7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे

 किसी व्यक्ति की लंबाई उसकी पर्सनालिटी पर बहुत बड़ा प्रभाव डालती है। जो व्यक्ति कद से लंबे तथा शरीर से स्वस्थ होते हैं। समाज में उनके प्रतिष्ठा तथा सम्मान होता है। इसी के विपरीत यदि कोई व्यक्ति अपने कद से छोटा है, तो उसका सम्मान समाज में कम होता है चाहे वह कितना भी प्रतिभाशाली क्यों ना हो इन सब विसंगतियों के कारण छोटे व्यक्ति की मानसिक दशा खराब हो जाती है। उसके दिमाग में विचार हो जाता है कि छोटे कद होने के कारण उसका सम्मान नहीं हो रहा है, वही दूसरे व्यक्तियों की उससे कम  प्रतिभाशाली हैं उनका सम्मान तथा उनके पर्सनैलिटी के कारण लोगों का व्यवहार  अलग दिखाई दे रहा है। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको 7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे की जानकारी देंगे जिसकी सहायता से आप अपने लंबाई को बढ़ा सकते हैं।

लंबाई कम होने के कारण

2010 के एक सर्वे की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय पुरुषों की औसत लंबाई 5.6 फीट और महिलाओं की लंबाई 5 फीट थी। पुरुषों की औसत लंबाई अब बढ़ाकर 5.8 फीट और महिलाओं की 5.3 फीट कर दी गई है। तथा भारत का सबसे लंबा आदमी-

8 फिट 11 इंच का धर्मेंद्र प्रताप सिंह प्रतापगढ़ जिले के नरहरपुर कसियाही गांव का निवासी है इस प्रकार अनुमान लगाया जा सकता है, कि 5 फीट से छोटे व्यक्तियों की लंबाई बहुत ही कम होती है। उनको लंबाई बढ़ाने की जरूरत होती है। लंबाई एक निश्चित समय के अंतराल बढ़ना बंद हो जाती है  किंतु कुछ दवाओं का प्रयोग यदि किया जाता है तो लंबा

ई को और अधिक बढ़ाया जा सकता है।

लंबाई कम होने के कारण

लंबाई कम होने के कारण

व्यक्तियों की लंबाई ना बढ़ने के विभिन्न प्रकार के कारण हो सकते हैं। जिनमें कुछ कारण उनके अनुवांशिक तथा कुछ भौतिक कारण होते हैं। भौतिक कारणों के साथ-साथ व्यक्ति की रहन, सहन, खाना, पानी आदि पर भी लंबाई निर्धारित होती है। जो व्यक्ति बचपन में जितना अधिक एक्टिव हुआ भरपूर पोषक आहार लेता है, उसकी लंबाई अधिक हो जाती है। इसी के विपरीत जो व्यक्ति विभिन्न प्रकार के बीमारियों से ग्रस्त रहते हैं, तथा पोषक पदार्थों का प्रयोग खाद्य पदार्थों के रूप में नहीं करते हैं, उनकी लंबाई कम रह जाती है। लंबाई कम हो रहने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं।

  • अनुवांशिक कारण
  • लिंग
  • पर्यावरण की स्थिति 
  • संतुलित आहार न लेना
  • पर्याप्त नींद नहीं लेना
  • खेल-कूद न करना
  • उम्र 

ज्यादातर उम्र 18 से 20 वर्ष तक ही बढ़ती है, उसके बाद उम्र का बढ़ने के साथ लंबाई बढ़ना बंद हो जाती है। लंबाई बढ़ाने के लिए ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन जिम्मेदार होता है, जोकि थायराइड ग्रंथि में से स्रावित होता है। जिन व्यक्तियों में थायराइड ग्रंथि से एवं ग्रोथ हार्मोन निकलना बंद हो जाता है उनकी लंबाई बढ़ना बंद हो जाती है। थायराइड ग्रंथि से ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन के स्राव इतना होने के विभिन्न कारण हो सकते हैं यह कुछ कारण उपर्युक्त दिए गए हैं, जिनकी वजह से हारमोंस का श्रावण बंद हो जाता है जिसके फलस्वरूप व्यक्तियों में लंबाई बढ़ना बंद हो जाती है। जिन व्यक्तियों में हारमोंस का श्रवण बहुत जल्दी रुक जाता है, उनकी लंबाई बहुत कम रह जाती है। इस कारण उनकी लंबाई बढ़ नहीं पाती है और वह कम  लंबाई का शिकार हो जाते हैं।

