो्र्ट किट 
  • क्लियर किट 

अनवांटेड किट टेबलेट

अनवांटेड किट टेबलेट 

जब महिलाएं असुरक्षित यौन संबंध के बाद गर्भवती हो जाती है लेकिन वह बच्चे को जन्म नहीं देना चाहती बच्चे को जन्म न  देने के उनके पास  विभिन्न कारण हो सकते हैं इसके लिए महिलाएं garbhnirodhak tablet का प्रयोग करती हैं गर्भ निरोधक टेबलेट अनवांटेड किट बहुत ही असरदार दवा है अनवांटेड किट महिलाओं के लिए सुरक्षित व  असरकारक है टेबलेट द्वारा 5 सप्ताह तक की प्रेगनेंसी का अबॉर्शन किया जा सकता है इसमें दो प्रकार की टेबलेट होती हैं जो कि मिफेप्रिस्टोन तथा मिसोप्रोस्टोल  से मिलकर बनी होती है। मिफेप्रिस्टोन टेबलेट  उपयोग करने के 24 से 48 घंटे बाद मिसोप्रोस्टोल की टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए सुरक्षित करने के लिए महिलाएं इन दवाओं को प्रयोग करने से पहले  दवा के पैकेट के साथ दी गई निर्देश पुस्तिका में दिए गए निर्देशों के अनुसार इसका सेवन करना चाहिए या फिर किसी महिला डॉक्टर की सलाह पर इसका प्रयोग करें जिससे आपको कोई भी समस्या ना हो और आप सुरक्षित गर्भपात कर सकें।

मिफेजेस्ट किट

मिफेजेस्ट किट

मिफेजेस्ट किट प्रोजेस्टेरोन हारमोंस के श्रावन को रोकती है जो गर्भधारण के लिए बहुत ही आवश्यक हारमोंस है मिफेजेस्ट के प्रयोग के 72 घंटे के अंदर आप को मिसोप्रोस्टोल लेने की जरूरत होती है जो गर्भधारण को पूर्णतया गर्भपात कर देता है मिफेजेस्ट किट का प्रयोग पैकेट के साथ दी गई उपयोग गाइड में दिया जाता है  जिसका अध्ययन करके  आप मिफेजेस्ट  किट का प्रयोग कर सकती हैं या फिर आप किसी महिला डॉक्टर से सलाह लेकर इसका प्रयोग करें जिससे दवा के प्रयोग के समय या बाद में आपको कोई भी समस्या ना हो और आप इसके साइड इफैक्ट्स बची रह सकती हैं डॉक्टर के निर्देश के अनुसार इस दवा का सेवन पूर्णतया सुरक्षित है तथा प्रयोग करने के 24 से 48 घंटे के अंदर असरदार भी  है यह 1 month pregnancy rokne ki tablet है।

प्रेगनेंसी रोकने के लिए टेबलेट नाम साईटोंलॉग किट

साईटोंलॉग किट

साइटोलॉग किट garbhnirodhak tablet का प्रयोग गर्भधारण के शुरुआती समय में गर्भपात के लिए किया जाता है इस टेबलेट का प्रयोग  3 से 5 सप्ताह के गर्भधारण हो गर्भपात करने के लिए किया जाता है यह दवा मिसोप्रोस्टोल हारमोंस को ब्लॉक कर देती है जोकिंग गर्भधारण के लिए बहुत ही आवश्यक हार्मोन होता है मिसोप्रोस्टोल  हार्मोन को ब्लॉक कर के  यह भ्रूण को बढ़ने नहीं देती है और उसके बाद गर्भपात हो जाता है।

जिन महिलाओं को गर्भपात के दवाइयों की आवश्यकता होती है वह साइटोलॉग किट का प्रयोग गर्भपात करने के लिए कर सकती हैं इसके उपयोग के लिए दवा के पैकेट के साथ एक यूजर गाइड मिलती है जिसमें इसके प्रयोग के निर्देश दिए गए होते हैं उन निर्देशों का पालन करते हुए इस दवा का प्रयोग करना चाहिए तथा अधिक सुरक्षित प्रयोग के लिए किसी महिला डॉक्टर की सलाह के अनुसार है गर्भपात की दवाओं का सेवन करना चाहिए जिससे आपके शरीर में किसी प्रकार की  समस्या ना हो और असुरक्षित गर्भपात कर सकें।

फाइब्रोइज 25MG टेबलेट

फाइब्रोइज 25MG

फाइब्रोइज 25MG टेबलेट  का प्रयोग गर्भधारण के बाद  गर्भपात के लिए किया जाता है जो महिलाएं असुरक्षित यौन संबंध बनाने के बाद गर्भवती हो जाती तथा उनको बच्चे की आवश्यकता नहीं होती या फिर उस समय बच्चे को जन्म देने की स्थिति में नहीं वे महिलाएं फाइब्रोइज 25MG टेबलेट का प्रयोग गर्भपात के लिए करती हैं यह टैबलेट 1 month pregnancy rokne ki tablet के नाम से भी प्रसिद्ध है  इसका उपयोग 3 से 5 सप्ताह की प्रेगनेंसी को खत्म करने के लिए किया जाता है इसके उपयोग के लिए महिलाएं किसी महिला डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं तथा सुरक्षित गर्भपात करवा सकते हैं यदि उपयोग पुस्तिका के निर्देश के अनुसार या डॉक्टर के बताए गए नियम के अनुसार यदि आप दवा का प्रयोग करती हैं यह आपके लिए बहुत ही सुरक्षित और असरदार दवा है जिसके प्रयोग से आप अनचाहे गर्भ को गर्भपात कर सकती हैं।

