शुक्राणु बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए | जिससे वीर्य गाढा हो जाए

आजकल के इस भाग दौड़ भरी जिंदगी के कारण हर पुरुष के स्पर्म काउंट में गिरावट आई है। यह गिरावट शरीर में कमजोरी के कारण शुक्राणु ना बनने के कारण होती है। यदि आपके शरीर में शारीरिक कमजोरी है, और शारीरिक कमजोरी के कारण आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के श्रावण में अनियमितता हो गई है, जिसके कारण आपके टेस्टिस में शुक्राणु बनना बंद हो गए या फिर शुक्राणु बनना कम हो गया है। जिसके कारण आपके वीर्य में शुक्राणुओं की कमी हो गई है। शुक्राणुओं की कमी के कारण वीर्य पतला हो जाता है, ऐसी समस्या से पीड़ित पुरुषों को अक्सर एक दूसरे या किसी डॉक्टर से अक्सर पूछते हुए पाया जाता है, कि शुक्राणु बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए इसके उत्तर में सामने वाले को यदि जानकारी होती है तो वह सही सलाह देता है, किंतु कि यदि उसको जानकारी नहीं होती है तो वह विभिन्न प्रकार की उल्टी-सीधी वस्तुओं का प्रयोग करने को बता देता है, जिसके कारण हमारे शरीर में विपरीत प्रभाव पड़ते हैं।

शुक्राणु

 शरीर में शुक्राणुओं का निर्माण टेस्टिस में होता है टेस्टिस में शुक्राणुओं का निर्माण सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन की सहायता से होता है, जो कि एक प्रकार का सेक्स हारमोंस है जिसका श्रावण शारीरिक शक्ति पर निर्धारित होता है। यदि आपकी शारीरिक शब्द अच्छी है तो आपके स्टेटस में सामान्य रूप से  टेस्टोस्टरॉन हार्मोन का स्राव होता रहता है और आपके टेस्टिस में शुक्राणु का निर्माण होता रहता है, और यदि किसी कारण से आपके शरीर में कमजोरी आ जाती है तो हार्मोन का स्राव बंद हो जाता है, जिसके कारण शुक्राणु निर्माण में प्रभाव पड़ता है।

Read Also : पतंजलि में नामर्दी की दवा | ज्यादा देर तक करें संभोग

शुक्राणु क्या है? 

शुक्राणु पुरुष के वीर्य में पाए जाने  वाली कोशिकाएं होती हैं जो  मादा के अंड कोशिकाओं के साथ निषेचित होकर भ्रूण का निर्माण करते हैं। जिसके पश्चात एक शिशु का जन्म होता है अर्थात माता को गर्भवती बनाने के लिए पुरुष इस पर मुंह में उपस्थित शुक्राणु की आवश्यकता होती है जिसके कारण महिला गर्भवती होती है, इसलिए किसी बच्चे को जन्म देने के लिए महिलाओं में पुरुषों के शुक्राणु की आवश्यकता होती है।

शुक्राणु क्या

 पुरुष वीर्य में शुक्राणु पाया जाता है जिसका निर्माण पुरुषों के टेस्टिस में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की सहायता से होता है, जो प्रोटीन से बना होता है। शुक्राणु शारीरिक रूप से तीन भागों में बटा होता है, जिसे हेड, नेक तथा टेल कहते हैं। यह संभोग क्रिया के समय पुरुष लिंग से स्रावित होकर महिला योनि में पहुंच जाता है, तथा योनि मार्गो से होते हुए गर्भाशय में स्थित अंडों के साथ निषेचित को कर भ्रूण का निर्माण करता है। जिससे 9 महीने पश्चात एक शिशु का जन्म होता है। 

शुक्राणु कैसे बनते है?

शुक्राणु कैसे बनते

शुक्राणु का निर्माण टेस्टोस्टेरोन हार्मोन  की सहायता से टेस्टिस में होता है  जो महिलाओं को गर्भवती करने के लिए जिम्मेदार होता है। शुक्राणु का उत्पादन वृषण में होता है और इसे परिपक्व होने में 72 दिन का समय लगता है. उसके बाद परिपक्व शुक्राणु गतिशीलता प्राप्त करने के लिए वृषण से अधिवृषण (एपिडिडमिस) में चला जाता है और 10 दिनों के बाद यह अगले संभोग में बाहर निकलने के लिए तैयार होता है तथा सेक्स क्रिया के समय यह योनि मार्ग से तैर कर महिलाओं की गर्भाशय में पहुंच जाता है।

क्या खाने से स्पर्म ज्यादा बनता है?