7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे – उपचार

व्यक्तियों में लंबाइ विभिन्न कारणों से नहीं बढ़ती है इसके कारण उनके मन में विभिन्न प्रकार की चिंताएं हो जाती हैं, और अपनी कम लंबाई को लेकर उनके दिमाग में कुंठा बस जाती है। जिसकी वजह से वह विभिन्न प्रकार की मानसिक समस्याओं का शिकार हो जाते हैं। इन सब से बचने के लिए हमें कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों तथा वहां व्यायाम करना चाहिए जिससे लंबाई बढ़ाने वाले हार्मोन एचडी एच ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन का स्त्राव होता रहे और लंबाई सामान्य अवस्था तक बढ़ती रहे इसके लिए हमें संतुलित आहार तथा उचित रहन सहन का प्रबंध करना चाहिए। लंबाई बढ़ाने के लिए निम्नलिखित प्रकार की औषधियों का प्रयोग किया जा सकता है।

  • पतंजलि आयुर्वेद द्वारा लंबाई बढ़ाने की दवा।
  • लंबाई बढ़ाने की अंग्रेजी दवाइयां।
  • लंबाई बढ़ाने की आयुर्वेदिक औषधियां।
  • घरेलू विधियों द्वारा लंबाई बढ़ाने की दवा।
  • नियमित व्यायाम करने से बढ़ सकती है लंबाई। 

 पतंजलि आयुर्वेद द्वारा लंबाई बढ़ाने की दवा

भारतीय आयुर्वेद ने भिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण किया है। आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति भारतीय चिकित्सा पद्धति सबसे प्राचीन चिकित्सा पद्धति है। जिसके द्वारा आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों सभी प्रकार की बीमारियों का इलाज किया जाता है। पतंजलि आयुर्वेद में प्राचीन आयुर्वेद का अध्ययन करके सभी प्रकार की बीमारी के लिए पतंजलि आयुर्वेदिक दवाओं  का निर्माण किया है। सभी प्रकार की बीमारियों के साथ-साथ पतंजलि आयुर्वेद मैं लंबाई बढ़ाने की दवा का भी निर्माण किया है। जिन्हें हाइट बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा कहा जाता है। यह दवाइयां निम्नलिखित हैं

  • अश्वगंधा
  • दिव्य शतावरी
  • पतंजलि शिलाजीत
  • कैशोर गुग्गुल पतंजलि

दिव्य अश्वगंधा

दिव्य अश्वगंधा

दिव्या अश्वगंधा का प्रयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है, जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी के कारण उनकी लंबाई नहीं बढ़ पाती है, उनके लिए दिव्या अश्वगंधा लंबाई बढ़ाने का रामबाण इलाज है। अश्वगंधा प्रकाश में पाया जाने वाला एक आयुर्वेदिक पौधा होता है जिसकी जड़ों से घोड़े जैसी गंध आती है इसीलिए इसे अश्वगंधा कहा जाता है। अश्वगंधा शरीर के विभिन्न प्रकार की कमियों को दूर करके शरीर में शक्ति प्रदान करता है। जिससे शरीर में पोषक पदार्थों की पूर्ति होती है और शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व प्राप्त होते हैं जिससे शरीर की लंबाई बढ़ जाती है। 

पतंजलि दिव्य अश्वगंधा के फायदे

  • पतंजलि दिव्य अश्वगंधा height badhane ki dawa है जिसका प्रयोग शीघ्र लम्बाई बढ़ाने के लिए किया जाता है। 
  • पतंजलि दिव्य अश्वगंधा का प्रयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • पतंजलि दिव्य अश्वगंधा का प्रयोग तनाव दूर करने के लिए किया जाता है।
  • पतंजलि दिव्य अश्वगंधा का प्रयोग डायबिटीज को दूर करने के लिए भी किया जाता है।
  • ब्लड शुगर को दूर करने के लिए पतंजलि दिव्य अश्वगंधा  का प्रयोग किया जाता है। 