सेफ अबो्र्ट किट

सेफ अबो्र्ट किट

सेफ अबो्र्ट किट गर्भधारण के बाद गर्भपात करने के लिए प्रयोग की जाने वाली एक टेबलेट है जो की एंटी-प्रोजेस्टेशनल स्टेरॉयड समूह  की है या टेबलेट प्रोजेस्टेरोन हारमोंस के श्रावन को ब्लॉक कर देती है जिसके बाद आपको 24 से 48 घंटे के बाद मिसोप्रोस्टोल की दवा लेने की सलाह दी जाती है इनका प्रयोग किसी महिला डॉक्टर की सलाह से करना चाहिए महिला डॉक्टर की सलाह से उपयोग करने पर डॉक्टर आपकी शरीर की संरचना के अनुसार दवा के प्रयोग विधि तथा दवा की मात्रा निर्धारित करती है।

जो कि आपके शरीर के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही आवश्यक होता है सुरक्षित अबॉर्शन करने के लिए दवा को सही मात्रा व सही समय पर उपयोग करना बहुत ही आवश्यक होता है  इसका प्रयोग दवा के साथ दी गई निर्देश पुस्तिका के अनुसार भी कर सकती हैं किंतु यह खतरनाक है इसलिए सुरक्षित अबॉर्शन के लिए डॉक्टर की सलाह तथा परामर्श आवश्यक है अतः जो महिलाएं गर्भधारण के बाद बच्चे को घर जन्म ना देकर अबॉर्शन कराना चाहती हैं उनके लिए प्रेगनेंसी रोकने की दवा सेफ अबो्र्ट किट बहुत ही उपयोगी है।

प्रेगनेंसी रोकने की दवा की जरूरत

असुरक्षित यौन संबंध बनाने के बाद कुछ महिलाएं प्रेग्नेंट होने से बचना चाहती हैं या फिर प्रेग्नेंट हो जाने के बाद  गर्भपात करना चाहती हैं जिसके लिए विभिन्न प्रकार की garbhnirodhak tablet का प्रयोग किया जाता है गर्भनिरोधक दवाओं का प्रयोग महिलाओं को प्रेग्नेंट होने से बचाता है महिलाएं बच्चे को जब जंग नहीं देना चाहती हैं तब इन दवाओं का सेवन करते हैं बच्चे को जन्म देने के लिए विभिन्न कारण हो सकते हैं।

  • अभी बच्चे की जरूरत ना हो।
  • बच्चों के बीच में कुछ समय का अंतराल देना।
  • प्रेग्नेंसी के समय किसी  विशेष बीमारी से  ग्रसित होना।
  • असुरक्षित यौन संबंध के कारण  गर्भवती हो जाना।
  • महिला उत्पीड़न जैसे रेप का शिकार हो जाना।
  • अपने जीवन साथी के अलावा किसी अन्य पुरुष से शारीरिक संबंध बनाने के कारण प्रेग्नेंट हो जाना।
  •  अनचाहे गर्भ  से छुटकारा पाना।

गर्भपात के लिए घरेलू उपाय

भारतीय समाज में अभी कुछ ऐसी महिलाएं हैं जो उपर्युक्त गर्भपात या गर्भनिरोधक  दवाओं तक नहीं पहुंच पाते हैं बहुत सारी महिलाएं भारतीय समाज में  अब  भी  अनपढ़  हैं जिनको दवाइयों की जानकारी नहीं होती है तथा सामाजिक डर से वह ऐसी समस्याओं के लिए डॉक्टर के पास भी नहीं जा पाती हैं इसके लिए महिलाओं को कुछ घरेलू उपाय बताए जा रहे हैं जिनको करके गर्भपात या गर्भधारण बच सकते हैं किंतु ऐसे उपाय की कोई जिम्मेदारी नहीं होती है कि वह कितने प्रतिशत है असरदार होंगे ऐसे उपाय निम्नलिखित हैं