क्या खाने से स्पर्म ज्यादा बनता

पुरुषों में स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए शारीरिक शक्ति प्रदान करने वाले विभिन्न प्रकार के फलों तथा खाद्य पदार्थों का प्रयोग किया जाता है  जिनके द्वारा शारीरिक शक्ति का विकास होता है। फल तथा हरी सब्जियों के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के ऐसे खाद्य पदार्थों का प्रयोग किया जाता है, जो टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्राव को बढ़ा देते हैं, टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के श्रावण के कारण टेस्टिस में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ने लगती है क्योंकि उस समय शुक्राणु सबसे अधिक मात्रा में बन रहे होते हैं। 

See Also : यूरिक एसिड की रामबाण दवा पतंजलि | फैटी लिवर का आयुर्वेदिक इलाज

  • दूध 
  • दही 
  • छाछ 
  • देसी घी 
  • मक्खन  
  • गन्ने का रस  
  • कच्चा नारियल 
  • नारियल पानी
  • अनार
  • कद्दू
  • टमाटर
  • डार्क चॉकलेट
  • अंडा 
  • केला
  • लहसुन

अगर आप इन सभी चीजों का सेवन करते हैं तो आप को अपने वीर्य को गाढ़ा करने और स्पर्म काउंट को बढ़ाने में मदद मिलेगी  आप को काला चना , चने की दाल और साथ ही खाने वाला चना और हरा चना अवश्य खाना चाहिए। उपरोक्त बताए गए सभी खाद्य पदार्थों का प्रयोग करने से पुरुषों में शुक्राणु निर्माण तेजी से होता है, साथ ही साथ शुक्राणु निर्माण के कारण वीर्य गाढ़ा हो जाता है। जिसके कारण पुरुषों में प्रजनन क्षमता बढ़ जाती है तथा शीघ्रपतन और  शीघ्र स्खलन जैसी समस्याएं नहीं होती हैं। 

शुक्राणु को मोटा और मजबूत कैसे बनाएं?

यदि आपके वीर्य में पर्याप्त मात्रा में शुक्राणु बन रहे हैं तो उनको मोटा तथा स्वस्थ बनाने के लिए आपको प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिसके सेवन से पुरुषों के हार्मोन टेस्टोस्टरॉन का श्रावण बढ़ जाता है। जिसके कारण पुरुषों के टेस्ट इसमें और तेजी से शुक्राणुओं का निर्माण होता है। यदि आप दैनिक रूप से स्वस्थ और पौष्टिक खाद्य पदार्थ का सेवन करेंगे तो इससे आपके  शुक्राणु मोटे तथा स्वस्थ रहेंगे तथा आप को ध्यान रखना होगा कि अधिक मात्रा में सेक्स ना करें तथा हस्तमैथुन जैसे क्रिया से दूर रहें इनके द्वारा शुक्राणु का नाश होता है और शुक्राणु मोटे नहीं हो पाते हैं बाल बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से फल तथा हरी सब्जियों के साथ-साथ छिलके युक्त अनाजों का प्रयोग करना चाहिए।

पुरुषों के वीर्य में शुक्राणु कम होने के क्या कारण हैं?

पुरुषों के शरीर में शुक्राणुओं की कमी के कारण वीर्य पतला हो जाता है जिससे विभिन्न प्रकार की प्रजनन  समस्याएंहो जाती हैं पुरुषों के शुक्राणु में कमी होने के कारण वीर्य पतला हो जाता है, तथा पुरुषों की प्रजनन क्षमता कम हो जाती है। जिसके कारण विभिन्न प्रकार की समस्याएं हो जाती हैं पुरुषों के शरीर में शुक्राणु की कमी होने के विभिन्न कारण हो सकते हैं। कम शुक्राणुओं की संख्या का मतलब है कि एक संभोग के दौरान पुरुष के वीर्य में सामान्य से कम शुक्राणु होते हैं। पुरुष बांझपन आमतौर पर शुक्राणुजनन यानी स्पर्मेटोजेनेसिस की समस्याओं के कारण होता है। इसके अलावा व्यस्त जीवनशैली, धुम्रपान और शराब का सेवन करने के साथ और भी कई चीजें हैं, जो मेल इंफर्टिलिटी के लिए जिम्मेदार हैं। कुछ कारण निम्नलिखित हैं जिनके द्वारा शुक्राणुओं की कमी हो जाती है।

  • शारीरिक कमजोरी।
  • शरीर में हार्मोन का असंतुलन।
  • मूत्र मार्ग में किसी प्रकार का संक्रमण।
  • शुक्र वाहिनियों में दोस ।
  • अत्यधिक हस्तमैथुन के कारण।
  •  मानसिक तनाव।
  •  नींद की कमी।
  •  किसी विशेष बीमारी से ग्रसित।
  • धूम्रपान तथा अल्कोहल का अधिक मात्रा में प्रयोग।
  • कुपोषण का शिकार।

शुक्राणु बढ़ाने की दवा क्या है?