दिव्य शतावरी

दिव्य शतावरी

दिव्य शतावरी का प्रयोग 7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे के रूप में किया जाता है। शतावरी का प्रयोग शरीर में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों को पूर्ण करने के लिए किया जाता है, यदि आप को  पेट से संबंधित समस्या है, तो शहद के साथ शतावरी का सेवन सुबह सुबह खाली पेट करना चाहिए। इससे दस्त जैसी समस्या से भी छुटकारा मिलता है।  शतावरी चूर्ण का नियमित सेवन करने से शरीर में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों की कमी की पूर्ति होती है। जिससे शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व प्राप्त होते हैं शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व मिलने के कारण थायराइड ग्रंथि से ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन का श्रावण होता रहता है। जिसके कारण व्यक्तियों में पर्याप्त लंबाई हो जाती है, फिर व्यक्तियों  की लंबाई कम होती है उनको दैनिक रूप से दिव्य शतावरी चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए। शतावर चूर्ण के साथ साथ दिव्य  शतावरी वटी का प्रयोग भी किया जा सकता है। दिव्य शतावर वटी  तथा चूर्ण में प्राकृतिक एन्टी ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं।

आयुर्वेदिक औषधियों से भरपूर होता है अश्वगंधा,शतावर और सफेद मूसली आपको कई खतरनाक बीमारियों से निजात दिला सकता है, और साथ ही ये आपकी लंबाई बढ़ाने में मदद करता है। इसे आप दूध के साथ रोत को सोने से पहले लें और आप चाहें तो मिल्कशेक में डालकर पी इसे पी सकते हैं।

दिव्य शतावरी के प्रयोग तथा फायदे

  • दिव्य शतावरी चूर्ण का प्रयोग हाइट बढ़ाने की दवा के रूप में किया जाता है। 
  • दिव्य शतावरी चूर्ण का प्रयोग पेट के पाचन तथा आंतों की सूजन को ठीक करने के लिए भी किया जाता है।
  • शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए दिव्यता वटी का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुष तथा महिलाओं में प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए दिव्य शतावरी चूर्ण  का प्रयोग किया जाता है।
  • दिव्य शतावर वटी का प्रयोग योनी को टाइट करने की दवा के लिए किया जाता है।

पतंजलि शिलाजीत

टाइम बढ़ाने की मेडिसिन पतंजलि

पतंजलि शिलाजीत का प्रयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है। शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए पतंजलि शिलाजीत का प्रयोग किया जाता है। जब शरीर में विभिन्न प्रकार की पोषक तत्वों की कमी नहीं होती है, तो थायराइड ग्लैंड से ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन का श्रावण होता रहता है, जिससे  व्यक्तियों की लंबाई काफी समय तक बढ़ती रहती है।सैक्स पावर बढाने के मेडिसिन के रूपमें इसका इस्तेमाल किया जाता है लंबे समय तक लंबाई बढ़ने के कारण जिन व्यक्तियों में हारमोंस प्रसारण होता रहता है उनकी लंबाई पर्याप्त मात्रा में बढ़ जाती है, जिससे उनको कम लंबाई का सामना नहीं करना पड़ता है। जिन व्यक्तियों की लंबाई कम होती है उनको दैनिक रूप से पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए। जिससे कुछ समय बाद थायराइड ग्रंथि एक्टिव हो जाती है, और उससे ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन का स्राव होने लगता है और लंबाई बढ़ने शुरू हो जाती है।

 दिव्य पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के फायदे

  • पतंजलि दिव्य शिलाजीत का प्रयोग 7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे  के रूप में किया जाता है।
  • जिन व्यक्तियों की लंबाई बढ़ाना समय से पहले कम हो जाती है  उनको दैनिक रूप से पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए।
  • शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का प्रयोग किया जाता है।
  • विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याओं को दूर करने के लिए पतंजलि शिलाजीत।
  • पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का प्रयोग शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए भी किया जाता है।