  • असुरक्षित यौन संबंध स्थापित करने के  बाद 1500 एमजी  विटामिन सी का प्रयोग नियमित रूप से दिन में दो बार करना चाहिए।
  •  गर्भधारण से बचने के लिए नियमित रूप से पपीते का सेवन करना चाहिए।
  •  गर्भधारण से बचने के लिए संभोग के बाद दो से तीन टुकड़े अंजीर के खाने चाहिए।
  •  यदि आप गर्भधारण से बचना चाहती हैं तो असुरक्षित यौन संबंध के बाद नियमित रूप से आंवले का सेवन करना चाहिए। 
  • गर्भधारण से बचने के लिए असुरक्षित यौन संबंध के  बाद  अदरक के टुकड़े को दो कप पानी में उबालना चाहिए जब एक कप पानी बच्चे तो पानी को ठंडा करके दिन में दो बार उपयोग करना चाहिए।
  • नीम की पत्तियां का प्रयोग गर्भधारण से बचाता है नीम की पत्तियां के नियमित सेवन से अंडाशय मैं शुक्राणु पहुंचने पाते हैं इससे गर्भधारण की संभावना खत्म हो जाती है। 
  • नियमित रूप से संतरे का सेवन करना चाहिए इसमें विटामिन से बहुत अधिक मात्रा में होता है जो गर्भपात में सहायक होता है।
  • गर्भधारण से बचने के लिए सेक्स के समय नियमित रूप से कंडोम का इस्तेमाल करना चाहिए यह सबसे असरदार गर्भनिरोधक युक्ति है।

महिलाओं में पर्याप्त जानकारी ना होने के कारण जनसंख्या में लगातार वृद्धि होती जा रही है क्योंकि कभी-कभी महिलाएं ना चाहते हुए भी प्रेग्नेंट हो जाती हैं और उनको बच्चे को जन्म देना पड़ता है ऐसी स्थिति में यदि महिलाओं में गर्भनिरोधक तरीकों की जागरूकता फैलाई जाए तो इससे महिलाएं अनचाहे गर्भ से छुटकारा पा जाएंगी इसके साथ साथ जनसंख्या वृद्धि पर भी रोक लगेगी उपर्युक्त दवाओं का प्रयोग करें महिलाए अनचाहे गर्भ से बच सकती हैं इन दवाओं को 1 month pregnancy rokne ki tablet के नाम से जानते हैं आज के समय में यह दवाइयां किसी भी मेडिकल स्टोर या प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर आसानी से उपलब्ध  उपर्युक्त लेख का अध्ययन करके महिलाएं गर्भधारण से बच सकते हैं और यदि गर्भधारण हो जाता है तो गर्भपात कि सुरक्षित विधियों का उपयोग करेंगे गर्भपात भी कर सकती हैं।                                        

लोगों द्वारा पूछे गए कुछ सवाल

गलती से प्रेग्नेंट हो जाए तो क्या करें?

यदि आप असुरक्षित यौन संबंध के दौरान गलती से प्रेग्नेंट हो जाती है तो उसके लिए उपयुक्त ले में हमने विभिन्न प्रकार की दवाओं का वर्णन किया है प्रेग्नेंट होने के बाद 72 घंटों के अंदर आओ गर्भनिरोधक दवाओं का प्रयोग कर सकती है तथा गर्भ में 1 सप्ताह से 5 सप्ताह तक के लिए गर्भपात  करने वाली टेबलेट का प्रयोग डॉक्टर की सलाह के अनुसार करके गर्भधारण से मुक्ति पा सकते हैं इसके लिए प्रेगनेंसी रोकने की दवा का वर्णन उपर्युक्त लेख में दिया गया है। 

गर्भधारण से बचने के लिए कौन सा इंजेक्शन प्रयोग करना चाहिए?

 गर्भधारण से बचने के लिए कॉन्ट्रासेप्टिव इंजेक्शन  का प्रयोग डॉक्टर की सलाह से किया जा सकता है  यह इंजेक्शन गर्भधारण के लिए उत्तरदाई प्रोजेस्टेरोन हारमोंस के श्रावन  को रोक देता है जिससे गर्भधारण नहीं हो पाता है इसके लिए आपको अपने डॉक्टर से सलाह की आवश्यकता होती है वह आपके शरीर के अनुसार इंजेक्शन की मात्रा और अवधि निर्धारित करते हैं।

प्रेगनेंसी ना हो इसके लिए क्या करना चाहिए?

 प्रेगनेंसी से बचने के लिए सुरक्षित यौन संबंध को अपनाना चाहिए यौन संबंध से पहले पुरुष या महिला किसी एक को कंडोम का इस्तेमाल करना चाहिए यदि असुरक्षित यौन संबंध हो गया है और आपके प्रेग्नेंट होने के चांस है तो इसके लिए प्रेगनेंसी रोकने के लिए टेबलेट नाम का प्रयोग किया जा सकता है गर्भनिरोधक गोलियों का प्रयोग किसी महिला डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए यह आपके लिए सुरक्षित होता है।

गर्भ निरोधक टेबलेट नाम एंड प्राइस क्या है ?

उपर्युक्त लेख में हमने आपको प्रेगनेंसी रोकने के लिए टेबलेट नाम तथा उपयोग की जानकारी प्रेगनेंसी रोकने के लिए टेबलेट नाम price अलग-अलग कंपनी के अलग-अलग प्राइस होते हैं आप जिस कंपनी की टेबलेट का प्रयोग करेंगे उनके प्राइस उस कंपनी के अनुसार होते हैं इनका पता लगाने के लिए आपको किसी मेडिकल स्टोर में जाने की जरूरत पड़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.