पतंजलि का शिलाजीत कैप्सूल

पुरुषों में शुक्राणुओं की कमी के कारण विभिन्न प्रकार की शारीरिक समस्या उत्पन्न हो जाती है जिनके कारण प्रजनन क्षमता कमजोर हो जाती है, तथा सेक्स परफॉर्मेंस खराब हो जाता है। जिसके चलते जीवन में विभिन्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं। इन सब से बचने के लिए आज हम आपको कुछ आयुर्वेदिक औषधियां बताएंगे जिनका निर्माण पतंजलि आयुर्वेदा द्वारा किया जो कि हमारे शरीर में शारीरिक शक्ति का विकास करते हैं। जिससे हमारे शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव बढ़ जाता है इसके कारण हमारे टेस्टिस शुक्राणु निर्माण की गति बढ़ जाती है और हमारे टेस्टिस में शुक्राणु की संख्या बढ़ने लगती है शुक्राणु की संख्या बढ़ने के कारण पतले वीर्य की समस्या से राहत नहीं तथा शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन जैसी बीमारियां नहीं होती हैं शुक्राणु बढ़ाने के लिए निम्नलिखित दवाओं का प्रयोग करना चाहिए जो पूर्ण रूप से  आयुर्वेदिक हैं।

Read Also : शिलाजीत कैप्सूल खाने के फायदे और नुकसान

  • पतंजलि का शिलाजीत कैप्सूल
  • पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल
  • पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल
  • दिव्य शतावर वटी
  • पतंजलि मूसली पाक
  • श्वेत मूसली चूर्ण
  • दिव्य गिलोय घनवटी

शुक्राणु की कमी से कौन सी बीमारी होती है?

शुक्राणु की कमी की वजह से वीर्य पतला हो जाता है जिसे कारण विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याएं होने लगती हैं जिनसे हमारा जीवन प्रभावित होता है इन समस्याओं से बचने के लिए उपरोक्त बताए गए विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों तथा आयुर्वेदिक दवाओं का प्रयोग करना चाहिए शुक्राणु की कमी से निम्नलिखित बीमारियां हो जाती हैं।

  • शीघ्रपतन
  • बांझपन
  • लिंग में पतलापन
  • कामेच्छा में कमी
  • शारीरिक कमजोरी
  • प्रजनन क्षमता में कमी
  • वीर्य में पतलापन 

शुक्राणु बढ़ाने के लिए दैनिक दिनचर्या में ब्रेकफास्ट लंच तथा डिनर के लिए क्या खाएं?

शुक्राणु बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से लेने वाले भोजन को एक टाइम टेबल के हिसाब से लेना चाहिए नियमित रूप से किस खाद्य पदार्थ हो कितने समय लेना है, इसकी एक सारणी बनानी चाहिए तथा सुबह दोपहर व शाम को अलग-अलग भोजन ग्रहण करना चाहिए। जिससे शरीर को पर्याप्त पोषण मिलता रहे और शरीर को पर्याप्त पोषण मिलने के कारण शारीरिक शक्ति का विकास होता है जिससे शुक्राणुओं की संख्या बढ़ती है।

 शुक्राणु बढ़ाने के लिए ब्रेकफास्ट

दुकान बढ़ाने के लिए हेल्दी ब्रेकफास्ट की जरूरत होती है शुक्राणु बढ़ाने के लिए शारीरिक शक्ति बढ़ाने की आवश्यकता होती है शारीरिक शब्द का बढ़ाने के लिए हमारा ब्रेकफास्ट सुबह 8:30 पर हो जाना चाहिए। जिसमें हमें दलिया, चना, मिल्क शेक, स्प्राउट्स, ब्रेडऑमलेट, आदि को शामिल करना चाहिए इनके साथ साथ दैनिक रूप से एक गिलास ताजे फलों का जूस का प्रयोग करना चाहिए।

निष्कर्ष

आज के समय में हर व्यक्ति को विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याएं होती है क्योंकि परिवर्तित समय में वातावरण इतना परिवर्तित  हो गया है, कि प्रत्येक खाद्य पदार्थ में मिलावट होने लगी है तथा प्राकृतिक रूप से तैयार होने वाले खाद्य पदार्थों में विभिन्न प्रकार की औषधियां तथा कीटनाशक फर्टिलाइजर का प्रयोग किया जाता है, जिन से आंतरिक रूप से होगी प्रदूषित हो गए है। इसलिए प्राकृतिक तथा  कृतिम रूप से तैयार कोई भी  खाद्य पदार्थ शुद्ध नहीं रह गया है। इस कारण शरीर को पर्याप्त पोषण ना मिलने के कारण शरीर में हारमोंस तथा शुक्राणुओं की कमी हो गई जिनके कारण हमारा वीर्य पतला हो जाता है, और विभिन्न प्रकार की समस्याएं  होने लगती हैं। अक्सर लोगों को पूछते हुए देखा जाता है कि शुक्राणु बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए इन सभी प्रश्नों के उत्तर उपरोक्त लेख में दिए गए हैं जिनकी सहायता से दिए गए लेख का अध्ययन करके तथा बताई गई नियम के अनुसार आप अपने  शुक्राणु को बढ़ा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.