पतंजलि कैशोर गुग्गुल

पतंजलि कैशोर गुग्गुल

पतंजलि कैशोर गुग्गुल का प्रयोग छोटी लंबाई के व्यक्तियों द्वारा लंबाई को बढ़ाने के लिए किया जाता है। कैशोर गुग्गुल एक आयुर्वेदिक औषधि है, जो कि बहुत सारे गुणों से भरपूर हैं। कैसर गूगल शरीर में रक्त और वात दोष से उत्पन्न सभी समस्याओं को यह ओषधि समाप्त करती हैं। रक्त और वायु विकार से उत्पन्न बीमारियां जैसे कि त्वचा के रोग, कुष्ठ रोग, वात रक्त, गुल्म, कुष्ठ, शोथ आदि रोगों से पीड़ित व्यक्ति को इस वटी का सेवन अवश्य करना चाहिए।अगर आपको पथरी की समस्या है पथरी तोड़ने की अच्छीआयुर्वेदिक दवा  माना जाता है इसका इस्तेमाल करके आप पथरी की समस्या से  भी छुटकारा पा सकते हैं शरीर में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों की कमी की पूर्ति होने पर शारीरिक लंबाई काफी समय तक बढ़ती रहती है जिसके कारण छोटी लंबाई के व्यक्तियों में ज्यादा लंबाई हो जाती है, जिससे उनको छोटी लंबाई की समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता है। इन सबके अलावा भी यह उदर रोग, घाव, खांसी, मंद पाचन अग्नि आदि जैसे रोगों का नाश भी इस औषधि के सेवन से किया जा सकता है। इसे यूरिक एसिड की रामबाण दवा माना जाता है, कैशोर गुग्गुल का सेवन करने से शरीर में उपस्थित आमविष का भी नाश होता है तथा यह वात पित्त कफ का संतुलन भी करती हैं। जिन व्यक्तियों में कम लंबाई की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से पतंजलि कैशोर गुग्गुल का प्रयोग  करना चाहिए।

पतंजलि कैशोर गुग्गुल  के प्रयोग तथा फायदे

  • पतंजलि कैशोर गुग्गुल का प्रयोग छोटी लंबाई को बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए पतंजलि कैशोर गुग्गुल  का प्रयोग किया जाता है।
  • पतंजलि कैशोर गुग्गुल का  प्रयोग कुष्ठ रोग को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • पतंजलि कैशोर गुग्गुल का प्रयोग गठिया के दर्द को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • जिन व्यक्तियों में वात की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से  पतंजलि कैशोर गुग्गुल  का प्रयोग करना चाहिए।

 लंबाई बढ़ाने की अंग्रेजी दवाइयां

आज के समय में छोटे कद की लंबाई की समस्या लगभग बहुत ज्यादा मात्रा में पाई जा रहे हैं, क्योंकि प्रदूषित वातावरण होने के कारण शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं। जिससे शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। जिसके कारण समय से पहले विभिन्न प्रकार के हार्मोन को जैसे ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन का श्रावण रुक जाता है, जिसके फलस्वरूप लंबाई में कम हो जाती है। लंबाई बढ़ाने के लिए आज हम आपको अंग्रेजी हाइट बढ़ाने की दवा की जानकारी देंगे जिनके प्रयोग से छोटी हाइट को बढ़ाया जा सकता है।  7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे व अंग्रेजी दवाइयां निम्नलिखित हैं।

  • Bio grow syrup
  • Complain powder
  • Protin x powder
  • jointace-dn-tablet

लंबाई बढ़ाने की दवा Bio grow syrup

Bio grow syrup

बच्चों में रुकी हुई सॉरी भी ग्रोथ को बढ़ाने के लिए Bio grow syrup  का प्रयोग किया जाता है।  जिन बच्चों की लंबाई तथा शारीरिक ग्रोथ समय से पहले रुक जाती है। उनको शारीरिक पोषक तत्वों की पूर्ति करने के लिए Bio grow syrup  का प्रयोग कराया जाता है, जिससे बच्चों में रुके हुए शारीरिक ग्रोथ पुनः होने लगती है, जिन बच्चों की लंबाई उम्र के साथ-साथ बढ़ नहीं पाती है, उनको Bio grow syrup  का प्रयोग कराया जाता है। जिससे उनके शरीर को पर्याप्त पोषक मिलता है, और शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से मुक्त रहता है। शरीर को पर्याप्त पोषण मिलने के कारण शरीर में पर्याप्त समय तक ग्रोथ होती रहती ह, जिससे छोटी लंबाई की समस्या समाप्त हो जाती है। जिन बच्चों में छोटी लंबाई की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से Bio grow syrup  कराना चाहिए यह बच्चों को शारीरिक शक्ति तथा पाचन संबंधित पेट की विभिन्न समस्याओं से आराम देती है। 

height badhane ki dawa Complain powder 

Complain powder का प्रयोग लंबाई बढ़ाने के लिए किया जाता है। कंप्लेन पाउडर में आयरन आयोडीन विटामिन B12 तथा विटामिन ए, विटामिन इ, विटामिन सी आदि उपस्थित होते हैं, जो शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करते हैं, शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के साथ-साथ यह ब्रेन पावर को भी बढ़ाते हैं। कंप्लेन पाउडर का प्रयोग करने से शरीर में सभी प्रकार के पोषक तत्वों की पूर्ति होती है, जो शरीर के लिए जरूरी होते हैं जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति होने के कारण शरीर अपनी ग्रोथ करता रहता है। जिन व्यक्तियों में बच्चों में छोटी लंबाई की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से कंप्लेन पाउडर का प्रयोग दूध के साथ करना चाहिए। कंप्लेन पाउडर 7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे के रूप में प्रयोग किया जाता है।

Complain powder

कंप्लेन पाउडर चॉकलेट तथा कॉफी वैनिला फ्लेवर में उपलब्ध होता है। जिसके कारण यह और भी स्वादिष्ट होता है। रुकी हुई लंबाई को बढ़ाने के लिए कंप्लेन पाउडर का प्रयोग नियमित रूप से करना चाहिए, जिससे लंबाई के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के रोगों से शरीर स्वस्थ रहता है, तथा ब्रेन पावर भी  बढ़ती है।

Protinex powder se  height kaise badhaye

Protinex powder का प्रयोग रुकी हुई शारीरिक ग्रोथ को बढ़ाने के लिए किया जाता है। जिन व्यक्तियों या बच्चों में शारीरिक ग्रोथ समय से पहले  रुक जाती है, जिससे उनकी लंबाई बढ़ने नहीं पाती है लंबाई ना बढ़ने के कारण समाज में उनको विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है, तथा विभिन्न स्थानों पर शर्मिंदगी का अहसास होता है। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए Protinex powder  का प्रयोग लंबाई बढ़ाने के लिए किया जाता है। लंबाई के साथ-साथ Protinex powder से शारीरिक कमजोरी को भी दूर किया जा सकता है।

Protinex powder

प्रोटीनेक्स पाउडर को वजन बढ़ाने तथा विभिन्न प्रकार के रोगों की सुरक्षा करने के लिए किया जाता है, जिन व्यक्तियों तथा बच्चों में कम लंबाई की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से प्रोटीनेक्स पाउडर का प्रयोग करना चाहिए ।

प्रोटीनेक्स पाउडर भूख को बढ़ाता है, जिससे जिससे शरीर में खाद्य पदार्थों की पूर्ति होती रहती है, और सभी पोषक तत्व शरीर को प्राप्त होते रहते हैं। प्रोटीनेक्स पाउडर का प्रयोग शरीर में शरीर में लंबाई के साथ-साथ वजन बढ़ाने के लिए किया जाता है, अर्थात इसका प्रयोग वेट ग्रोथ मसल पाउडर के रूप में किया जाता है। 

Jointace-dn-tablet

jointace-dn-tablet का प्रयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है शारीरिक कमजोरी होने के कारण जिन व्यक्तियों में शारीरिक ग्रोथ रुक जाती है जिसके कारण उनके लंबाई में होने वाले वध समय से पहले ही रुक जाती है। इन सब समस्याओं को दूर करने के लिए  विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक तथा औषधीय तत्वों के मिश्रण से jointace-dn-tablet का निर्माण किया जाता है जो शरीर में रुकी हुई वृद्धि को बढ़ाने का काम करता है।  जिन व्यक्तियों तथा बच्चों में शारीरिक कुपोषण के कारण लंबाई में वृद्धि नहीं हो पाती है उनको दैनिक रूप से jointace-dn-tablet  टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए जिससे शरीर को पर्याप्त पोषण  मिल सके जिससे शरीर की लंबाई पर्याप्त मात्रा में बढ़ सके। 

Jointace-dn-tablet

इस दवा का उपयोग कार्टिलेज और जॉइंट के हेल्थ को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है। यह उन पदार्थों से बना है जिनका उपयोग मानव शरीर कार्टिलेज बनाने के लिए कर सकता है। यह टैबलेट जॉइंट की रिपेयर में मदद करता है। आपको सलाह दी जाती है, कि यदि आप गर्भवती हैं तो इस दवा का उपयोग करने से बचें। 7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे के रूप में jointace-dn-tablet का प्रयोग कर सकते हैं।

See also -  पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

लंबाई बढ़ाने की आयुर्वेदिक औषधियां

आयुर्वेदिक चिकित्सा भारतीय चिकित्सा पद्धति सबसे प्राचीन चिकित्सा पद्धति है। प्राचीन काल से ही भारत में आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति द्वारा विभिन्न प्रकार की बीमारियों का इलाज किया जाता था आयुर्वेदिक पदार्थों में घरों में प्रयुक्त होने वाले विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थ शामिल होते हैं, खाद्य पदार्थों के साथ-साथ विभिन्न प्रकार की जड़ी बूटियों का प्रयोग करके सभी प्रकार की बीमारियों का इलाज सुरक्षित तरीके से किया जाता था आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति भारत की सबसे प्राचीन चिकित्सा पद्धति है। आयुर्वेदिक औषधियों से साइड इफेक्ट नहीं होता है तरीके से इलाज किया जा सकता है लंबाई बढ़ाने की आयुर्वेदिक औषधियां निम्नलिखित हैं।

  • अश्वगंधारिष्ट
  • आमलकी

अश्वगंधारिष्ट

अश्वगंधारिष्ट

अश्वगंधारिष्ट का प्रयोग मुख्य रूप से शरीर की लंबाई को बढ़ाने के लिए किया जाता है। जिन व्यक्तियों या बच्चों में पोषक तत्वों की कमी के कारण शरीर की लंबाई कम रह जाती हैं उनको दैनिक रूप से अश्वगंधारिष्ट  का प्रयोग कराया जाता है। अश्वगंधा में मौजूद ऑक्सीडेंट आपके इम्युन सिस्टम को मजबूत बनाने का काम करता है। जो आपको सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों से लडने की शक्ति प्रदान करता है। अश्वगंधा वाइट ब्लड सेल्स और रेड ब्लड सेल्स दोनों को बढ़ाने का काम करता है। जो कई गंभीर शारीरिक समस्याओं में लाभदायक है। छोटे कद के बच्चों तथा व्यक्तियों को दैनिक रूप से अश्वगंधारिष्ट का प्रयोग करना चाहिए जिससे उनमें छोटे कद की लंबाई बढ़ जाती है। और छोटे कद की लंबाई से होने वाली समस्याएं समाप्त हो जाती है।

आमलकी 

आमलकी 

आमलकी (Amalaki) आयुर्वेद में कई रोगों के इलाज में इस्तेमाल होता है। आमलकी मुख्य रूप से आंवला है, जिससे कई तरह के रसायन तैयार किए जाते हैं। ये विटामिन सी, अमीनो एसिड, पेक्टिन, टैनिन और गैलिक एसिड जैसे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है, जो कि कई संक्रामक बीमारियों से बचाव में मदद करता है। अमलाकी में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-डायबिटिक, एंटीफंगल, एंटीवायरल जैसे हीलिंग गुण भी होते हैं, जो कि पित्त को कम करने वाला है। आमलकी से आप रसायन या भी कोई चूर्ण अपने घर पर भी बना सकते हैं। इसे आंवला, पलाश, घी और शहद आदि को मिला कर बनाया जाता है।

घरेलू विधियों द्वारा लंबाई बढ़ाने की दवा

छोटी लंबाई की समस्या आज के समय में सबसे गहन शारीरिक समस्या है छोटी लंबाई होने के कारण व्यक्ति अपने आत्मसम्मान को खो देते हैं जिसके कारण हुए विभिन्न प्रकार के मानसिक समस्याओं का शिकार हो जाते हैं। छोटी लंबाई के व्यक्ति को विभिन्न स्थानों पर शर्मिंदगी का अहसास करना पड़ता है इससे बचने के लिए घरों में विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक औषधि पदार्थ उपलब्ध होते हैं जिनके प्रयोग से छोटे कद की लंबाई को बढ़ाया जा सकता है छोटे कद की लंबाई को बढ़ाने के लिए निम्नलिखित पदार्थों का प्रयोग किया जा सकता है।

  • फल
  • हरी सब्जियां
  • दूध

फल

फल

शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए प्रकृति रूप में पाए जाने वाले फलों का प्रयोग किया जाता है। फलों में प्राकृतिक रूप से सभी प्रकार के विटामिंस मिनरल्स तथा पोषक पदार्थ होते हैं जो शरीर के विभिन्न प्रकार की जरूरतों को पूरा करते हैं। जिन व्यक्तियों में पोषक तत्वों की कमी होती है उनको दैनिक रूप से लंबाई बढ़ाने के लिए फलों का प्रयोग करना चाहिए शरीर के पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए फल जैसे सेब, संतरा,  अनानास, केला, अंगूर, आम, अमरूद, अनार, आदि फलों का प्रयोग दैनिक रूप से करना चाहिए। 

हरी सब्जियां 

हरी सब्जियां 

हरी सब्जियां शरीर के पोषक तत्वों में को पूरा करती हैं। जिन बच्चों व्यक्तियों में पोषक तत्वों की कमी के कारण शरीर की ग्रोथ रुक जाती है। शरीर की रुकी ग्रोथ के कारण लंबाई पर्याप्त मात्रा में नहीं हो पाती है, पर्याप्त लंबाई ना होने के कारण छोटे कद के व्यक्तियों को विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इन सब समस्याओं को दूर करने के लिए शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए हरी सब्जियों का प्रयोग अधिक मात्रा में करना चाहिए। हरी सब्जियों में पर्याप्त मात्रा में विटामिन मिनरल्स तथा अन्य पोषक तत्व उपलब्धि रहते हैं। शरीर की लंबाई को बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से हरी सब्जियों का प्रयोग करना चाहिए।

दूध

दूध

छोटे  कद के व्यक्तियों को अपनी लंबाई बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से दूध का प्रयोग करना चाहिए। दूध ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसमें सभी प्रकार के पोषक तत्व उपलब्ध रहते हैं। इसीलिए इसे एक आदर्श खाद्य पदार्थ के रूप में जाना जाता है। दूध के साथ विभिन्न प्रकार के प्रोटीन तथा टेबलेट का प्रयोग भी किया जा सकता है। छोटे कद की समस्या को दूर करने के लिए बच्चों को बचपन से ही दूध का प्रयोग कराना चाहिए जिससे उनकी पर्याप्त शारीरिक वृद्धि हो सके।

नियमित व्यायाम करने से बढ़ सकती है लंबाई

शरीर की लंबाई को बढ़ाने के लिए नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम बहुत ही जरूरी होता है। शारीरिक व्यायाम करने से शरीर के प्रत्येक अंग एक्टिव रहता है। जिससे थायराइड ग्रंथि भी एक्टिव रहती है, थायराइड ग्रंथि से निकलने वाला ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन बराबर मात्रा में निकलता रहता है, जिससे शरीर की लंबाई बढ़ती रहती है। शरीर की लंबाई को बढ़ाने के लिए निम्नलिखित वर्णों को नियमित रूप से करना चाहिए।

  • त्रिकोणासन 
  • ताड़ासन
  • सर्वांगासन 
  • चक्रासन 
  • भुजंगासन

निष्कर्ष

मानव शरीर की लंबाई व्यक्ति के पर्सनालिटी में बहुत बड़ा इफेक्ट डालती है। जिन व्यक्तियों में शारीरिक लंबाई कम होती है, उनको विभिन्न प्रकार की समस्याओं तथा मानसिक तकलीफों का सामना करना पड़ता है। आज के उपर्युक्त लेख में हमने छोटी लंबाई के व्यक्तियों के लिए अपनी लंबाई को बढ़ाने के विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक एलोपैथिक तथा पतंजलि विधि का वर्णन किया है। उपर्युक्त लेख में 7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे की जानकारी दी गई है, जिनके प्रयोग से छोटे कद के व्यक्ति व बच्चे अपने रुकी हुई शारीरिक ग्रोथ व लंबाई को बढ़ा सकते हैं, तथा छोटी लंबाई की होने वाली समस्याओं से बचा जा सकता है।

लोगों द्वारा पूछे गए कुछ प्रश्न

छोटी  लंबाई के व्यक्ति अपनी हाइट कैसे बढ़ाए?

जिन व्यक्तियों की लंबाई सामान्य व्यक्तियों की लंबाई से छोटी होती है उनको उपर्युक्त लेख में बताए गए दवाओं तथा व्यायाम का प्रयोग दैनिक रूप से करना चाहिए उपर्युक्त लेख में विभिन्न प्रकार की लंबाई बढ़ाने की दवा का वर्णन किया गया है जिसके अध्ययन से बताई गई दवाओं का प्रयोग करते हुए आप अपने लंबाई को बढ़ा सकते हैं।

क्या लटकने से हाइट बढ़ती है?

लटकना एक प्रकार का शारीरिक व्यायाम होता है शारीरिक व्यायाम के साथ-साथ शरीर को पर्याप्त पोषक तत्वों की जरूरत होती है यदि शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व नहीं प्राप्त होते हैं तो शरीर की ग्रोथ रुक जाती है शारीरिक ग्रोथ रुकने के कारण पर्याप्त लंबाई नहीं हो पाती है इसलिए लटकने के साथ-साथ कुछ अन्य व्यायाम तथा पर्याप्त पोषक आहार लेना जरूरी होता है यदि आप व्यायाम के साथ-साथ पर्याप्त पोषक आहार लेते हैं तो आप की लंबाई बढ़ सकती है। 

क्या खाने से हाइट बढ़ती है?

शरीर को पोषक तत्व प्रदान करने वाले खाद्य पदार्थों का नियमित रूप से सेवन करना चाहिए जिनसे शरीर को विटामिंस मिनरल्स तथा अन्य शारीरिक पोषक तत्व प्राप्त हो सके जिससे शरीर को पर्याप्त पोषण मिलता रहे उपरोक्त में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों का वर्णन किया गया है जिनको पर दैनिक रूप से प्रयोग करने से हाइट बढ़ाया जा सकता है। 

हाइट बढ़ाने के लिए सुबह क्या खाना चाहिए?

शरीर की लंबाई बढ़ाने के लिए सुबह सुबह  शरीर को पोषक तत्व प्रदान करने के लिए पोषक तत्व युक्त पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिसमें दूध फल तथा हरी सब्जियां हैं हो सकता संयुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन प्रात काल करने से शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व होते हैं जो शरीर की लंबाई को बढ़ाने में मदद करते हैं उपरोक्त लेख में बताया गया पोषक तत्वों का प्रयोग करते  शरीर की लंबाई को बढ़ाया जा सकता। 

दवाओं का प्रयोग करते हुए height kaise badhaye?

उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की दवाओं तथा आयुर्वेदिक पदार्थों का प्रयोग बताया गया है जिसके अध्ययन तथा प्रयोग के बाद आप अपने लंबाई को बढ़ा सकते हैं जिन व्यक्तियों में छोटे कद की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से उपरोक्त लेख में बताया गया खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिससे वे अपने लंबाई को बढ़ा सकते हैं उपरोक्त लेख में बताया गया है सभी तरीके 7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.